Thursday, November 26, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

स्वस्थ जीवन के लिए बस करना होगा जीवनशैली में ये छोटा सा बदलाव, फिर हर दिन रहेंगे ऊर्जा से भरपूर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्वस्थ जीवन के लिए बस करना होगा जीवनशैली में ये छोटा सा बदलाव, फिर हर दिन रहेंगे ऊर्जा से भरपूर

नई दिल्ली। रोजमर्रा के व्यस्त जीवन में खुद की सेहत का ख्याल रखना हम कहीं न कहीं भूला देते हैं। मौजूदा जीवनशैली में लोग इस कदर अपने में रमे हुए हैं कि उनके पास खुद के लिए भी समय नहीं है। इस कारण आजकल लोग कम उम्र में ही कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। ऐसे में लंबी उम्र और स्वस्थ जीवन कौन नहीं चाहता। इसलिए खुद को चुस्त और सेहतमंद बनाए रखने के लिए हमें लगातार प्रयास करते रहना चाहिए। आज हम आपको एक ऐसा उपाए बताने जा रहे हैं जिसका पालन करते हुए आप लंबी उम्र और सेहतमंद जीवन जी सकते हैं।

तेज कदमों के साथ करें वॉक

अगर आप भी लंबी उम्र और सेहतमंद जीवन चाहते हैं, तो तेज गति से चलना शुरू कर दें। ऐसा करने से आप न केवल सेहतमंद रहेंगे बल्कि दिल से संबंधी बीमारियों को भी अपने से दूर रख सकते हैं।

क्या कहते हैं शोध


कई शोध में यह बात सामने आई है कि औसत गति से चलने से दिल से संबंधी बीमारियों की मृत्युदर 21 फीसदी कमी आती है, जबकि दूसरी ओर तेज गति से चलने पर मृत्युदर में 24 फीसदी तक की कमी देखी जा सकती है।

हेल्थ प्रोफेसर एमानुएल स्टामाटेकिस के अनुसार

सिडनी विश्वविद्यलय के चाल्स परकिंस सेंटर व स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ प्रोफेसर एमानुएल के मुताबिक औसत गति से चलना सभी तरह के मृत्युदर के खतरे को कम करने में सहायक होता है। हालांकि, ऐसा कोई परिणाम नहीं है कि तेजी से चलने से कैंसर की मृत्युदर पर असर करता है। यहां आपको बता दें कि तेज गति से चलना आमतौर पर 5 से 7 किलोमीटर प्रति घंटा होता है, लेकिन यह चलने वाले की फिटनेस के स्तर पर भी निर्भर करता है।

Todays Beets: