Tuesday, October 27, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

फुलक्रम दूध पिएं और अपने दिल को रखेें सेहतमंद, शोध में हुआ खुलासा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फुलक्रम दूध पिएं और अपने दिल को रखेें सेहतमंद, शोध में हुआ खुलासा

नई दिल्ली। आज के नौजवान अपने स्वास्थ्य को लेकर काफी सजग हैं। ऐसे में वे अपने खान-पान का भी खास ख्याल रखते हैं। नौजवानों का अक्सर ऐसा मानना है कि फुलक्रीम दूध से शरीर में चर्बी बढ़ जाती है, यही वजह है कि वे टोंड दूध पीने मंे ज्यादा यकीन रखते हैं। क्या आपको पता है कि फुलक्रीम दूध दिल के लिए काफी अच्छा माना गया है। 

गौरतलब है कि कनाडा के मैकमास्टर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने 21 देशों के 35 से 70 वर्ष के बीच के 1,36,384 लोगों पर अध्ययन किया गया। 9 सालों के दौरान हुए इस अध्ययन में डेयरी उत्पादों के सेवन से स्वास्थ्य पर असर की निगरानी की गई। अध्ययन के लिए प्रतिभागियों को 4 अलग-अलग श्रेणियों में विभाजित किया गया। एक में जिन्होंने डेयरी उत्पाद बिल्कुल नहीं खाया, दूसरे में जिन्होंने एक दिन में एक बार, तीसरे में एक दिन में दो बार और चैथे में एक दिन में दो बार से अधिक बार खाने वालों को रखा गया।


ये भी पढ़ें - इन प्राकृतिक उपायों को अपनाएं और मलेरिया-चिकनगुनिया को दूर भगाएं

आपको बता दें कि शोध में इस बात का खुलासा हुआ कि डेयरी उत्पाद न लेने वालों के मुकाबले जिन लोगों ने एक दिन में दो से अधिक बार डेयरी उत्पाद लिए थे, उनमें मृत्यु दर कम थी और दिल की बीमारी कार्डियोवैस्कुलर होने या स्ट्रोक का खतरा कम था। यहां गौर करने वाली बात है कि अध्ययन के नतीजे द लैंसेंट जर्नल में प्रकाशित हुए हैं। ऐसे में डेयरी उत्पादों को खाने से किसी तरह का परहेज नहीं करना चाहिए।  

Todays Beets: