Tuesday, January 21, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

फुलक्रम दूध पिएं और अपने दिल को रखेें सेहतमंद, शोध में हुआ खुलासा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फुलक्रम दूध पिएं और अपने दिल को रखेें सेहतमंद, शोध में हुआ खुलासा

नई दिल्ली। आज के नौजवान अपने स्वास्थ्य को लेकर काफी सजग हैं। ऐसे में वे अपने खान-पान का भी खास ख्याल रखते हैं। नौजवानों का अक्सर ऐसा मानना है कि फुलक्रीम दूध से शरीर में चर्बी बढ़ जाती है, यही वजह है कि वे टोंड दूध पीने मंे ज्यादा यकीन रखते हैं। क्या आपको पता है कि फुलक्रीम दूध दिल के लिए काफी अच्छा माना गया है। 

गौरतलब है कि कनाडा के मैकमास्टर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने 21 देशों के 35 से 70 वर्ष के बीच के 1,36,384 लोगों पर अध्ययन किया गया। 9 सालों के दौरान हुए इस अध्ययन में डेयरी उत्पादों के सेवन से स्वास्थ्य पर असर की निगरानी की गई। अध्ययन के लिए प्रतिभागियों को 4 अलग-अलग श्रेणियों में विभाजित किया गया। एक में जिन्होंने डेयरी उत्पाद बिल्कुल नहीं खाया, दूसरे में जिन्होंने एक दिन में एक बार, तीसरे में एक दिन में दो बार और चैथे में एक दिन में दो बार से अधिक बार खाने वालों को रखा गया।


ये भी पढ़ें - इन प्राकृतिक उपायों को अपनाएं और मलेरिया-चिकनगुनिया को दूर भगाएं

आपको बता दें कि शोध में इस बात का खुलासा हुआ कि डेयरी उत्पाद न लेने वालों के मुकाबले जिन लोगों ने एक दिन में दो से अधिक बार डेयरी उत्पाद लिए थे, उनमें मृत्यु दर कम थी और दिल की बीमारी कार्डियोवैस्कुलर होने या स्ट्रोक का खतरा कम था। यहां गौर करने वाली बात है कि अध्ययन के नतीजे द लैंसेंट जर्नल में प्रकाशित हुए हैं। ऐसे में डेयरी उत्पादों को खाने से किसी तरह का परहेज नहीं करना चाहिए।  

Todays Beets: