Wednesday, September 18, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

अपने चलने की आदतों में करें बदलाव , BP - कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल के साथ शरीर से टॉक्सिन कम करने में पाए मदद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अपने चलने की आदतों में करें बदलाव , BP - कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल के साथ शरीर से टॉक्सिन कम करने में पाए मदद

नई दिल्ली । ऑफिस में घंटों कंप्यूर के सामने बैठकर काम करने से भले ही हमारी ऑफिस में छवि बेतहर बनती है , लेकिन हमारी सेहत के लिए यह बड़ा हानिकारक है । इससे हमारी सक्रियता कम होने के साथ ही हमारी सेहत पर भी काफी असर पड़ता है । अमूमन , ऑफिस जॉब करने वाले लोगों में मोटापा, हाई बीपी, डायबिटीज और हार्ट संबंधी समस्याएं देखने में आती हैं । हालांकि लोग इन दिनों अपनी सेहत को लेकर सतर्क भी हो गए हैं,  लेकिन सही तरीके न अपनाने के चलते उनकी सतर्कता उन्हें लाभ और राहत नहीं पहुंचा पाती । ऐसे में कुछ आसान कोशिशें आपकी समस्याओं का खात्मा कर सकती हैं, वो भी सिर्फ नियमित चलने भर से ।

बता दें कि नियमित रूप से चलना ना सिर्फ स्वस्थ रखता है, जोड़ सलामत रहते हैं, बल्कि आप युवा और आकर्षक भी नजर आते हैं। शरीर में ऊर्जा का स्तर अधिक रहता है। असल में लगातार चलने से जहां आपका ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है, वहीं ऐसे लोगों को हार्ट संबंधी समस्याएं भी कम होती है। ऐसे लोगों का हार्ट और शरीर तेज हृदय गति के साथ सामंजस्य बिठाने में सक्षम होता है।

अगर बात तेज गति से चलने वाले लोगों की करें तो ऐसे लोगों के फेफड़ों की स्थिति बेहतर मांपी जाती है । ऐसे लोगों का पाचन तंत्र ठीक से कार्य करता है। इतना ही नहीं चलने से आपके शरीर मे मौजूद टॉक्सिन वाहर निकलता है । इतना ही नहीं आपकी रीढ़ का लचीलापन भी बना रहता है । वहीं चलने से शुगर का स्तर सामान्य रहता है, इंसुलिन क्षमता में सुधार होता है। वजन कम नहीं होता तो भी इसके बढ़ने की आशंका कम हो जाती है।

पैदल चलने वाले लोगों के अध्ययन में पाया गया है कि इससे उनके शरीर में खुशी का एहसास करवाने वाले हार्मोन का स्त्राव होता है, बल्कि ऐसा करने से नींद भी बेहतर आती है । वहीं तनाव भी कम होता है ।


 

 

 

 

Todays Beets: