Thursday, June 30, 2022

Breaking News

   मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, कुलगाम में बैंक मैनेजर की हत्या में शामिल था: IGP कश्मीर     ||   जालंधर: अरविंद केजरीवाल के दौरे से पहले दीवारों पर लिखे मिले खालिस्तान के सपोर्ट वाले स्लोगन     ||   पुलिस लॉरेंस बिश्नोई को लेकर मोहाली पहुंची, अज्ञात जगह हो रही पूछताछ     ||   राष्ट्रपति चुनाव: ममता बनर्जी की मीटिंग में जाएंगे मल्लिकार्जुन खड़गे और जयराम रमेश     ||   दिल्ली: कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उग्र प्रदर्शन, बैरिकेड तोड़े, टायर जलाए     ||   सुवेंदु अधिकारी समेत निलंबित भाजपा विधायकों ने पश्चिम बंगाल विधानसभा में धरना दिया     ||   18 जून को 100 साल की हो जाएंगी नरेंद्र मोदी की मां हीराबा, मिलने जाएंगे पीएम     ||    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||

क्या आप अपनी गोद में लैपटॉप रखकर करते हैं काम , तो जान लें इसके गंभीर परिणाम

अंग्वाल न्यूज डेस्क
क्या आप अपनी गोद में लैपटॉप रखकर करते हैं काम , तो जान लें इसके गंभीर परिणाम

नई दिल्ली । बदलते परिवेश में जहां आज बड़ी संख्या में लोग अपने संस्थानों में काम कंप्यूटर और लैपटॉप पर करते हैं , वहीं कोरोना काल के बाद वर्क फ्रॉम होम ने लोगों के लैपटॉप के साथ काम करने के समय में इजाफा कर दिया है । उस पर भी घरों में प्रोपर वर्किंग टेबल नहीं होने के चलते लोग अपने सोफे और अपने बैड पर बैठकर और अपने लैपटॉप को अपनी गोद में रखकर काम करते हैं । लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह स्थिति आपके स्वास्थ्य के लिए कितनी खतरनाक है । लैपटॉप के ज्यादा इस्तेमाल से आपकी रिप्रोडक्टिव हेल्थ पर असर पड़ सकता है । इतना ही नहीं लैपटॉप से निकलने वाली हीट हमारी स्किन और अंदर के टिशू डैमेज कर सकती है । इसे देर तक गोद में रखकर काम करने से पुरुषों में इंफर्टिलिटी (infertility) की समस्या भी हो सकती हैं । 

वर्क फ्रॉम होम कल्चर ने बढ़ाई मुसीबत

विदित हो कि कोरोना काल के बाद देश दुनिया में वर्क फ्रॉम होम कल्चर बढ़ा है । इससके चलते अधिकांश लोग अपने घर से लैपटॉप पर काम कर रहे हैं । घर से काम करने के चलते उनका लैपटॉप का इस्तेमाल भी बढ़ गया है । लेकिन क्या आपको पता है कि  दिन भर लैपटॉप के इस्तेमाल से शरीर में इसका बुरा असर पड़ता है । लैपटॉप से निकलने वाली हीट हमारी स्किन और अंदर के टिशू डैमेज कर सकती है । वहीं अपनी गोद में लैपटॉप रखकर काम करने से इंफर्टिलिटी (infertility) की समस्या भी हो सकती हैं । 

पुरुषों को है ज्यादा खतरा


ऐसी स्थिति में , एक बात साफ कर दें कि महिलाओं की तुलना में पुरुषों के लिए यह ज्यादा खतरनाक है । इसका कारण पुरुषों की शरीर बनावट है । महिलाओं के शरीर में यूटरस शरीर के अंदर होता है जबकि पुरुषों में टेस्टिकल शरीर के बाहरी हिस्से में होता है जिससे हीट रेडिएशन ज्यादा करीब रहती है । यही कारण है कि पुरुषों को लैपटॉप इस्तेमाल करते समय खास ख्याल रखना चाहिए । जानकारों का कहना है कि लैपटॉप से निकलने वाली हीट से पुरुषों की स्पर्म क्‍वॉलिटी (sperm quality) में गिरावट आती है । इस तरह की समस्याएं तेजी से मेट्रो शहरों में नजर भी आ रही हैं । 

वाईफाई से फैलता है रेडिएशन-

असल में लैपटॉप की हॉर्डड्राइव से लो फ्रीक्वेंसी रेडिएशन (frequency radiation) होता है , वहीं ब्लूटूथ कनेक्शन (bluetooth connection) से भी रेडिएशन बाहर होता है। इसके असर से आपको नींद न आना, सिर में तेज दर्द जैसी परेशानी हो सकती है । इतना ही नहीं लैपटॉप के इस्तेमाल के वक्त पैरों को चिपकाकर बैठते हैं जिससे लैपटॉप की रेडिएशन (laptop radiation) सीधे शरीर पर पड़ती है. डिवाइस से निकलने वाली हीट आपको बीमार कर सकती है । 

Todays Beets: