Tuesday, November 24, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

शहद के इन गुणों को जानकार हो जाएंगे हैरान , जानें इसके अनगिनत फायदे और खाने का तरीका

अंग्वाल न्यूज डेस्क
शहद के इन गुणों को जानकार हो जाएंगे हैरान , जानें इसके अनगिनत फायदे और खाने का तरीका

नई दिल्ली । हमारे पुराने ग्रंथों में शहद को अमृत की संज्ञा दी गई है । असल में शहद एक ऐसी एंटीबायोटि‍क औषधि है, जो पूर्णत: प्राकृतिक है। इस शहद में  स्वास्थ्य से लेकर सुंदरता तक , हर समस्या का समाधान उपलब्ध है। शहद में कई जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं जिससे शरीर में कई जरूरी तत्वों की पूर्ति की जा सकती है । कई बीमारियों में शहद दवा की तरह भी काम करता है । शहद के सेवन से आंखों की रोशनी बढ़ाई जा सकती है तो वहीं कफ, अस्थमा और हाईब्लडप्रेशर की समस्या से भी छुटकारा पाया जा सकता है । इतना ही नहीं शहद का नियमित रूप से सेवन , आपके खून में अशुद्धियों को दूर करेगा । साथ ही रोजाना इसके इस्तेमाल से दिल से संबंधित बीमारियां होने की संभावना बहुत कम हो जाती है ।  आइए जान लीजिए शहद के सेवन से होने वाले फायदों के बारे में...

जानें शहद में पाए जाने वाले वाले पोषक तत्व 

असल में शहद प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले पोषक तत्वों, खनिजों और विटामिन का भंडार है। शहद में मुख्य रुप में फ्रक्टोज पाया जाता है। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट, राइबोफ्लेविन, नायसिन, विटामिन बी-6, विटामिन सी और एमिनो एसिड भी पाए जाते हैं। एक चम्मच (21 ग्राम) शहद में लगभग 64 कैलोरी और 17 ग्राम शुगर (फ्रक्टोज, ग्लूकोज, सुक्रोज एवं माल्टोज) होता है। शहद में फैट, फाइबर और प्रोटीन बिल्कुल भी नहीं होता है। 

(** ऑर्गेनिक शहद खरीदने के लिए फोटो पर क्लिक करें)

 

शहद के औषधीय गुण 

आयुर्वेद में शहद को एक औषधि का दर्जा हासिल है और अब पूरी दुनिया में लोग मिठास के लिए भी शहद का इस्तेमाल करने लगे हैं। पिछले कुछ दशकों में शहद पर हुए कई वैज्ञानिक शोध आयुर्वेद में बताए इसके गुणों की पुष्टि करते हैं। अगर हम शहद के औषधीय गुणों की बात करें , तो यह कई बीमारियों के इलाज में उपयोगी मानी जाती है। इसके अलावा शहद में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जिसकी वजह से घाव को भरने में या चोट से जल्दी आराम दिलाने में भी यह बहुत कारगर है। चलिए इसके सेवन से शरीर को होने वाले लाभ के बारे में बताते हैं । 

ऊर्जा के लिए 

शहद को ऊर्जा का भरपूर भंडार कहा जाता है । असल में किसी शख्स को दिनभर के काम के लिए शरीर को काफी ऊर्जा चाहिए होती है । ऐसे में शहद की मदद से शरीर को ऊर्जावान बनाया जा सकता है । नियमित रूप से एक बड़े चम्मच शहद का सेवन करने से शरीर को ऊर्जा मुहैया करवाई जा सकती है । 

त्वचा के लिए गुणकारी

इसी क्रम में चमकदार त्वचा के लिए भी शहद का सेवन काफी मददगार साबित हो सकता है । त्वचा का रंग साफ करने और इसमें निखार लाने के लिए ठंडे पानी में शहद मिलाकर रोजाना पीना चाहिए । 

मांसपेशियां मजबूत करता है

शरीर की मांसपेशियां जितनी मजबूत होंगी, शरीर उतनी फर्ती से ही मुश्किल काम कर पाएगा । ऐसे में शरीर की मांसपेशियां मजबूत करने के लिए शहद का सेवन करना काफी लाभ पहुंचा सकता है । 

रोगों से बचाव

ऐसा कहा जाता है कि शहद खाने से विभिन्न प्रकार के रोगों से छुटकाया पाया जा सकता है । इसके नियमित खानों वालों को सर्दी जुकाम नहीं होता । नियमित रूप से शहद के सेवन से पेट के कैंसर से बचाव किया जा सकती है । वहीं शहद में मौजूद ऑक्सीडेंट की मदद से ट्यूमर बनने से भी रोका जा सकता है ।

कटने या जलने पर इस्तेमाल

क्या आप जानते हैं कि त्वचा के कटने-छिलने या जल जाने पर भी शहद का उपयोग करना बहुत लाभकारी है। शहद में मौजूद एंटीसेप्टिक गुण जले हुए हिस्से को जल्दी ठीक करते हैं और त्वचा को संक्रमण से भी बचाते हैं। अगर आपकी त्वचा में हल्की खरोंच आ गयी है या कोई हिस्सा मामूली रूप से जल गया है तो उस हिस्से पर शहद लगाएं। यह जलन को कम करती है और उस हिस्से में संक्रमण को रोकती है।

 

खांसी होने पर

अगर आपको लंबे समय से खासी है तो इसका इस्तेमाल करें। यह खांसी से आराम दिलाने की असरदार घरेलू दवा है। शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण संक्रमण को और बढ़ने से रोकते हैं साथ ही यह कफ को पतला करती है जिससे कफ आसानी से बाहर निकल जाता है। खासतौर पर जो लोग सूखी खांसी से परेशान रहते हैं उन्हें शहद से जल्दी आराम मिलता है।रात में सोने से पहले हल्के गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर उसे पियें। यह बलगम को पतला करने के साथ साथ खांसी से जल्दी आराम दिलाती है। अदरक और शहद से तैयार पेय भी खांसी से आराम दिलाने में कारगर है।

वजन कम करने में सहायक 


अगर आप बढ़ते वजन या मोटापे से परेशान हैं तो शहद के सेवन से आप अपना वजन कम कर सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शहद में वसा बिल्कुल भी नहीं होता है। यह वजन को नियंत्रित रखने के साथ साथ शरीर  के कोलेस्ट्रॉल लेवल को भी कम करती है। इसलिए नियमित रूप से शहद का सेवन करें। इसके लिए आप प्रतिदिन सुबह खाली पेट एक गिलास हल्के गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर उसका सेवन करें। इसे पीने के आधे से एक घंटे तक कुछ भी ना खाएं। आप इस मिश्रण में आधे नींबू का रस भी मिला सकते हैं।

कब्ज़ से राहत 

अगर आप कब्ज की समस्या से जूझ रहे हैं तो आपके लिए शहद एक रामबाण दवा साबित हो सकती है । पेट से जुड़ी कई समस्याओं की मूल जड़ कब्ज़ ही है। शहद शरीर में फ्रक्टोज के अवशोषण को कम करती है इस वजह से आप इसका उपयोग  कब्ज़ को दूर करने में भी कर सकते हैं। कब्ज़ से आराम दिलाने के अलावा यह पेट फूलने और गैस की समस्या से भी आराम दिलाती है। कब्ज़ से आराम पाने के लिए रोजाना रात में सोने से पहले एक गिलास हल्के गुनगुने दूध में एक चम्मच शहद मिलाकर उसका सेवन करें।

त्वचा को इस तरह मिलेगा लाभ

शहद के फायदे (benefits of honey in hindi) सिर्फ पाचन और इम्युनिटी बढ़ाने तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह त्वचा में निखार लाने में भी मदद करती है। त्वचा के लिए आप कई तरीकों से शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं। यहां हम उपयोग की कुछ प्रमुख विधियाँ बता रहे हैं :  

1- अगर आपकी त्वचा रुखी है तो आप एक चम्मच शहद लें और इसे त्वचा के रुखे हिस्से पर लगाएं। 15-20 मिनट तक इसे सूखने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें। इसे एक हफ्ते में कम से कम तीन बार प्रयोग करें।

2- चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए आप शहद से तैयार फेसपैक का इस्तेमाल करें। आमतौर पर शहद और नींबू, शहद और दूध, शहद और केला एवं शहद और योगर्ट से तैयार फेसपैक ज्यादा फायदेमंद होते हैं।

 

(** ऑर्गेनिक शहद खरीदने के लिए फोटो पर क्लिक करें)

आपके बालों के लिए 

आप दही के साथ शहद को मिलाकर हेयर मास्क बना लें और इसे बालों पर लगाएं। इससे खराब बालों को पोषण मिलता है। शहद और अंडे से बना हेयर मास्क ख़राब बालों की मरम्मत करते हैं। शहद और एलोवेरा का मिश्रण बालों के बढ़ने में मदद करता है।

मुंहासे दूर करने में उपयोगी 

शहद में मौजूद जायलोज (Xylose) और सुक्रोज, वाटर एक्टिविटी को कम करते हैं और बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकते हैं। इस वजह से शहद मुहांसे दूर करने में काफी उपयोगी है। रात में सोने से पहले शहद (honey in hindi) की थोड़ी सी मात्रा लेकर सीधे मुंहासे पर लगाएं और रात भर के लिए सूखने दें। अगली सुबह इसे ठंडे पानी से धो लें।

जाने लें इसके नुकसान भी

- जितने शहद के लाभ है उसके सही तरह से इस्तेमाल न करने से कुछ नुकसान भी हैं । मसलन आप सामान्य रूप से दिन में एक से दो चम्मच का सेवन ही करें । अगर आप इसे औषधि के रूप में या त्वचा के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं तो चिकित्सक द्वारा बताए खुराक के अनुसार ही खाएं । अधिक मात्रा में खाने से इसके साइड इफ़ेक्ट (side effects of honey) हो सकते हैं और इससे उल्टी-मिचली आना और कुछ मामलों में डायरिया की शिकायत हो सकती है।

- कहा जाता है कि एक साल से छोटे बच्चे को शहद न खिलाएं । इससे बच्चों में बोटुलिज़्म (Botulism) का खतरा हो सकता है। इसलिए अगर आप एक साल से कम उम्र के बच्चे को शहद खिलाना चाहते हैं तो पहले डॉक्टर की सलाह लें। 

- इसी क्रम में उन लोगों को भी शहद नहीं खाना चाहिए , जिन्हें पराग कणों से एलर्जी (pollen allergy) हो। जानकारों का कहना है कि जिन लोगों को पराग कणों से एलर्जी होती है, अगर वे शहद का उपयोग करते हैं तो उनकी एलर्जी और बढ़ सकती है। इसी तरह अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो  सीधे शहद को अपनी त्वचा पर न लगाएं ।  शहद में गुलाब जल या दूध मिलाकर उसे पतला कर लें और फिर उसे त्वचा पर लगाएं। दूध और शहद का मिश्रण त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है।

- बता दें कि जिन लोगों  का डायबिटीज नियंत्रण में है वे खाने के तौर पर शहद का सेवन कर सकते हैं। शहद के सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिससे डायबिटीज से होने वाली समस्याओं से बचाव होता है। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि अगर आपका शुगर लेवल अनियंत्रित रहता है तो फिर शहद के सेवन से परहेज करें। मधुमेह के मरीज शहद का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह ज़रुर लें।

- आयुर्वेद में घी और शहद की समान मात्रा का एक साथ सेवन ना करने की सलाह दी गयी है। आयुर्वेद में इसे विरुद्ध आहार की श्रेणी में रखा गया है। इसलिए घी के साथ शहद का समान मात्रा में सेवन ना करें।

-  गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान आप इसका सीमित मात्रा में ही सेवन करें। अगर आप शहद का सेवन औषधि के रुप में करना चाहती हैं तो स्त्री रोग विशेषज्ञ की सलाह के अनुसार करें।

- इस बात का ध्यान रखें कि कभी भी शहद को गर्म पानी में उबाल कर न पीएं । ये विरुद्ध आहार की श्रेणी में आते हैं। इसलिए हमेशा हल्के गुनगुने पानी या सामान्य तापमान वाले पानी के साथ ही शहद का प्रयोग करें।

Todays Beets: