Tuesday, January 21, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

आ रहा है मानसून, इस मौसम में त्वचा संबंधी परेशानियों से कुछ इस तरह करें बचाव 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आ रहा है मानसून, इस मौसम में त्वचा संबंधी परेशानियों से कुछ इस तरह करें बचाव 

नई दिल्ली । मानसून का मौसम जहां एक तरह रोमांच भरा नजर आता है वही इस मौसम में कुछ लोगों को त्वचा संबंधी परेशानियां भी हो जाती हैं। भले ही ये त्वचा संबंधी ये परेशानियां काफी छोटी नजर आएं , लेकिन इन्हें नजरअंदाज करना आने वाले समय में बड़ी परेशानी को जन्म दे सकता है। असल में मानसून में उमस बढ़ने से त्वचा का संक्रमण एक आम समस्या हैं । ऐसे में विशेषज्ञों की राय है कि आम जनता साफ सफाई और फंगस रहित ब्यूटी उत्पादों का प्रयोग कर खुद को बचाएं। इसके साथ ही जिन लोगों को त्वचा संबंधी पुरानी परेशानी है, वो भी इस दौरान छोटे-छोटे नुसखे और सावधानियां बरतते हुए खुद को इस परेशानी से दूर रख सकते हैं। 

नाखूनों में फंगस 

अगर हम बात मानसून में त्वचा संबंधी परेशानियों की करते हैं तो चलिए सबसे पहले नाखूनों से शुरुआत करते हैं। जानकारों का कहना है कि बरसात में नाखून नहीं बढ़ाने चाहिएं, क्योंकि बढे़ हुए नाखून गंदगी को आमंत्रित करते हैं। इससे नाखून बदरंग , खुदरे हो जाते हैं। कई बार बरसात के मौसम में नाखूनों में फंगस लगने का खतरा भी बढ़ जाता है।  ऐसी परेशानी होने पर लोगों को मोइसचर क्रीम या फंगस रोधी पाउडर का इस्तेमाल करना चाहिए। 

घमोरियां 

 

शरीर पर छोटे लाल लाल दाने दिखना घमोरी का लक्षण होता है।  यह घमोरियां पसीने चिपचिपे पन के कारण हो जाती हैं । इसमें रोम छिद्र बंद हो जाते हैं । खुजली करके अगर हमने इन्हें फैलाया नहीं है तो कई बार ये खुद की छूमंतर हो जाती हैं।  बाकि इनसे बचने के लिए खुले सूती कपडे़ पहनें,  कैलेमाइन लोशन खुजली शांत करने में मददगार साबित होता है ।


सोरायसिस

सोरायसिस में त्वचा पर लाल चकते (दपढ़) पढ़ जाते हैं । ऐसे में एलोवेरा त्वचा रोग में हमेशा से लाभदायक साबित हुआ है। इतना ही नहीं इस परेशानी से जूझ रहे लोगों को बैक्टीरिया रोधक साबून पाउडर फेसवाश का इस्तेमाल करना चाहिए । संक्रमित त्वचा पर सरसों का तेल गर्म कर लगाए। गुलाबजल, चने का आटा और दूध का मिश्रण बनाकर संक्रमित जगह पर लगाए । घेरलू  उपचार अजमा कर भी इससे बहुत जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है ।

 

पैरों में दाद होना 

यह परेशानी गीले या तंग जूतों को पहनने से होती है। ऐसे में लोगों को इस परेशानी से बचने के लिए मोटी व सख्त सतह वाले जूते पहनने से बचना चाहिए, जैसे चमड़े या प्लास्टिक के जूते इत्यादि । मोइसचर क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए । इस परेशान से जूझ रहे लोगों को साफ जुराब पहननी चाहिए। पैरों को हमेशा साफ रखना चाहिए । बेहतर होगा कि आप जूतों के बजाय चप्पल पहनें।

Todays Beets: