Sunday, July 25, 2021

Breaking News

   बिहार: पटना में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़, 2 गिरफ्तार     ||   जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने पुलिस कांस्टेबल की पत्नी और बेटी पर गोलियां चलाईं, दोनों जख्मी     ||   पेगासस मामला: दुनिया के 14 बड़े नेताओं की भी की गई जासूसी, PM इमरान समेत कई अन्य का लिस्ट में नाम     ||   जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट केस: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी     ||   पेगासस मामला: शिवसेना ने की जेपीसी जांच की मांग, कहा- यह हमला आपातकाल से भी बदतर     ||   महाराष्ट्र सरकार ने भी HC से कही थी ऑक्सीजन की कमी से मौत ना होने की बात- अमित मालवीय     ||   नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर पहुंचे 62 MLA, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बोले- बदलाव की बयार     ||   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||

बालिक बधु फेम ''दादीसा'' सुरेखा सिकरी का निधन , जानें तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता रहीं अभिनेत्री के बारे में

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बालिक बधु फेम

मुंबई । तीन बार की राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त और सीरियल बालिका बधु फेम अभिनेत्री दादीसा'' सुरेखा सिकरी का निधन हो गया है ।  वह लंबे समय से बीमार चल रही थीं । वर्ष 2020 में उन्हें ब्रेन स्ट्रोक हुआ था , इससे पहले वह लकवे का शिकार हो गई थी । पिछले कुछ दिनों से उनकी तबीतय ठीक नहीं थी । इस सबके बाद अब 75 साल की उम्र में उनका निधन हो गया है । निधन के बाद उनके मैनेजर ने बयान जारी करते हुए बताया, ''हार्ट अटैक आने से आज सुबह सुरेखा सिकरी का 75 साल की उम्र में निधन हो गया । दूसरी बार ब्रेन स्ट्रोक होने के चलते वह बीमार थीं । 

तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार

बता दें कि कि सुरेखा सिकरी को तीन बार नेशनल अवॉर्ड भी मिल चुका है । उन्हें फिल्म तमस 1988, Mammo (1995) और बधाई हो (2018) के लिए बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड दिया गया था । श्याम बेनेगल की 1994 की फीचर फिल्म "मम्मो", जिसमें फरीदा जलाल मुख्य भूमिका में थीं, ने सीकरी को महत्वपूर्ण सहायक पात्रों के लिए व्यक्ति के रूप में स्थापित किया। फिल्म में दादी फैयूजी के रूप में उनके प्रदर्शन ने उन्हें दूसरा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार भी दिलाया।

कुछ ऐसा रहा फिल्मी करियर

तीन बार की राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता एक्ट्रेस सुरेखा को "तमस", "मम्मो", "सलीम लंगड़े पे मत रो", "जुबैदा", "बधाई हो" और डेली सोप "बालिका वधू" में उनके शानदार अभिनय के लिए जाना जाता है। सीकरी को आखिरी बार नेटफ्लिक्स के एंथोलॉजी "घोस्ट स्टोरीज" (2020) में जोया अख्तर द्वारा निर्देशित कहानी में देखा गया था।

दादी सा बनकर पाई नई पहचान 

लेकिन लोकप्रिय टीवी सीरियल "बालिका वधू" से 'दादी सा' और "बधाई हो!" से चिड़चिड़ी-प्यारी सास के रूप में जानी जाने वाली सुरेखा ने अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू), उत्तर प्रदेश से स्नातक की पढ़ाई पूरी की । फिर 1968 में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (एनएसडी) में दाखिला लिया। 1971 में एनएसडी से स्नातक होने के बाद, सीकरी ने थिएटर में काम करना जारी रखा ।  एक दशक से अधिक समय तक एनएसडी रिपर्टरी कंपनी से जुड़ी रहीं। जहां उन्होंने "संध्या छाया", "तुगलक" और "अधे अधूरे" जैसी हिट नाटक दिए।


यूपी में जन्मी थी

उत्तर प्रदेश में जन्मी सुरेखा ने अपना बचपन अल्मोड़ा और नैनीताल में बिताया । इस एक्ट्रेस ने अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी से पढाई की. इसके बाद उन्होंने दिल्ली में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा ज्वाइन किया. सुरेखा को 1989 में  Sangeet Natak Akademi Award भी मिल चुका है.

पिता एयरफोर्स में थे

सुरेखा सिकरी के पिता एयरफोर्स में थे और उनकी मां अध्यापक थीं. उनकी शादी Hemant Rege से हुई थी जिससे उनका एक बेटा राहुल सिकरी हैं ।  राहुल सिकरी मुंबई में हैं और आर्टिस्ट हैं । 

नसीरुद्दीन शाह से है रिश्ता

अभिनेता नसीरुद्दीन शाह रिश्ते में सुरेखा सिकरी के बहनोई (Brother-in-Law) लगते हैं . सुरेखा की बहन मनारा सिकरी ने नसीरुद्दीन की पहली शादी हुई थीं ।   

 

Todays Beets: