Thursday, January 23, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

डांस के ग्रेंड मास्टर रेमो डिसूजा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, 5 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
डांस के ग्रेंड मास्टर रेमो डिसूजा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी, 5 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप

गाजियाबाद । डांस की दुनिया के ग्रेंड मास्टर में शुमार मशहूर कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा के लिए एक बुरी खबर है । गाजियाबाद जिला अदालत ने उनके खिलाफ एक मामले में गैर जमानती वारंट जारी किए हैं । मिली जानकारी के मुताबिक, एक प्रॉपर्टी डीलर ने रेमो डिसूजा पर 5 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप लगाते हुए मामला सिहानी गेट थाने में मुकदमा दर्ज करवाया था । शिकायत में धोखाधड़ी का यह मामला साल 2016 का बताया गया है । मामले की सुनवाई के लिए कोर्ट में पेश न होने के चलते कोर्ट ने कोरियोग्राफर रेमो डिसूजा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है । रेमो के खिलाफ आईपीसी के सेक्शन 420, 406, 386 के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई थी ।

विदित हो कि राजनगर , गाजियाबाद निवासी सतेंद्र त्यागी ने वर्ष 2016 में 'अमर मस्ट डाई' नाम की एक फिल्म बनाने के लिए रेमो डिसूजा ने 5 करोड़ रुपये का निवेश करवाया था । उस दौरान वादा किया गया था कि 5 करोड़ लगाने पर 10 करोड़ रुपये मिलेंगे । लेकिन तीन साल बीतने के बाद अभी तक उनके रुपये को लेकर कोई बात नहीं हो रही है । पीड़ित सतेंद्र का कहना है कि तीन साल बीतने को हैं और उन्हें इसके अवज में न तो अपना पैसा वापस मिला और न ही मुनाफा । 


इस पर गाजियाबाद के सिहानी गेट थाने में 2016 में दर्ज मुकदमे में एसीजेएम अष्टम की अदालत ने गैरजमानती वारंट जारी किया है । अब वारंट जारी होने के बाद गाजियाबाद पुलिस को रेमो डिसूजा को कोर्ट में पेश करना होगा। 

 

Todays Beets: