Tuesday, November 24, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

CM उद्धव ठाकरे का गवर्नर को जवाब , मुझे आपसे हिंदुत्व का सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है

अंग्वाल न्यूज डेस्क
CM उद्धव ठाकरे का गवर्नर को जवाब , मुझे आपसे हिंदुत्व का सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है

मुंबई । कोरोना काल के बीच महाराष्ट्र में धार्मिक स्थलों को खोलने की भाजपा की मांग और धरना प्रदर्शन के बीच हाल में राज्य के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा था । अब इस पत्र पर ठाकरे ने जवाब दिया है । उन्होंने अपना पक्ष रखने के साथ ही गवर्नर को लिखा कि मुझे आपसे हिंदुत्व का सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है । जो लोग हमारे राज्य की तुलना PoK से करते हैं उनका स्वागत करने मेरे हिंदुत्व में फिट नहीं बैठता है । सिर्फ मंदिर खोलने से ही क्या हिंदुत्व साबित होगा?

क्या लिखा था राज्यपाल कोश्यारी ने चिट्ठी में

बता दें कि महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने सुबे की उद्धव ठाकरे सरकार को चिट्ठी लिखते हुए राज्य में बंद मंदिर और अन्य पूजा स्थलों को खोलने की बात कही थी । उन्होंने लिखा था कि यह विडंबना है कि एक तरफ सरकार ने बार और रेस्तरां खोले हैं, लेकिन दूसरी तरफ, देवी और देवताओं के स्थल को नहीं खोला गया है । आप हिंदुत्व के मजबूत पक्षधर रहे हैं । आपने भगवान राम के लिए सार्वजनिक रूप से अपनी भक्ति व्यक्त की ।कोश्यारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखकर धार्मिक स्थलों को खोलने के लिए कहा है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि 1 जून से आपने मिशन फिर से शुरू करने की घोषणा की थी, लेकिन चार महीने बाद भी पूजा स्थल नहीं खोले जा सके हैं। उन्होंने आगे लिखा था - आपने आषाढ़ी एकादशी पर विट्ठल रुक्मणी मंदिर का दौरा किया था, क्या आपने अचानक खुद को धर्मनिरपेक्ष बना लिया है? जिस शब्द से आपको नफरत है? दिल्ली में पूजा स्थल खोले गए हैं लेकिन कोविड -19 मामलों में वृद्धि हुई है ।

SBI की ऑनलाइन बैंकिंग सेवाएं ठप , कनेक्टिविटी की समस्या के चलते ग्राहक परेशान , ATM कर रहे काम

 उद्धव ने चिट्ठी का दिया जवाब 


गवर्नर कोश्यारी की चिट्ठी पर अब उद्धव ठाकरे ने जवाब लिखा है । इसमें उन्होंने लिखा कि महाराष्ट्र में धार्मिक स्थल खोलने की चर्चा के साथ कोरोना के बढ़ते मामलों का भी ध्यान रखना चाहिए । महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे अपना हिंदुत्व साबित करने के लिए आपसे सर्टिफिकेट नहीं चाहिए । उद्धव ठाकरे ने लिखा - जो लोग हमारे राज्य की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से करते हैं उनका स्वागत करना मेरे हिंदुत्व में फिट नहीं बैठता है । सिर्फ मंदिर खोलने से ही क्या हिंदुत्व साबित होगा?

हाथरस कांड की ''फर्जी भाभी'' ने डिलिट किया अपना फेसबुक अकाउंट , भड़काऊ पोस्ट के लगे हैं आरोप

शिरडी में साधु संतों का अनशन

राज्यपाल ने सीएम को चिट्ठी ऐसे हालात में लिखी थी जब धार्मिक स्थल खोलने की मांग को लेकर राज्य में भाजपा नेता-कार्यकर्ताओं के धरना प्रदर्शन के साथ ही साधु संत भी मंदिर खोलने की मांग करते हुए अनशन पर बैठ गए हैं। महाराष्ट्र के शिरडी में साधु संत अनशन पर बैठ गए हैं। इसी क्रम में महाराष्ट्र में धार्मिक स्थलों को खोलने की मांग तेज हो गई है । भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों को लेकर मंगलवार को मुंबई में प्रदर्शन किया । 

Todays Beets: