Friday, June 18, 2021

Breaking News

   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||   कांग्रेस ने चिराग को दिया न्योता, एमएलसी प्रेम चंद बोले- उनके आने से बिहार में विपक्ष मजबूत होगा     ||   बिहार में कल से एक हफ्ते तक लॉकडाउन में ढील, लेकिन नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा     ||   पाकिस्तान: आपस में दो ट्रेन टकराईं, 30 की मौत, ट्रेन में अभी भी फंसे हुए हैं बहुत से यात्री     ||   उत्तराखंड: सुनगर के पास हुआ भारी भूस्खलन, गंगोत्री हाइवे हुआ बंद, खुलने में लगेगा वक्त     ||   विवादों में आई 'Family Man 2', बैन लगाने के लिए तमिल नेताओं ने Amazon को लिखा पत्र     ||   केरलः पीटी उषा की सीएम विजयन से अपील- सभी खिलाड़ियों, उनके कोच और स्टाफ को वैक्सीनेट किया जाए     ||   इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का दावा, कोरोना की दूसरी लहर में 269 डॉक्टरों ने जान गंवाई     ||

Cyclone Yaas Live - तेज बारिश - प्रचंड हवाओं से दहला ओडिशा - बंगाल , सुमद्र के नजारे खौफनाक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
Cyclone Yaas Live - तेज बारिश - प्रचंड हवाओं से दहला ओडिशा - बंगाल , सुमद्र के नजारे खौफनाक

नई दिल्ली । देश में कोरोना के बीच दूसरा चक्रवाती तूफान '' यास '' की आफत ओडिशा - पश्चिम बंगाल समेत 8 राज्यों पर पड़ती नजर आ रही है । मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक 'यास' गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल चुका है और यह ओडिशा तटीय इलाकों से टकरा गया है । दोपहर 1 बजे के करीब यह पश्चिम बंगाल की सीमा से टकराएगा । इस समय कई इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है । इस बीच दुर्गापुर - भुवनेश्वर समेत कोलकाता एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है । कोलकाता के कई इलाकों में इस समय जोरदार बारिश हो रही है ।

ओडिशा के रिहायशी इलाके में भरा पानी

चक्रवाती तूफान यास का असर अभी ओडिशा में व्यापक रूप से नजर आ रहा है । ओडिशा के भद्रक जिले के धामरा में रिहायशी इलाकों में समुद्र के पानी से बाढ़ आ गया है । चक्रवाती तूफान यास के लैंडफॉल की प्रक्रिया जारी है । आईएमडी के अनुसार , सुबह 9:30 बजे बालासोर से 30 किमी दक्षिण-दक्षिण पूर्व में है । भीषण चक्रवाती तूफान यास बालासोर (ओडिशा) से लगभग 50 किमी दक्षिण-दक्षिण पूर्व में केंद्रित है । ओडिशा के पुरी, जगतसिंगपुर, खुर्दा, कटक, भद्रक, बालासोर, गंजम और मयूरभंज में तूफान ज्यादा खरतनाक हो सकता है.

खाने के पैकेट तैयार किए जा रहे हैं

 इस चक्रवाती तूफान को ध्यान में रखते हुए प्रभावित लोगों के लिए ओडिशा के भुवनेश्वर में खाने के पैकेट तैयार हो रहे हैं, जबकि रिलिफ कैंप तक लगातार लोगों को लाया जा रहा है । भद्रक में एनडीआरएफ ने मोर्चा संभाल रखा है और लोगों को तूफान से बचाने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है । ओडिशा की तरह बंगाल में लोगों को रिलीफ कैंप तक पहुंचाया जा रहा है ।

पश्चिम बंगाल में हाईटाइड की स्थिति

चक्रवाती तूफान यास के चलते पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले में हाई टाइड की स्थिति बन रही है । समुद्र का जलस्तर पहले ही बढ़ चुका है । दीघा समुद्र तट पर भी पानी का स्तर बढ़ने से आसपास के इलाके पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं।  वहीं पश्चिम बंगाल के कोलकाता, हावड़ा, हुगली, मेदिनीपुर, दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना में तूफान से भारी नुकसान हो सकता है. इसके अलावा पूरे पूर्वी भारत को अलर्ट पर रखा गया है. 

इन राज्यों में भी आफत


पूर्वी भारत में पश्चिम बंगाल और ओडिशा के अलावा झारखंड और बिहार में असर पड़ने वाला है । वहीं दक्षिण भारत में आंध्र प्रदेश में तूफान का सबसे ज्यादा नुकसान कर सकता है, जबकि अंडमान निकोबार में तूफान कहर मचाना तय है । इन इलाकों में ना सिर्फ 185 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलेगी, बल्कि तेज बारिश होने की आशंका है. पश्चिम बंगाल और ओडिशा के अलावा झारखंड और बिहार के कई हिस्सों में बारिश हो रही है । 

नौसेना - NDRF की टीम तैयार 

चक्रवाती तूफान यास के चलते नौसेना और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) के अलावा अन्य राहत और बचाव दल के तौर पर काम करने वाली टीमों को अलर्ट पर रखा गया है । राज्यों में किसी तरह के खतरे से निपटने के लिए तैयार हैं । NDRF की कुल 109 टीमें तूफान के असर वाले राज्यों में तैनात हैं, जिसमें से पश्चिम बंगाल में 35 टीमें हैं, जबकि ओडिशा में 52 टीमों को तैनात किया गया है । NDRF जमीन पर राहत में लगी है तो कोस्ट गार्ड के जवान समंदर की निगरानी कर रहे हैं । तूफान से निपटने के लिए 19 जहाज और 4 एयरक्राफ्ट तैयार रखे गए हैं । अंडमान में भी कोस्ट गार्ड के जहाज तैयार हैं ।

10 लाख लोगों को समुद्र किनारे से हटाया

इस बीच पश्चिम बंगाल में 10 लाख लोगों को समंदर किनारे वाली जगहों से हटाया गया है, जिन्हें 4000 हजार राहत शिविरों में ठहराया गया है । डेढ़ लाख लोगों को तो पूर्वी मिदनापुर से ही सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है । इन लोगों को 802 राहत शिविरों में ठहराया गया है. अब तक कुल 14 जिलों से लोगों को हटाया जा चुका है । 

कोलकाता एयरपोर्ट बंद

 तूफान की आशंका को देखते हुए कोलकाता से चेन्नई जाने वाले रास्ते को आज दोपहर बाद तक के लिए बंद कर दिया गया है. इसके अलावा पश्चिम बंगाल के कोलकाता और ओडिशा के भुवनेश्वर एयरपोर्ट को भी आज बंद किया गया है । 

Todays Beets: