Tuesday, November 30, 2021

Breaking News

   टीम इंडिया भी रद्द कर सकती है साउथ अफ्रीका दौरा? इस वजह से बढ़ी टेंशन     ||   CJI सीजेआई ने सरकार को दी ये नसीहत, कहा- तभी निडर होकर काम कर पाएंगे जज     ||   DNA: अमेरिका की महागरीबी का विश्लेषण, 17 प्रतिशत आबादी है गरीबी रेखा से नीचे     ||   कृषि कानूनों को रद्द करने का रास्ता साफ, लोक सभा में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पेश करेंगे बिल     ||   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||

योगी सरकार ने डॉ. कफील खान को किया बर्खास्त , BRD अस्पताल में बच्चों की मौत के मामले में कार्रवाई

अंग्वाल न्यूज डेस्क
योगी सरकार ने डॉ. कफील खान को किया बर्खास्त , BRD अस्पताल में बच्चों की मौत के मामले में कार्रवाई

लखनऊ । उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने     गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर कफील खान को अब बर्खास्त कर दिया है । पूर्व में उनके खिलाफ कार्रवाई हुई थी , जिसमें उन्हें निलंबित किया गया था । वर्ष 2017 में अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते करीब 60 बच्चों की मौत के मामले की कमेटी ने जांच भी की थी । पूर्व में जांच अधिकारी की एक रिपोर्ट में उन्हें इस मामले में निर्दोष पाया गया था , क्योंकि उनके खिलाफ भ्रष्टाचार और लापरवाही के सबूत नहीं मिले थे , लेकिन एकाएक राज्य सरकार ने अब उन्हें बर्खास्त कर दिया है । 

विदित हो कि वर्ष  2017 में बीआरडी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी के चलते अस्पताल में भर्ती 60 बच्चों की मौत हो गई थी । इस हंगामे के बाद काफी लोगों के पर गाज गिरी । इस मामले में डॉ कफील खान समेत 9 लोगों को इस मामले में लापरवाही का आरोपी बनाया गया था । डॉक्टर कफील के खिलाफ कार्यवाही करते हुए उन्हें निलंबित कर दिया गया था। 


वह अपने खिलाफ हुई कार्यवाही के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पास भी गए थे । हालांकि इस मामले की जांच कर रहे एक अधिकारी ने अपनी रिपोर्ट में कफील खान को निर्दोष बताते हुए उनके खिलाफ लापरवाही और भ्रष्टाचार के कोई सबूत नहीं मिलने की बात कही थी । 

हालांकि फरवरी वर्ष 2020 को इस मामले की दोबारा जांच के आदेश राज्य सरकार ने दे दिए थे । अभी जांच चल ही रही थी कि राज्य सरकार ने जांच के आदेश वापस ले लिए थे , इसके बाद इस बाद के कयास लगाए जा रहे थे कि डॉक्टर कफील को राहत मिल सकती है , लेकिन अब चिकित्सा शिक्षा विभाग ने उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें बर्खास्त कर दिया है । 

Todays Beets: