Monday, October 26, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

ED ने हाथरस कांड में किया खुलासा - यूपी में दंगा भड़काने के लिए मॉरिशस से PFI को हुई 100 करोड़ की फंडिंग 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ED ने हाथरस कांड में किया खुलासा - यूपी में दंगा भड़काने के लिए मॉरिशस से PFI को हुई 100 करोड़ की फंडिंग 

नई दिल्ली । उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए कथित गैंगरेप कांड के बाद अब मामले से जुड़ी साजिश के कई खुलासे हो रहे हैं । इसी क्रम में प्रवर्तन निदेशालय ने भी एक बड़ा खुलासा किया है । ईडी की एक रिपोर्ट में सामने आया है कि हाथरस के गैंगरेप कांड के बहाने यूपी में जातीय दंगा फैलाने के लिए पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के पास मॉरिशस से 50 करोड़ आए थे । प्रवर्तन निदेशालय ने अपने रिपोर्ट में दावा किया है कि दंगा भड़काने के लिए फंडिंग 100 करोड़ रुपये से ज्यादा की थी । अब इस मामले को लेकर गहन जांच शुरू हो गई है । 

बता दें कि यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार के प्रशासन ने हाथरस के गैंगरेप कांड को कथित करार देते हुए इस सबके पीछे एक साजिश होने की बात कही है । इतना ही नहीं इस मामले में दंगा भड़काने और सुनियोजित तरीके से मामले को भटकाने के लिए एक गैंग का भी पता चला है । इस कड़ी में यूपी पुलिस ने मथुरा से चार लोगों को गिरफ्तार भी किया है ।

इस सबके बाद तो तथ्य सामने रखे जा रहे हैं और जिस तरह से पीड़िता के परिजनों की नेताओं से बातचीत और गांव - इलाके के लोगों का इस पूरे मामले में घपला होने की आशंका जताई जा रही है , उसके बाद जांच एजेंसियों ने इस मामले से जुड़े कुछ तथ्यों की जांच शुरू कर दी है । 

रिया चक्रवर्ती को बांबे हाईकोर्ट से सशर्त जमानत मिली , शोविक की याचिका फिर खारिज


हाथरस में दंगे की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार चारों लोगों का पीएफआई संगठन से रिश्ता बताया जा रहा था ।  पुलिस ने इनके पास से भड़काऊ साहित्य बरामद किया था ।  इससे पहले यूपी पुलिस ने एक वेबसाइट के जरिए दंगों की साजिश का दावा भी किया है । 

इस मामले की जांच में प्रवर्तन निदेशालय ने भी अपनी ओर से कुछ इनपुट दिए हैं । हाथरस समेत यूपी में दंगा भड़काने की साजिश के पहलू को देखते हुए प्रवर्तन निदेशालय ने भी भी केस दर्ज किया है । जांच एजेंसी ने अपनी शुरुआती जांच में खुलासा हुआ है कि यूपी में जातीय हिंसा भड़काने के लिए 100 करोड़ रुपये से अधिक की फंडिंग की गई थी । 

हाथरस कांड LIVE - SC बोली - यह चौंकाने वाला केस , याचिकाकर्ता की मांग- कोर्ट की निगरानी में SIT करे जांच

यूपी सरकार का दावा है कि विरोध प्रदर्शन की आड़ में वेबसाइट पर देश और प्रदेश में दंगे कराने और दंगों के बाद बचने का तरीका बताया गया । मदद के बहाने दंगों के लिए फंडिंग की जा रही थी । इस फंडिंग की बदौलत अफवाहें फैलाने के लिए सोशल मीडिया के दुरुपयोग के भी सुराग मिले हैं । 

Todays Beets: