Wednesday, May 25, 2022

Breaking News

    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||   आंध्र प्रदेश: गुड़ी पड़वा के जश्न के दौरान भक्तों के बीच मंदिर में मारपीट, दुकानों में तोड़फोड़-आगजनी     ||   दिल्ली एयरपोर्ट पर रोके जाने के खिलाफ दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचीं राणा अयूब     ||   सोनिया गांधी ने बोला केंद्र पर हमला, लगाया MGNREGA का बजट कम करने का आरोप     ||   केजरीवाल के आवास पर हमला: दिल्ली HC पहुंची AAP, एसआईटी गठन की मांग की     ||   राज्यसभा जा सकते हैं शिवपाल यादव! दो दिन से जारी है बीजेपी मुलाकातों का दौर     ||   यूपी हज समिति के अध्यक्ष बने मोहसिन रजा, राज्यमंत्री का भी दर्जा मिला     ||   दिल्ली: नई शराब नीति के विरोध में BJP, पटेल नगर समेत 14 जगहों पर शराब की दुकानें की सील     ||

चीन में बर्ड फ्लू के H3N8 स्ट्रेन का मामला उजागर , 4 साल का बच्चा हुआ संक्रमित

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चीन में बर्ड फ्लू के H3N8 स्ट्रेन का मामला उजागर , 4 साल का बच्चा हुआ संक्रमित

नई दिल्ली । दुनिया में कोरोना की लहरों से हाहाकार मचने के बाद अब चीन ने बर्ड फ्लू के H3N8 स्ट्रेन का पहला मामला सामने आया है । इस स्ट्रेन का मामला साल 2002 में सबसे पहले उत्तरी अमेरिकी में देखने को मिला था , जिसके बाद इससे घोड़े, कुत्ते और सील संक्रमित हुए थे । हालांकि इंसानों में इस स्ट्रेन का असर देखने में नहीं आया था । लेकिन अब चीन के मध्य हेनान प्रांत में रहने वाले एक 4 वर्षीय बच्चे से इस स्ट्रेन से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है । हालांकि स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि लोगों के बीच अभी इस संक्रमण के फैलने का जोखिम कम है ।

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि मध्य हेनान प्रांत में रहने वाले एक 4 वर्षीय लड़के ने इस महीने की शुरुआत में बुखार और अन्य लक्षणों के साथ अस्पताल में भर्ती होने के बाद टेस्ट कराया । इस टेस्ट में उसके H3N8 स्ट्रेन से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है ।  आयोग ने एक बयान में कहा कि लड़के के परिवार ने घर पर मुर्गियों को पाला था और परिवार जंगली बत्तखों की आबादी वाले इलाके में रहता था । आयोग ने कहा कि लड़का सीधे पक्षियों से संक्रमित था ।


हालांकि, इसके बावजूद आयोग ने जनता को मृत या बीमार पक्षियों से दूर रहने और बुखार या सांस संबंधी लक्षणों के दिखने पर तत्काल इलाज कराने को कहा है । असल में एवियन इन्फ्लूएंजा मुख्य रूप से जंगली पक्षियों और मुर्गी पालन में होता है , जिसके मनुष्यों के बीच फैलने के मामले बहुत कम हैं ।

 

Todays Beets: