Thursday, December 1, 2022

Breaking News

   सुकेश चंद्रशेखर विवाद के बीच तिहाड़ जेल से हटाए गए DG संदीप गोयल, संजय बेनीवाल को मिली कमान     ||   MHA ने NIA के 2 नए विंग को दी मंजूरी, 142 जांच अधिकारी-कर्मचारी बढ़ाए     ||   पाकिस्तान को बाढ़ से निपटने के लिए 10 अरब डॉलर की जरूरत, मंत्री का बयान     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 1992 बाबरी मस्जिद विध्वंस से जुड़े सभी मामलो को बंद किया     ||   मनीष के घर-लॉकर से कुछ नहीं मिला, ईमानदार साबित हुए: CM केजरीवाल     ||   दिल्ली: JP नड्डा को बताना चाहता हूं, बच्चा चुराने लगी है BJP- मनीष सिसोदिया     ||   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||

गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत , भारत में बनने वाले 4 कफ सीरप की जांच शुरू

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत , भारत में बनने वाले 4 कफ सीरप की जांच शुरू

नई दिल्ली । गांबिया में 66 बच्चों की मौत के मामले की आंच अब भारत तक पहुंच गई है। असल में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस मुद्दे को लेकर अलर्ट जारी किया है , जिसके बाद भारत के हरियाणा स्थित सोनीपत में बनने वाले चार कफ सीरप की जांच शुरू हो गई है । सूत्रों ने बताया कि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (CDSCO) ने तुरंत मामले को हरियाणा रेगुलेटरी अथॉरिटी के सामने उठाया और इसपर जांच शुरू कर दी है । यह कफ सिरप सोनीपत में मेसर्स मेडेन फार्मास्युटिकल लिमिटेड ने बनाया है । 

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि डब्ल्यूएचओ ने 29 सितंबर को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (CDSCO) को कफ सिरप के बारे में अलर्ट किया था ।  खबरों के अनुसार , ये कफ सिरप मेसर्स मेडेन फार्मास्युटिकल लिमिटेड ने बनाए हैं।  सूत्रों का कहना है कि फर्म ने इन उत्पादों को केवल गाम्बिया को भेजा था । कंपनी ने अभी तक आरोपों का जवाब नहीं दिया है। 

इस संबंध में डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि सिरप पश्चिम अफ्रीकी देश के बाहर वितरित किए गए हों, जिससे एक वैश्विक जोखिम की भी संभावना है । हालांकि, डब्ल्यूएचओ नेअभी तक कफ सिरप से मौत को जोड़े जाने के कारणों के बारे में नहीं बताया है। 


WHO के प्रमुख टेड्रोस अदनोम घेब्येयियस का कहना है कि 4 भारतीय कफ सिरप गुर्दे को नुकसान और गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत मामले से जुड़े है । डब्ल्यूएचओ के अलर्ट के अनुसार इसमें चार उत्पाद प्रोमेथाज़िन ओरल सॉल्यूशन, कोफ़ेक्समालिन बेबी कफ सिरप, मकॉफ़ बेबी कफ सिरप और मैग्रीप एन कोल्ड सिरप हैं । 

बहरहाल , इन खबरों के बाहर आने के बाद भारत में भी इन कंपनियों के उत्पादों की ब्रिकी पर असर पड़ना शुरू हो गया है ।   

Todays Beets: