Saturday, January 29, 2022

Breaking News

   बिहार: खान सर के समर्थन में उतरे पप्पू यादव, बोले- शिक्षकों पर केस दुर्भाग्यपूर्ण     ||   पंजाब: राहुल गांधी ने स्वर्ण मंदिर में माथा टेका, CM चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू भी साथ     ||   UP: मथुरा में बोले गृह मंत्री अमित शाह- माफिया पर कार्रवाई से अखिलेश को दर्द हुआ     ||   सीएम योगी का सपा पर तंज- जो लोग फ्री बिजली देने की बात कर रहे, उन्होंने UP को अंधेरे में रखा     ||   अरुणाचल प्रदेश से कई दिनों से लापता छात्र चीनी सेना को मिला, भारतीय सेना को दी गई जानकारी     ||   हैदराबाद: उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव, एक हफ्ते तक आइसोलेशन में रहेंगे     ||   नेताजी की प्रतिमा का पीएम मोदी ने किया अनावरण, कहा- हमारे सामने नए भारत के निर्माण का लक्ष्य     ||   'यूपी में सबसे ज्यादा महिलाएं असुरक्षित हैं', अखिलेश यादव का बीजेपी पर अटैक     ||   दुख की बात है कि हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी, उसे आज बुझा दिया जाएगा- राहुल गांधी     ||   चन्नी चमकौर साहिब से चुनाव हार रहे हैं, ED को गड्डी गिनता देख लोग सदमे में हैं- अरविंद केजरीवाल     ||

अप्रैल में खत्म हो जाएगी कोरोना की तीसरी लहर , भारत में दक्षिण अफ्रीका की तरह कम होगा असर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अप्रैल में खत्म हो जाएगी कोरोना की तीसरी लहर , भारत में दक्षिण अफ्रीका की तरह कम होगा असर

कानपुर । कोरोना की तीसरी लहर और ओमिक्रोन वैरिएंट को लेकर घबरा रहे लोगों के लिए अच्छी खबरें आई हैं  । जहां विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस साल के अंत तक कोरोना के पूरी तरह खत्म होने की संभावना जताई है , वहीं आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल (Manindra Agrawal) ने कहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी की तीसरी लहर अप्रैल तक खत्म हो जाएगी । ऐसा दावा किया जा रहा है कि दक्षिण अफ्रीका से आए इस ओमिक्रोन वैरिएंट का असर , अफ्रीका की ही तरह भारत में भी कम हानिकारक होगा । दक्षिण अफ्रीका के साथ ही भारत में भी नेचुरल इम्युनिटी 80 प्रतिशत तक है । लेकिन इस दौरान लोगों को भीड़भाड़ वाले इलाकों से बचने की सलाह दी गई है । 

विदित हो कि आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) के प्रोफेसर ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर राहत भरी बात कही है । उनका मानना है कि अप्रैल तक देश में कोरोना की तीसरी लहर खत्म हो जाएगा । जबकि मार्च में प्रतिदिन एक लाख से ज्यादा केस सामने आएंगे , लेकिन यह स्थिति ज्यादा हानिकारक नहीं होगी । ऐसी संभावना है कि दक्षिण अफ्रीका की तरह ही भारत में भी ओमिक्रोन वैरिएंट से लोगों को ज्यादा परेशानी नहीं होगी । 

इससे इतर , वैज्ञानिक ने चेतावनी दी कि चुनाव के दौरान रैलियां कोरोना संक्रमण के लिए सुपर स्प्रेडर साबित हो सकती हैं क्योंकि इस तरह की सभाओं में कोरोना गाइडलाइंस (Corona Guidelines) का पालन करना आसान नहीं है ।


आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल ने कहा कि गाइडलाइंस का पालन किए बिना बड़ी संख्या में लोग चुनावी रैलियों में पहुंचते हैं तो संक्रमण का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है । ऐसे में सावधानी बरतने की जरूरत है. अगर रैलियां होती हैं तो संक्रमण समय से पहले स्पीड पकड़ सकता है । 

अपने गणितीय मॉडल के आधार पर महामारी की भविष्यवाणी करने वाले प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल के मुताबिक, जनवरी में भारत में तीसरी लहर आएगी और मार्च में रोजाना 1.8 लाख मामले आ सकते हैं । तीसरी लहर ये होगी राहत की बातउन्होंने कहा, 'ये राहत की बात होगी कि 10 में से 1 को ही अस्पताल की जरूरत होगी. मार्च के बीच में दो लाख बेड की जरूरत होगी । 

उनका कहना है कि अफ्रीका और भारत में 80 फीसदी आबादी 45 साल से कम उम्र की है । दोनों देशों में नेचुरल इम्युनिटी 80 प्रतिशत तक है । ऐसे में भारत में भी ज्यादा दिक्कतें आने की आशंका नहीं है । 

Todays Beets: