Wednesday, October 5, 2022

Breaking News

   MHA ने NIA के 2 नए विंग को दी मंजूरी, 142 जांच अधिकारी-कर्मचारी बढ़ाए     ||   पाकिस्तान को बाढ़ से निपटने के लिए 10 अरब डॉलर की जरूरत, मंत्री का बयान     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 1992 बाबरी मस्जिद विध्वंस से जुड़े सभी मामलो को बंद किया     ||   मनीष के घर-लॉकर से कुछ नहीं मिला, ईमानदार साबित हुए: CM केजरीवाल     ||   दिल्ली: JP नड्डा को बताना चाहता हूं, बच्चा चुराने लगी है BJP- मनीष सिसोदिया     ||   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||   अगले साल अंतरिक्ष जाएंगे भारतीय , एक या दो भारतीयों को भेजने की योजना है     ||

LIVE - नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा से बौखलाया चीन , अमेरिका को अंजाम भुगतने की धमकी , युद्धाभ्यास शुरू

अंग्वाल न्यूज डेस्क
LIVE - नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा से बौखलाया चीन , अमेरिका को अंजाम भुगतने की धमकी , युद्धाभ्यास शुरू

न्यूज डेस्क । रूस और यूक्रेन युद्ध के बाद अब चीन - ताइवान के बीच लंबे समय से जारी गतिरोध खतरनाक मोड़ पर पहुंच गया है । इस बीच चीन के भारी विरोध के बावजूद अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ताइवान के दौरे पर आई हैं । पेलोसी ने ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग वेन से मुलाकात कर मौजूदा हालात पर भी चर्चा की , जिससे चीन बौखला गया है । जहां एक ओर चीन ने बॉर्डर इलाके में युद्धाभ्यास शुरू कर दिया है , वहीं चीन ने ताइवान से आयात किए जाने वाले फल समेत काफी सामान पर प्रतिबंध लगा दिया है । इतना ही नहीं मौजूदा हालात में चीन और अमेरिका के बीच भी तनातनी चरम पर पहुंच गई है । चीन ने ताइवान के साथ अमेरिका को भी इसके अंजाम भुगतने की चेतावनी दे डाली है ।  इसके साथ ही चीन ने बॉर्डर इलाके में युद्धाभ्यास शुरू कर दिया है ।

पेलोसी बोलीं- ताइवान में लोकतंत्र फल-फूल रहा है 

ताइवान की यात्रा पर आईं अमेरिकी स्पीकर पेलोसी ने इस दौरान एक संबोधन में कहा -अमेरिका ने हमेशा ताइवान के साथ खड़े रहने का वादा किया है । इस मजबूत नींव पर, हमारी आर्थिक समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध क्षेत्र और दुनिया में पारस्परिक सुरक्षा पर केंद्रित स्व-सरकार और आत्मनिर्णय पर आधारित एक संपन्न साझेदारी है । ताइवान में लोकतंत्र फल-फूल रहा है । ताइवान ने दुनिया को साबित किया है कि चुनौतियों के बावजूद अगर आशा, साहस और दृढ़ संकल्प है तो आप समृद्ध भविष्य का निर्माण कर सकते हैं । ताइवान के साथ अमेरिका की एकजुटता महत्वपूर्ण है । आज हम यही संदेश लेकर आए हैं। 

मुलाकात से मैं खुश हूं - ताइवान की राष्ट्रपति

विदित हो कि  नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे के बाद विश्व की दो महाशक्तियां चीन और अमेरिका आमने-सामने आ गए हैं । हालांकि इस मुलाकात के दौरान ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग वेन ने कहा कि "मैं अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी का हार्दिक स्वागत करती हूं । उपराष्ट्रपति और मुझे स्पीकर द्वारा अमेरिका-ताइवान संबंधों को लेकर फोन आते रहते हैं । हमारी इस मुलाकात के लिए मैं खुश हूं । पेलोसी वास्तव में ताइवान के सबसे समर्पित मित्रों में से एक हैं । ताइवान के लिए अमेरिकी ग्रेस के कट्टर समर्थन को प्रदर्शित करने के लिए ताइवान की यह यात्रा करने के लिए हम आपके आभारी हैं। वह बोलीं - हम अपने देश की संप्रभुता को मजबूती से बनाए रखेंगे और रक्षा रेखा को बनाए रखेंगे । साथ ही, हम लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा के लिए दुनिया भर के सभी लोकतंत्रों के साथ सहयोग और एकता के साथ काम करना चाहते हैं ।   


त्साई वेन ने की शांति की अपील 

नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा से नाराज चीन लगातार आक्रामक बयानबाजी कर रहा है । इससे इतर , ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा - हम ताइवान में शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं । ताइवान एक स्वतंत्र और खुले इंडो-पैसिफिक को सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्रीय सुरक्षा तौर पर एक प्रमुख स्थिर शक्ति बन सकता है । 

चीन बौखलाया - युद्ध अभ्यास शुरू 

बहरहाल , चीन और ताइवान के बीच जारी गतिरोध बढ़ने के साथ ही अब एक नया युद्ध होता नजर आ रहा है । बुधवार को अमेरिकी स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान पहुंचते ही चीन ने आक्रमक रुख अपनाते हुए ताइवान बॉर्डर पर युद्ध अभ्यास शुरू कर दिया । इतना ही नहीं अमेरिका को भी अंजाम भुगतने की धमकी दी है । इसके साथ ही चीन ने ताइवान क्षेत्र से खट्टे फलों के साथ ही कई अन्य चीजों के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है ।

Todays Beets: