Saturday, January 29, 2022

Breaking News

   बिहार: खान सर के समर्थन में उतरे पप्पू यादव, बोले- शिक्षकों पर केस दुर्भाग्यपूर्ण     ||   पंजाब: राहुल गांधी ने स्वर्ण मंदिर में माथा टेका, CM चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू भी साथ     ||   UP: मथुरा में बोले गृह मंत्री अमित शाह- माफिया पर कार्रवाई से अखिलेश को दर्द हुआ     ||   सीएम योगी का सपा पर तंज- जो लोग फ्री बिजली देने की बात कर रहे, उन्होंने UP को अंधेरे में रखा     ||   अरुणाचल प्रदेश से कई दिनों से लापता छात्र चीनी सेना को मिला, भारतीय सेना को दी गई जानकारी     ||   हैदराबाद: उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव, एक हफ्ते तक आइसोलेशन में रहेंगे     ||   नेताजी की प्रतिमा का पीएम मोदी ने किया अनावरण, कहा- हमारे सामने नए भारत के निर्माण का लक्ष्य     ||   'यूपी में सबसे ज्यादा महिलाएं असुरक्षित हैं', अखिलेश यादव का बीजेपी पर अटैक     ||   दुख की बात है कि हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी, उसे आज बुझा दिया जाएगा- राहुल गांधी     ||   चन्नी चमकौर साहिब से चुनाव हार रहे हैं, ED को गड्डी गिनता देख लोग सदमे में हैं- अरविंद केजरीवाल     ||

सुप्रीम कोर्ट पहुंचा पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला , पंजाब सरकार ने उच्च स्तरीय जांच कमेटी गठित की

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सुप्रीम कोर्ट पहुंचा पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला , पंजाब सरकार ने उच्च स्तरीय जांच कमेटी गठित की

नई दिल्ली । पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है । पंजाब सरकार और पंजाब पुलिस की लापरवाही के चलते पीएम मोदी के काफिले को फिरोजपुर के करीब रोकने और उनके वाहनों के करीब आकर प्रदर्शनकारियों के नारेबाजी करने के मामले में जुड़ी एक पीआईएल ( PIL ) सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई है । इस याचिका पर संभावना जताई जा रही है कि कल यानी शुक्रवार को सुनवाई हो सकती है । इससे इतर , गृहमंत्रालय के आदेश के बाद पंजाब सरकार ने भी एक उच्च स्तरीय जांच कमेटी गठन करने की बात कही है । कहा जा रहा है कि यह कमेटी तीन दिन के भीतर अपनी जांच रिपोर्ट पंजाब सरकार को सौंपेगी । इसके बाद पंजाब सरकार अपनी रिपोर्ट केंद्रीय गृहमंत्रालय को सौंपेगी । 

विदित हो कि एक चुनावी रैली में शामिल होने के लिए पीएम मोदी बुधवार को पंजाब में थे । वहां मौसम खराब होने के कारण उन्हें रैली स्थल तक सड़क मार्ग से जाना पड़ा। इस दौरान कुछ किसानों ने उनका रास्ता रोका और उन्हें 20 मिनट तक एक फ्लाइओवर पर ही रुकना पड़ा । इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारी किसान उनकी कार के करीब भी आ गए थे । इसे पीएम मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक माना गया , जिसके चलते गृहमंत्रालय ने पंजाब सरकार को इस बड़ी चूक से संबंधित जांच रिपोर्ट देने को कहा था । 


इस मामले में अब ताजा अपडेट यह है कि पंजाब सरकार ने इस मामले में एक उच्च स्तरीय जांच कमेटी गठित कर दी है , जो इस मामले की गहनता से जांच करेगी । हालांकि इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा था कि उनकी ओर से पीएम मोदी की सुरक्षा में कोई चूक नहीं की गई है । वह खुद मामले को देख रहे थे , बावजूद इसके अगर कोई चूक हुई तो हम इसकी जांच करवाएंगे । हालांकि इस आधिकारिक बयान से इतर , चन्नी का एक बयान यह भी आया था कि पीएम मोदी की रैली में सिर्फ 700 लोग ही पहुंचे थे , जबकि 70 हजार लोगों की व्यवस्था की गई थी । अंतिम समय में पीएम मोदी के काफिले को बदला गया , जिसके चलते प्रदर्शनकारियों को हटाने में थोड़ा समय लग गया । 

इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक PIL दाखिल की गई है , जिसकी सुनवाई शुक्रवार को होने की उम्मीद है । 

Todays Beets: