Thursday, June 30, 2022

Breaking News

   मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, कुलगाम में बैंक मैनेजर की हत्या में शामिल था: IGP कश्मीर     ||   जालंधर: अरविंद केजरीवाल के दौरे से पहले दीवारों पर लिखे मिले खालिस्तान के सपोर्ट वाले स्लोगन     ||   पुलिस लॉरेंस बिश्नोई को लेकर मोहाली पहुंची, अज्ञात जगह हो रही पूछताछ     ||   राष्ट्रपति चुनाव: ममता बनर्जी की मीटिंग में जाएंगे मल्लिकार्जुन खड़गे और जयराम रमेश     ||   दिल्ली: कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उग्र प्रदर्शन, बैरिकेड तोड़े, टायर जलाए     ||   सुवेंदु अधिकारी समेत निलंबित भाजपा विधायकों ने पश्चिम बंगाल विधानसभा में धरना दिया     ||   18 जून को 100 साल की हो जाएंगी नरेंद्र मोदी की मां हीराबा, मिलने जाएंगे पीएम     ||    रोडरेज मामले में सिद्धू को 1 साल कठोर कारावास की सजा, SC ने 34 साल पुराने केस में सुनाई सज़ा    ||   बिहार विधानसभा में कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा, CPI-ML के 12 विधायकों को किया गया बाहर     ||   गौतमबुद्ध नगर के तीनों प्राधिकरणों के 49,500 करोड़ नहीं चुका रहीं रियल एस्टेट कंपनियां     ||

PM मोदी बोले - शुरू में कुछ फैसले अप्रिय लगते हैं, लेकिन बाद में देश उन फैसलों का लाभ अनुभव करता है

अंग्वाल न्यूज डेस्क
PM मोदी बोले - शुरू में कुछ फैसले अप्रिय लगते हैं, लेकिन बाद में देश उन फैसलों का लाभ अनुभव करता है

बेंगलुरु । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को दो दिवसीय कर्नाटक दौरे पर बेंगलुरू पहुंचे । इस दौरान पीएम ने 28,000 करोड़ रुपये से अधिक की रेल और सड़क बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया । पीएम मोदी ने इस दौरान एक जनसभा को संबोधित करते हुए देशभर में अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) के खिलाफ प्रदर्शनों (Protest) और विपक्ष की कड़ी आलोचना पर अपनी बात रखी । वह बोले सुधार का मार्ग ही हमें नए लक्ष्यों और नए संकल्प की ओर ले जा सकता है । सुधार अस्थायी रूप से अप्रिय लग सकते हैं, लेकिन समय गुजरने के साथ फायदेमंद होंगे । उन्होंने अग्निपथ योजना का नाम लिए बगैर लिए कहा, ''शुरू में कुछ फैसले अप्रिय लगते हैं, लेकिन बाद में देश उन फैसलों का लाभ अनुभव करता है, ये फैसले राष्ट्र के निर्माण में मदद करते हैं । इसी क्रम में पीएम मोदी ने देर शाम मैसूर में भी एक जनसभा को संबोधित किया । 

 

युवाओं के सपने का शहर है बेंगलुरु

बेंगलुरु ने ये दिखाया है कि सरकार अगर सुविधाएं दे और नागरिक के जीवन में कम से कम दखल दे, तो भारतीय युवा क्या कुछ नहीं कर सकते हैं। बेंगलुरु, देश के युवाओं के सपनों का शहर है और इसके पीछे उद्यमशीलता है, इनोवेशन है, पब्लिक के साथ ही प्राइवेट सेक्टर की सही उपयोगिता है । बीते दशकों में देश में कितनी बिलियन डॉलर कंपनियां बनी हैं, आप उंगलियों पर गिन सकते हैं। लेकिन पिछले 8 साल में 100 से अधिक बिलियन डॉलर कंपनियां खड़ी हुई हैं, जिसमें हर महीने नई कंपनियां जुड़ रही हैं । 


बेहतर कनेक्टिविटी से जोड़ना को हमारी सरकार प्रतिबद्ध

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि बेंगलुरु को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए रेल, रोड, मेट्रो, अंडरपास, फ्लाईओवर, हर संभव माध्यमों पर डबल इंजन की सरकार काम कर रही है । बेंगलुरु के जो उपनगरीय इलाके हैं, उनको भी बेहतर कनेक्टिविटी से जोड़ने के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध है । भारतीय रेल अब तेज भी हो रही है, स्वच्छ भी हो रही है, आधुनिक भी हो रही है, सुरक्षित भी हो रही है और नागरिक हितैषी भी बन रही है । हमने देश के उन हिस्सों में भी रेल को पहुंचाया है, जहां इसके बारे में कभी सोचना भी मुश्किल था ।  

हम लगातार सुधार के लिए काम कर रहे हैं

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने इस दौरान कहा - मेरा साफ मानना है, उपक्रम चाहे सरकारी हो या फिर प्राइवेट, दोनों देश के संपत्ति हैं, इसलिए मैदान सबको बराबर मिलना चाहिए, यही सबका प्रयास है ।  हमारी सरकार सुधार के लिए लगातार काम कर रही है। इस दौरान उन्होंने अग्रिपथ स्कीम को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन पर अप्रत्यक्ष तंज कसते हुए कहा कि कई फैसले शुरू में अप्रिय लगते हैं, लेकिन बाद में देश उन फैसलों का लाभ अनुभव करता है ।  पीएम ने कहा कि कर्नाटक में 5 नेशनल हाईवे प्रोजेक्ट्स, 7 रेलवे प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास किया गया है । कोंकण रेलवे के शत प्रतिशत बिजलीकरण के महत्वपूर्ण पड़ाव के हम साक्षी बने हैं. ये सभी प्रोजेक्ट कर्नाटक के युवाओं, मध्यम वर्ग, किसानों, श्रमिकों, उद्यमियों को नई सुविधा देंगे । 

समाज के हर वर्ग को छूने की योजनाएं

इसके बाद मैसूर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी बोले - बीते 8 वर्षों में हमारी सरकार ने जो योजनाएं बनाईं उनमें इस भावना को प्राथमिकता दी गई कि वो समाज के सभी वर्गों, सभी क्षेत्रों को छूएं, उन तक पहुंचें। एक तरफ हमने स्टार्ट अप पॉलिसी के तहत युवाओं को Incentives दिए  तो वहीं किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा भी दे रहे हैं । हमारी सरकार लगातार प्रयास कर रही है कि हमारे दिव्यांग साथियों की दूसरों पर निर्भरता कम से कम हो। इसलिए हमारी करेंसी में, सिक्कों में दिव्यांगों की सुविधा के लिए नए फीचर जोड़े गए हैं। देश भर में दिव्यांगों की पढ़ाई से जुड़े कोर्स को अधिक समृद्ध किया जा रहा है ।  

Todays Beets: