Sunday, February 5, 2023

Breaking News

   Supreme Court: कलेजियम की सिफारिशों को रोके रखना लोकतंत्र के लिए घातक: जस्टिस नरीमन     ||   Ghaziabad: NGT के फैसले पर नगर निगम को SC की फटकार, 1 करोड़ जमा कराने की शर्त पर वूसली कार्रवाई से राहत     ||   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||

घुटनों पर आए पाकिस्तानी पीएम! , मोदी से की अपील – अब हम शांति चाहते हैं , हमें सबक मिल गया है

अंग्वाल न्यूज डेस्क
घुटनों पर आए पाकिस्तानी पीएम! , मोदी से की अपील – अब हम शांति चाहते हैं , हमें सबक मिल गया है

न्यूज डेस्क । पाकिस्तान इन दिनों आर्थिक तंगी से गुजर रहा है । आलम यह है कि पड़ोसी देश के वजीर- ए – आजम शहबाज शरीफ इन दिनों दुनिया भर के मुल्कों से आर्थिक मदद की गुहार लगा रहे हैं । इस सबके बीच उनके सुर बदले बदले नजर आ रहे हैं । यूएई के एक चैनल अल अरबिया को दिए इंटरव्यू में वह पीएम मोदी से आपसी रिश्तों को सुधारने के लिए बातचीत करने की गुहार लगाते नजर आए । उन्होंने इस दौरान कहा कि मैं पीएम मोदी तक संदेश पहुंचाना चाहता हूं कि भारत के साथ तीन युद्धों ने हमें कंगानी , गरीबों और बेरोजगारी दी है । अब हम अपना सबक सीख चुके हैं , अब हम शांति से रहना चाहते हैं ।   

मोदी से हर समस्या पर बात को तैयार हैं हम

अल अरबिया को दिए इंटरव्यू में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के सुर काफी बदले हुए थे । उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हर समस्या से बातचीत के लिए तैयार होने की बात भी कही । वह बोले – हम हमारी समस्याओं को खत्म करने के लिए तैयार हैं ।  प्रधानमंत्री मोदी को मेरा संदेश है कि चलिए बैठते हैं और बात करते हैं. पाकिस्तान नहीं चाहता कि हम हमारे संसाधनों को बम और बारूद बनाने में खर्च करें ।

तीन युद्धों से कंगाली गरीबी मिली


वह बोले - मैं पीएम मोदी से अपील करता हूं कि हमें बातचीत की मेज पर बैठकर हर मुद्दे को हल करने की कोशिश करनी चाहिए । हम पड़ोसी हैं ।  यह हमारे ऊपर है कि हम शांति से रहें ।  प्रगति करे या फिर एक दूसरे से लड़ाई करें और समय-संसाधनों को बर्बाद करें ।  उन्होंने आगे कहा, ''हम भारत के साथ तीन युद्ध लड़ चुके हैं और यह हर बार और कंगाली, गरीबी और लोगों के लिए बेरोजगारी लाया है । हम अपना सबक सीख चुके हैं ।

लेकिन न्यूक्लियर पावर का फिर किया जिक्र

भले ही शहबाज शरीफ अपने इस इंटरव्यू में पूरी तरह सरेंडर करते दिखे , लेकिन बावजूद इसके उन्होंने न्यूक्लियर पावर होने की बात फिर उठाई । वह बोले - "हम परमाणु शक्तियां हैं, हथियारों से लैस हैं और अगर भगवान न करे कि युद्ध छिड़ जाए तो जो हुआ उसे बताने के लिए कौन जीवित रहेगा । मैंने प्रेसिडेंट मोहम्मद बिन जायद से कहा है कि आप भारत और पाकिस्तान के बीच अहम रोल अदा कर सकते हैं ।

Todays Beets: