Tuesday, November 24, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

मोहन भागवत ने जताई हिंसा बढ़ने की आशंका , राहुल गांधी बोले - सच आप भी जानते हैं 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मोहन भागवत ने जताई हिंसा बढ़ने की आशंका , राहुल गांधी बोले - सच आप भी जानते हैं 

नई दिल्ली । राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत ने विजयादशमी के मौके पर शस्त्र पूजा के बाद देश की मौजूदा स्थिति पर अपनी चिंता व्यक्त की । उन्होंने कोरोना महामारी के चलते रोजगार के अवसरों पर चिंता जताते हुए कहा कि आने वाले दिनों में हिंसा बढ़ने की आशंका है । महामारी के कारण रोजगार के नए अवसर पैदा करना एक चुनौती है ।  इस परिस्थिति में बहुत परिवारों में निराशा और तनाव पैदा हो रहा है। इससे अपराध बढ़ने की आशंका है । ऐसे में इस दिशा में काम किए जाने की जरूरत है । अब समाज के दूसरे अंगों को भी इस दिशा में काम करना पड़ेगा । वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उनके भाषण पर तंज कसते हुए कहा कि सच आप भी जानते हैं । राहुल गांधी ने एक ट्वीट परर रीट्वीट करते हुए कहा कि कहीं न कहीं भागवत सच्चाई जरूर जानते हैं, लेकिन वे इसका सामना करने में डरे हुए हैं । 

नागपुर में क्या बोले भागवत

विजयदशमी के मौके पर नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले - दुनिया के दूसरे साधन संपन्न देशों के मुकाबले भारत में कोरोना से नुकसान कम हुआ , क्योंकि हमारे शासन-प्रशासन से इसका पहले से अनुमान किया और जनता को चेताया ।  शासन ने जनता को न सिर्फ चेताया बल्कि नियम कायदे भी लागू कराए, इससे हमारे यहां अपेक्षाकृत नुकसान कम हुआ । 

मजदूरों के फिर से पलायन पर जताई चिंता

उन्होंने कहा कि एक बार फिर से गांव देहात से मजदूरों का मेट्रो शहरों की ओर पलायन तेज हो गया है । कई मजदूर वापस आ रहे हैं ये अपना रोजगार छोड़कर, बंद कर गए थे, लेकिन वापस आने के बाद इन्हें रोजगार मिलेगा ऐसा नहीं है । ऐसी भी आशंका है कि इन मजदूरों को अपना रोजगार बदलना पड़े। इन लोगों को अब नए रोजगार का प्रशिक्षण लेना पड़ेगा । जो अपने गांव में हैं, या अपने आस-पास के शहरों में काम करना चाहते हैं उनके लिए भी रोजगार की समस्या है ।  इन्हें रोजगार चाहिए और रोजगार का प्रशिक्षण भी चाहिए । इसके लिए रोजगार का सृजन जरूरी है ।  

दशहरे पर अगर ये चीजें दिखें तो समझो पलटने वाली है किस्मत , कष्ट होंगे दूर मुरादें होंगी पूरी

मजदूरों के पास न रोजगार न पैसा 


भागवत ने इस दौरान कहा कि जो मजदूर यहां से वापस अपने गांवों को चले गए थे एक बार फिर से वह शहरों की ओर लगातार जा रहे हैं । हालांकि इन लोगों के पास न तो कोई रोजगार है न ही रकम । ये लोग अपने बच्चों की स्कूल की फीस तक देने में अक्षम हैं । 

राहुल गांधी का हल्ला बोल

नागपुर में मोहन भागवत के बयान के बाद राहुल गांधी ने मोदी सरकार और संघ प्रमुख पर निशाना साधते हुए कहा चीन ने हमारी जमीन हथिया ली है । भारत सरकार और आरएसएस ने ऐसा होने की अनुमति दी है।  राहुल गांधी का यह बयान ऐसे समय में आया जब भागवत ने नागपुर में अपने भाषण के दौरान कहा था कि कोरोना काल में चीन ने अपने सामरिक बल के गर्व में...अभिमान में अपनी सीमाओं का जो अतिक्रमण किया...और जिस प्रकार का व्यवहार किया और कर रहा है...केवल हमारे साथ नहीं...सारी दुनिया के साथ...वो तो सारी दुनिया के सामने स्पष्ट है ।"

मध्य प्रदेश में उपचुनावों से पहले कांग्रेस को फिर झटका , विधायक ने पार्टी छोड़ भाजपा का कमल पकड़ा

Todays Beets: