Thursday, February 25, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

भारत - रूस की दोस्ती तोड़ने की साजिश में जुटे चीन को करारा झटका , पुतिन बोले - नए साल में संबंधों को और मजबूत बनाएंगे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारत - रूस की दोस्ती तोड़ने की साजिश में जुटे चीन को करारा झटका , पुतिन बोले - नए साल में संबंधों को और मजबूत बनाएंगे

नई दिल्ली । भारत के विश्व में बढ़ते दबदबे से आहत चीन को एक बार फिर से जोर का झटका लगा है । जो चीन पिछले कुछ समय से भारत - रूस के संबंधों को खराब करने की कोशिश में जुटा है , उसे करारा जवाब खुद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने दिया है । उन्होंने भारत - रूस के बीच द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने की वकालत करते हुए कहा है कि नए साल में संबंधों को और मजबूत करने की दिशा में कदम उठाए जाएंगे । पुतिन ने चीन की उम्मीदों को झटका देते हुए कहा कि रूस और भारत क्षेत्रीय एवं वैश्विक एजेंडों से संबंधित सामयिक मुद्दों के समाधान के प्रयासों के साथ-साथ द्विपक्षीय सहयोग को आगे बढ़ाने की दिशा में कार्य जारी रखेंगे । 

बता दें कि हाल के दिनों में अपनी साजिशों को अंजाम देने के बीच चीन ने भारत और रूस के संबंधों को लेकर बयान दिया था कि दोनों देशों में खटास आ गई है । लेकिन चीन की साजिशों और उसकी मंशाओं को झटका देते हुए खुद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने भारतीय राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को क्रिसमस एवं नववर्ष शुभकामना देते हुए कहा कि रूस और भारत विशेषाधिकार प्राप्त रणनीतिक साझेदारी के संबंधों से जुड़े हैं । जो कोरोना वायरस महामारी सहित तमाम परेशानियों एवं समस्याओं के बावजूद पूरे विश्वास के साथ प्रगति कर रहे हैं।  


विदित हो कि पुतिन ने जोर देते हुए कहा कि दोनों देश व्यापक राजनीतिक संवाद बरकरार रखते हैं और विभिन्न क्षेत्रों में संयुक्त परियोजनाओं के पक्षधर हैं ।  उन्होंने उम्मीद जताई कि नए साल में रूस और भारत रचनात्मक द्विपक्षीय सहयोग के साथ-साथ क्षेत्रीय और वैश्विक एजेंडे पर सामयिक मुद्दों के समाधान के लिए समन्वित प्रयासों की दिशा में काम करना जारी रखेंगे। 

असल में कोरोना के दौरान भारत-रूस शिखर सम्मेलन रद्द होने के बाद से दोनों देशों के रिश्तों पर चीन ने सवाल उठाए थे । चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स (Global Times) ने इस मुद्दे को आधार बनाकर भारत और रूस के बीच जहर घोलने का प्रयास भी किया था ।  अखबार के संपादकीय में लिखा गया था कि साल 2000 के बाद यह पहला मौका है जब भारत और रूस (India-Russia) के बीच शिखर सम्मेलन को टाला गया । इससे दोनों देशों के रिश्तों में दरार का स्पष्ट संकेत मिलता है । 

Todays Beets: