Sunday, August 14, 2022

Breaking News

   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||   अगले साल अंतरिक्ष जाएंगे भारतीय , एक या दो भारतीयों को भेजने की योजना है     ||   कोरोना से 24 घंटे में 16678 लोग हुए संक्रमित     ||   उद्धव ठाकरे ने विधायकों को लिखी भावुक चिट्ठी     ||   सुप्रीम कोर्ट मे विजय माल्या का बड़ा झटका, अवमानना मामले में दोषी करार     ||   सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र में विधायकों की अयोग्यता पर फैसला लेने से स्पीकर को रोका     ||   मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, कुलगाम में बैंक मैनेजर की हत्या में शामिल था: IGP कश्मीर     ||

श्रीलंका - राष्ट्रपति गोटबाया देश छोड़ भागे , लाखों की गुस्साए भीड़ सड़कों पर सेना से भिड़ी , देश में लगाई गई इमरजेंसी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
श्रीलंका - राष्ट्रपति गोटबाया देश छोड़ भागे , लाखों की गुस्साए भीड़ सड़कों पर सेना से भिड़ी , देश में लगाई गई इमरजेंसी

नई दिल्ली । Sri Lanka Crisis । श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे बुधवार सुबह चुपचाप अपने सुरक्षाकर्मियों के साथ देश छोड़कर चले गए । ऐसी खबरें हैं कि वह मालदीव के एक टापू पर गए हैं । इस खबर के श्रीलंका में फैलने के साथ ही लाखों की संख्या में भीड़ बुधवार सुबह सड़कों पर उतर आई । शुरुआत में इन लोगों को रोकने के लिए सेना ने बैरिकेडिट की , लेकिन गुस्साए और भूखे इन लोगों ने इन बैरिकेडिट को तोड़ दिया । इस दौरान ये प्रदर्शनकारी सेना से भिड़ गए । सेना ने इनपर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले और रबड़ की गोलियां भी चलाईं , लेकिन हजारों की संख्या में भीड़ को देखते हुए सेना ने अब अपने हथियार नीचे कर दिए हैं । 

देश में इमरजेंसी लागू

जहां एक भीड़ प्रधानमंत्री भवन की ओर आगे बढ़ रही है , वहीं कोलंबो में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भवन को कड़ी सुरक्षा के घेरे में ले लिया है , लेकिन कई लोग पीएम हाउस की दीवारों पर चढ़ गए हैं । इस भीड़ की मांग है कि प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे अपने पद से इस्तीफा दें। इस सबके बाद अभी अभी खबर सामने आई है कि राष्ट्रपति के देश छोड़कर भागने के बाद अब स्पेशल फोर्स ने मोर्चा संभाल लिया है , साथ ही देश में एमरजेंसी लागू कर दी गई है , जिसके बाद प्रदर्शनकारियों और लोगों के कई अधिकार भी खत्म हो गए हैं । अब ऐसे में सेना क्या रुख अपनाती है , इस पर नजर रखी जा रही है । 

पीएमओ ने की गोयाबाया के देश छोड़ने की पुष्टि

बता दें कि श्रीलंका (Sri Lanka) के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) देश से फरार होकर मालदीव पहुंच गए हैं । श्रीलंका के प्रधानमंत्री कार्यालय ने गोटाबाया के देश छोड़ने की पुष्टि की है । रक्षा अधिकारियों का कहना है कि राजपक्षे ने उनसे कल रात एक विमान के लिए अनुरोध किया था और वे उन्हें एक विमान प्रदान करने के लिए "बाध्य" थे । राजपक्षे राष्ट्रपति के रूप में रक्षा बलों के सर्वोच्च कमांडर बने हुए हैं । प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे के कार्यालय ने भी इस बात की पुष्टि की है कि राष्ट्रपति देश छोड़कर जा चुके हैं । इस ऐलान के बाद श्रीलंका में भीड़ हिंसा भड़क गई । राष्ट्रपति के देश छोड़ने की खबरें मिलने के बाद शुरू में हजारों की भीड़ सड़कों पर उतर आई । इस दौरान सड़कों पर एक बार फिर हिंसा देखने को मिली । हालांकि लगातार भीड़ बढ़ती गई और यह भीड़ लाखों के करीब पहुंच गई है । 

पीएम आवास पर चढ़े प्रदर्शनकारी

इस हंगामे के बीच हजारों की संख्या में भीड़ पीएम आवास के बाहर पहुंची । ये लोग पीएम आवास की दीवारों पर चढ़ गए , धीरे धीरे सैकड़ों लोग अंदर पहुंच गए , जिसके बाद सेना ने एक्शन लेते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े  जिसके बाद वहां भगदड़ मच गई । हजारों की संख्या में पीएम आवास के करीब पहुंचे कई युवा इस आंसू गैस से प्रभावित नजर आएं । 

मालदीप में हुआ राष्ट्रपति का स्वागत


इससे इतर , स्पीकर ने बताया कि अभी तक श्रीलंका के राष्ट्रपति की तरफ से इस्तीफे का पत्र नहीं भेजा गया है । मालदीव (Maldives) सरकार के प्रतिनिधियों ने माले (Male) के वेलाना एयरपोर्ट (Velana airport ) पर उनका स्वागत किया ।  आज उन्हें अपनी घोषणा के मुताबिक इस्तीफा देना था ।राष्ट्रपति राजपक्षे, उनकी पत्नी और दो अंगरक्षक कल रात कोलंबो इंटरनेशल एयपोर्ट (Colombo International Airport) से से माले जाने वाले सैन्य विमान (Military Aircraft) में सवार हुए ।  खबर है कि उनके छोटे भाई और पूर्व वित्त मंत्री (Finance Minister) बेसिल राजपक्षे (Basil Rajapaksa) भी देश छोड़कर जा चुके हैं । माले में एयरपोर्ट के एक अधिकारी ने बताया कि मालदीव पहुंचने पर राष्ट्रपति राजपक्षे, उनकी पत्नी और अंगरक्षकों को पुलिस सुरक्षा में एक अज्ञात स्थान पर ले जाया गया। 

भारतीय उच्चायोग ने इन खबरों का किया खंडन

कोलंबो में भारतीय उच्चायोग ने खबरों का खंडन किया जिनमें कहा गया था कि भारत ने राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और उनके भाई बेसिल राजपक्षे की भागने में मदद की है । उच्चायोग ने इन खबरों को निराधार बताया, साथ ही कहा कि भारत श्रीलंका के लोगों का समर्थन करना जारी रखेगा , क्योंकि वे लोकतांत्रिक साधनों और मूल्यों, स्थापित लोकतांत्रिक संस्थानों और संवैधानिक ढांचे के माध्यम से समृद्धि और प्रगति के लिए अपनी आकांक्षाओं को साकार करना चाहते हैं । 

आज देना है राष्ट्रपति को इस्तीफा

गोटबाया राजपक्षे ने बुधवार को इस्तीफा देने और "सत्ता के शांतिपूर्ण परिवर्तन" का रास्ता साफ करने का वादा किया था । श्रीलंका के राजनीतिक दलों ने सर्वदलीय सरकार बनाने के प्रयास तेज कर दिए हैं और 20 जुलाई को नए राष्ट्रपति का चुनाव होना है ।

श्रीलंका आर्थिक संकट से जूझ रहा 

विदित हो कि इस समय श्रीलंका के पास सबसे जरूरी वस्तुओं के आयात के लिए भी विदेशी मुद्रा समाप्त हो गई है, जिससे उसके 22 मिलियन लोगों के लिए गंभीर कठिनाइयां पैदा हो गई हैं । देश अप्रैल में अपने 51 अरब डॉलर के विदेशी कर्ज के भुगतान में चूक गया और संभावित राहत के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) के साथ बातचीत कर रहा है । 

 

Todays Beets: