Friday, February 26, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडेन ने चीन को सुनाई खरी-खरी , दी कड़ी कार्रवाई की चेतावनी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडेन ने चीन को सुनाई खरी-खरी , दी कड़ी कार्रवाई की चेतावनी

नई दिल्ली । अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) ने अपने कार्यकाल के शुरुआती दिनों में ही जहां भारत को अपना घनिष्ठ सहयोगी करार दिया है , वहीं अब चीन को कड़ा संदेश देते हुए अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को चौंका दिया है । चीन को कड़ा संदेश देते हुए अमेरिका ने कहा कि वह चुनौतियों का सामना करने के लिए वह तैयार हैं । अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि चीन द्वारा पेश की जाने वाली चुनौतियों का अमेरिका सीधे तौर पर सामना करेगा, लेकिन साथ ही देश हित में बीजिंग के साथ मिलकर काम करने से भी नहीं कतराएगा । 

बता दें कि अमेरिका में ट्रंप सरकार जाने के साथ ही इस बात की आशंका जताई जा रही थी कि नवनियुक्त राष्ट्रपति जो बाइडेन की सरकार में भारत के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार किया जाएगा । हालांकि बाइडेन ने अपने पहले संबोधन में ही भारत को अपनी करीबी सहयोगी करार दिया । इसके बाद अब चीन पर दंडात्मक कार्रवाई की चेतावनी दिए जाने से कई देश सकते  में हैं।  

असल में जो बाइडेन ने विदेश मंत्रालय के कर्मचारियों को ‘फॉगी बॉटम’ मुख्यालय में संबोधित करते हुए कहा, 'हम चीन द्वारा आर्थिक शोषण का मुकाबला करेंगे । उन्होंने कहा कि वह मानवाधिकारों, बौद्धिक सम्पदा और वैश्विक शासन पर चीन के हमले को कम करने के लिए दंडात्मक कार्रवाई करेंगे ।'


बाइडेन ने कहा - अमेरिका के हित की बात आती है तो हम बीजिंग के साथ मिलकर काम करने को भी तैयार हैं । हम अपने सहयोगियों तथा भागीदारों के साथ काम करके, अंतरराष्ट्रीय संस्थानों में अपनी भूमिका को नया रूप देकर, हमारी विश्वसनीयता एवं नैतिक अधिकार को पुनः प्राप्त करते हुए, देश के अंदर स्थिति बेहतर बनाने के लिए काम करेंगे ।'

वह बोले - 'हमने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अमेरिका की भागीदारी बहाल करने और साझा चुनौतियों पर वैश्विक कार्रवाई को उत्प्रेरित करने की खातिर नेतृत्व की स्थिति में आने के लिए काम शुरू कर दिया ।

Todays Beets: