Thursday, February 25, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सत्ता संभालते ही भारत को दिया बड़ा तौहफा , मोदी विरोधियों की हुई बोलती बंद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सत्ता संभालते ही भारत को दिया बड़ा तौहफा , मोदी विरोधियों की हुई बोलती बंद

नई दिल्ली  । भारी विवादों के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति पद पर बैठने वाले जो बाइडेन ने अपने कार्यकाल के शुरुआती दिनों में ही भारत की मोदी सरकार की ओर दोस्ती का हाथ बढ़ाया है । अपनी इस दोस्ती की शुरुआत में अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपना सबसे अत्याधुनिक युद्धक विमान एफ-15ईएक्स भारत को देने की मंजूरी दी है । इस सबके चलते अब जल्द ही भारत को अमेरिका का यह घातक युद्धक विमान मिल सकेगा ।  यह बहुउद्देश्यीय विमान हर मौसम में मार करने में सक्षम है ।  दिन हो या रात हर समय उड़ान भरने और दुश्‍मन को निशाना बनाने की कम्‍बैट क्षमताओं से लैस है । बोइंग इंटरनेशनल ने इस बात की पुष्टि की है । 

बता दें कि भारत के कई पड़ोसी देश अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के हारने के बाद इसे भारत के लिए एक बड़ा झटका मान रहे थे और  उनका मानना था कि नवनियुक्त राष्ट्रपति डो बाइडेन , जो भारत की कई नीतियों और फैसलों से नाराज थे , भारत के खिलाफ अपना कड़ा रुख अख्तियार करेंगे । 

हालांकि अब हुआ इससे बिल्कुल इतर है । जो बाइडेन ने अपने शपथ ग्रहण के साथ ही कहा कि वह भारत सरकार के साथ आगे भी मधुर रिश्तों की चाहत रखते हैं । भारत उनका एक करीबी सहयोगी है और इस दिशा में वह लगातार काम करते रहेंगे । उस दौरान तो बाइडेन के भाषण ने भारत विरोधियों की बोलती बंद कर दी थी , लेकिन अब अमेरिकी राष्ट्रपति के एक फैसले ने इन भारत विरोधी देशों की पोल भी खोल दी है।


बोइंग इंटरनेशनल सेल्स ऐंड इंडस्ट्रियल पार्टनरशिप्स की उपाध्यक्ष मारिया एच लैने ने इस बात की पुष्टि है कि इस युद्धक विमान को लेकर भारत और अमेरिका (India-America) की सरकारों के बीच चर्चा हुई । दोनों देशों की वायु सेनाओं ने एफ-15ईएक्स के बारे में सूचनाओं का आदान-प्रदान किया । उन्होंने आगे कहा, 'अमेरिकी सरकार ने भारत को एफ-15ईएक्स विमान देने के हमारे लाइसेंस संबंधी अनुरोध को स्वीकार कर लिया है ।

विदित हो कि बोइंग (Boeing) ने अपने बयान में कहा, 'अगले हफ्ते बेंगलुरु में शुरू हो रहे एयरो इंडिया 2021 (Aero India 2021) में एफ-15ईएक्स विमान को प्रदर्शित किया जाएगा । बता दें कि एफ-15ईएक्स विमान (F15EX Combat Aircraft) एफ-15 (F15) विमानों की सीरीज का अपग्रेडेड वर्जन है । 

 

Todays Beets: