Saturday, January 16, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

आर्मी चीफ नरवणे बोले - पाक- चीन की साठगांठ बड़ा शक्तिशाली खतरा , टकराव की आशंका

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आर्मी चीफ नरवणे बोले - पाक- चीन की साठगांठ बड़ा शक्तिशाली खतरा , टकराव की आशंका

नई दिल्ली । भारतीय थलसेना के आर्मी चीफ एमएस नरवणे ने पाकिस्तान और चीन की साठगांठ और भारत को लेकर जारी साजिशों पर चिंता जताते हुए कहा कि यह दोनों मिलकर भारत के लिए एक शक्तिशाली खतरा पैदा करते हैं । आर्मी चीफ ने अपने वार्षिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारतीय सेनाओं के लिए पिछला साल चुनौतियों से भरा था. । जहां सीमा पर तनाव था , वहीं कोरोना संक्रमण का भी खतरा था, लेकिन सेना ने इसका कामयाबी से सामना किया है। उन्होंने कहा कि आने वाली किसी भी चुनौती के लिए हमारी तैयारी बेहद उच्च कोटि की है और हमारी सेना का मनोबल ऊंचा है । 

आर्मी चीफ एम एम नरवणे ने कहा है कि देश की सेना न सिर्फ पूर्वी लद्दाख में बल्कि उत्तरी बॉर्डर पर भी हाई अलर्ट मोड में है । यहां सेना हर चुनौती से निपटने को तैयार है । उन्होंने कहा - पाकिस्तान और चीन मिलकर भारत के लिए एक शक्तिशाली खतरा पैदा करते हैं और टकराव की आशंका को दूर नहीं किया जा सकता है ।


लद्दाख की मौजूदा स्थिति पर उन्होंने कहा कि हमें शांतिपूर्ण समाधान की उम्मीद है, लेकिन हम किसी भी आकस्मिक चुनौती का सामना करने को तैयार हैं । इसके लिए भारत की सभी लॉजिस्टिक तैयारी संपूर्ण है।   हमने उत्तरी बॉर्डर पर और लद्दाख में उच्च स्तर की तैयारी की है और किसी भी चुनौती से निपटने को तैयार हैं । लद्दाख और उत्तरी सीमा की तैयारियों के बारे में बताते हुए आर्मी चीफ ने कहा कि सेना ने सर्दियों को लेकर पूरी तैयारी की है । 

सेना प्रमुख ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में हम चौकस है । चीन के साथ कॉर्प्स कमांडर लेवल की 8 दौर की वार्ता हो चुकी है हम अगले राउंड की वार्ता का इंतजार कर रहे हैं । हमें उम्मीद है कि संवाद और सकारात्मक पहल से इस मुद्दे का हल निकलेगा ।   

Todays Beets: