Sunday, July 25, 2021

Breaking News

   बिहार: पटना में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़, 2 गिरफ्तार     ||   जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने पुलिस कांस्टेबल की पत्नी और बेटी पर गोलियां चलाईं, दोनों जख्मी     ||   पेगासस मामला: दुनिया के 14 बड़े नेताओं की भी की गई जासूसी, PM इमरान समेत कई अन्य का लिस्ट में नाम     ||   जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट केस: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी     ||   पेगासस मामला: शिवसेना ने की जेपीसी जांच की मांग, कहा- यह हमला आपातकाल से भी बदतर     ||   महाराष्ट्र सरकार ने भी HC से कही थी ऑक्सीजन की कमी से मौत ना होने की बात- अमित मालवीय     ||   नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर पहुंचे 62 MLA, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बोले- बदलाव की बयार     ||   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||

''टेलीग्राफ'' के जरिए आतंकी करते थे अफगानिस्तार बॉर्डर पर बैठे हैंडलर से बातचीत , इंटरनेट कॉलिंग का जमकर इस्तेमाल

अंग्वाल न्यूज डेस्क

नई दिल्ली । लखनऊ के काकोरी इलाकों में यूपी पुलिस और एटीएस के एक संयुक्त अभियान के तहत गिरफ्तार किए गए अलकायदा के दोनों आतंकियों के बारे में एक बड़ा इनपुट हाथ लगा है । सामने आया है कि दोनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म टेलीग्राफ के जरिए पाकिस्तान और अफगानिस्तान बॉर्डर पर बैठे अपने हैंडलरों से बातचीत करते थे । ये आतंकी सामान्य कॉल या एसएमएस के बजाए इंटरनेट कॉलिंग का इस्तेमाल करते थे , जिसे ट्रेस करना काफी टेढ़ा काम होता है । बहरहाल , इनके हैंडलर का भी नाम अब सामने आ गया है । 

सूत्रों के मुताबिक पकड़े गए दोनों संदिग्ध अल कायदा (Al Qaeda) के आतंकी हैं । ये दोनों स्लीपर सेल है , जिन्हें उमर अल-मंदी नाम का कंट्रोलर हैंडल कर रहा था । वह इन दिनों पाकिस्तान-अफगानिस्तान बॉर्डर के पास छिपा हुआ है । 


बता दें कि UP-ATS ने लखनऊ के काकोरी इलाके से शाहिद नाम के आतंकियों को गिरफ्तार किया है। उसके साथ ही सिराज नाम के दूसरे आतंकी को भी दबोचा है , दोनों अलग बगल के घरों में रहते थे ।  एटीएस ने सबसे पहले शाहिद के घर पर रेड की थी।  वह करीब 8 साल पहले दुबई से वापस आया था और इन दिनों गैराज का काम कर रहा था । उसके पास से विस्फोटक, दो प्रेशर कुकर और काफी संदिग्ध सामान मिला है ।  

अफसरों के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आतंकियों की साजिश सीरियल ब्लास्ट करवाने की थी ।  एटीएस की टीम दोनों संदिग्धों के नेटवर्क को खंगालने में जुटी है ।  एटीएस की टीम एक हफ्ते से आतंकियों को ट्रेस कर रही थी ।  

Todays Beets: