Sunday, July 25, 2021

Breaking News

   बिहार: पटना में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़, 2 गिरफ्तार     ||   जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने पुलिस कांस्टेबल की पत्नी और बेटी पर गोलियां चलाईं, दोनों जख्मी     ||   पेगासस मामला: दुनिया के 14 बड़े नेताओं की भी की गई जासूसी, PM इमरान समेत कई अन्य का लिस्ट में नाम     ||   जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट केस: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी     ||   पेगासस मामला: शिवसेना ने की जेपीसी जांच की मांग, कहा- यह हमला आपातकाल से भी बदतर     ||   महाराष्ट्र सरकार ने भी HC से कही थी ऑक्सीजन की कमी से मौत ना होने की बात- अमित मालवीय     ||   नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर पहुंचे 62 MLA, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बोले- बदलाव की बयार     ||   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||

CM पुलिस अफसरों से बोले - अपराधी भाग रहे हों तो एनकाउंटर का पैटर्न ठीक , इन्हें बर्दाश्त नहीं करेंगे 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
CM पुलिस अफसरों से बोले - अपराधी भाग रहे हों तो एनकाउंटर का पैटर्न ठीक , इन्हें बर्दाश्त नहीं करेंगे 

नई दिल्ली । यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार के सत्ता में आने के साथ ही अपराधियों पर नकेल कसने की कवायद तेज हुई थी । कुछ इसी तर्ज पर अब असम के मुख्यमंत्री ने अपनी रणनीति बनाई है । असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा (Chief Minister Himanta Biswa Sarma) ने राज्य के अपराधियों को मार गिराने की रणनीति पर अपनी सहमति जताई है । उन्होंने मुठभेड़ में अपराधियों को मार गिराने की वकालत की है । अपने पद संभालने के बाद असम राज्य में हुईं कई मुठभेड़ों को उन्होंने सही ठहराया है। इसी संदर्भ में  CM सरमा ने अपने एक बयान में कहा कि अपराधी अगर भागने की कोशिश करते हैं या गोलीबारी करने के लिए पुलिस से हथियार छीनते हैं तो उन्हें मुठभेड़ में मार गिराने का पैटर्न होना चाहिए । 

हिरासत से भागते अपराधियों को किया ढेर

विदित हो कि पिछले कुछ समय में असम (Assam) में मुठभेड़ की बढ़ती घटनाओं पर विपक्ष ने सत्ता पर आरोप लगाना शुरू कर दिया है । राज्य में हिरासत से भागने का प्रयास कर रहे करीब एक दर्जन संदिग्ध उग्रवादियों और अपराधियों को कुछ वक्त पहले मार गिराया गया था । सीएम ने सुबे के पुलिस विभाग की बैठक में साफ कर दिया है कि यदि कोई आरोपी सर्विस बंदूक छीनकर भागने का प्रयास करता है या भागता है और अगर वह बलात्कारी है तो कानून ऐसे लोगों के पैर में गोली मारने की इजाजत देता है । न कि छाती में’ । लेकिन ऐसे लोगों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ।

मुठभेड़ का पैटर्न होना चाहिए


मुख्यमंत्री ने पुलिस अफसरों के साथ हुई बैठक में कहा कि ब कोई मुझसे पूछता है कि क्या राज्य में मुठभेड़ का पैटर्न बन गया है, तो मैं कहता हूं अगर अपराधी पुलिस हिरासत से भागने का प्रयास करता है तो (मुठभेड़) पैटर्न होना चाहिए । सीएम सरमा ने कहा - अपराधी पहले गोली चलाते हैं या भागने का प्रयास करते हैं तो कानून में पुलिस को गोली चलाने की अनुमति है । CM ने कहा कि सामान्य प्रक्रिया में आरोपी पर आरोपपत्र दायर किया जाएगा और उसे दंड दिलाया जाएगा, लेकिन अगर कोई भागने का प्रयास करेगा तो उसकी इस हरकत को सहा नहीं जाएगा । 

12 अपराधी मुठभेड़ में ढेर

विदित हो कि गत मई के बाद से अब तक पुलिस ने करीब 12 संदिग्ध उग्रवादी और अपराधी मुठभेड़ में ढेर कर दिया है । पुलिस का कहना है कि इन आरोपियों ने हिरासत से भागने की साजिश रची थी । ऐसे में मजबूरीवश उनपर गोली चलानी पड़ी । वहीं बलात्कार के आरोपियों और पशु तस्करों सहित कई अन्य मुठभेड़ में जख्मी भी हुए हैं । हाल में इस मुद्दे को लेकर हंगामा हुआ है लेकिन सीएम ने साफ कर दिया है कि वह विपक्ष के दबाव में नहीं आएंगे । 

Todays Beets: