Friday, September 24, 2021

Breaking News

   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||   दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कनॉट प्लेस पर भारत के पहले स्मॉग टावर का उद्घाटन किया     ||   गुजरात में शराबबंदी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका मंजूर, 12 अक्टूबर को होगी सुनवाई     ||   सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ने चेताया, आर्थिक गतिविधियां खुलने के साथ ही बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले     ||   पत्नी शालिनी के आरोपों पर बोले हनी सिंह- सभी आरोप गलत, कोर्ट में चल रहा केस     ||   रांचीः महिला हॉकी में झारखंड से शामिल हर खिलाड़ियों को मिलेंगे 50-50 लाख रुपयेः CM हेमंत सोरेन     ||

मायावती बोलीं - सत्ता में आए तो ब्राह्मणों को सुरक्षा मिलेगी , अब मैं मूर्तियां - पार्क नहीं बनवाऊंगी , विकास कार्य होंगे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मायावती बोलीं - सत्ता में आए तो ब्राह्मणों को सुरक्षा मिलेगी , अब मैं मूर्तियां - पार्क नहीं बनवाऊंगी , विकास कार्य होंगे

लखनऊ । यूपी विधानसभा चुनावों को लेकर सियासी दलों ने अपनी रणनीति पर अब अमल करना शुरू कर दिया है । इसी क्रम में जहां समाजवादी पार्टी ने भाजपा पर आरोप लगाना शुरू कर दिया है , वहीं बसपा ने भी अपनी नई रणनीति के तहत अब ब्राह्मणों को रिझाने की कोशिश शुरू की है । असल में अपनी इसी रणनीति के तहत इस बार बसपा ने पूरे प्रदेश में प्रबुद्ध सम्मेलन आयोजित करने की योजना बनाई है । ऐसे ही एक कार्यक्रम में बसपा सुप्रीमो मायावती बोलीं - अगर यूपी में बसपा की सरकार बनती है तो ब्राह्मणों को सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी । भाजपा सरकार में ब्राह्मणों पर बढ़ते अत्याचारों की हम जांच करवाएंगे । 

विदित हो कि एक समय था जब मायावती की पार्टी ने नारा दिया था कि तिलक - तराजू और तलवार ...इनको मारो जूते चार.....इस तरह का बयान देकर दलितों की नेता बनीं मायावती अब खुद ब्राह्मणों को रिझाने के लिए बयान देती नजर आ रही हैं । 

हर सीट पर हजार कार्यकर्ता बनाने हैं

लखनऊ में आयोजित एक प्रबुद्ध सम्मेलन में मायावती ने कहा - पहले भी जब प्रदेश में बसपा सत्ता में थी तब ब्राह्मणों की हर बात को सुनी गई है । उन्होंने कहा कि इस बार के विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए हमने हर विधानसभा में हजार कार्यकर्ता तैयार करने हैं । सबसे पहले रिजर्व सीटों पर ये काम करना है । इसके बाद सामान्य सीटों पर । इस बार मायावती ने बसपा के वरिष्ठ नेता और करीबी सतीश मिश्रा की पत्नी कल्पना मिश्रा की टीम को महिला टीम तैयार करने की जिम्मेदारी दी है ।

अब मूर्तियां नहीं विकास पर ध्यान 

इस दौरान मायावती ने कहा कि मुझे अपने जिन गुरुओं और संस्थापकों का सम्मान करना था उतना कर चुकी हूं । ब मैं किसी नई मूर्ति, पार्क, स्मारक आदि को नहीं बनवाने जा रही । अब अगर हम सत्ता में आए तो हमारा सारा ध्यान यूपी के विकास पर होगा । 

हम सर्वजन हिताय और सर्वजन सुखाय की सोच वाली पार्टी


मायावती इस कार्यक्रम में बोलीं -  बसपा सर्वजन हिताय और सर्वजन सुखाय की सोच पर चलने वाली अकेली पार्टी है । हमारी पार्टी जो कहती है उसपर ईमानदारी और निष्ठा से अमल भी करती है । हमनें यूपी में 4 बार सरकार भी चलाकर दिखाई है और सभी जाति और धर्म के लोगों की तरक्की में पूरा ध्यान दिया है । 

हमारी कथनी करनी में फर्क नहीं

उन्होंने कहा - पिछली बसपा सरकारों के दौरान हमने सभी जातियों के साथ बराबर का व्यवहार किया और कानून का राज स्थापित किया था । . पहले भी ब्राह्मण समाज को अन्य जातियों की तरह ही सुरक्षा और सम्मान दिया गया था, लेकिन 2012 में सपा की सरकार की कथनी और करनी में फर्क होने से जाति आधारित भेदभाव हुआ । 

भागवत पर साधा निशाना

संघ प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि मैं पूछना चाहती हूं कि फिर बीजेपी की सरकार हिंदू और मुसलमानों के बीच भेदभाव क्यों करती है, मुसलमानों के साथ सौतैला व्यवहार क्यों करती है. भागवत ने कहा कि था हिंदू और मुसलमानों के पूर्वज एक ही हैं. 

 

Todays Beets: