Friday, June 18, 2021

Breaking News

   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||   कांग्रेस ने चिराग को दिया न्योता, एमएलसी प्रेम चंद बोले- उनके आने से बिहार में विपक्ष मजबूत होगा     ||   बिहार में कल से एक हफ्ते तक लॉकडाउन में ढील, लेकिन नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा     ||   पाकिस्तान: आपस में दो ट्रेन टकराईं, 30 की मौत, ट्रेन में अभी भी फंसे हुए हैं बहुत से यात्री     ||   उत्तराखंड: सुनगर के पास हुआ भारी भूस्खलन, गंगोत्री हाइवे हुआ बंद, खुलने में लगेगा वक्त     ||   विवादों में आई 'Family Man 2', बैन लगाने के लिए तमिल नेताओं ने Amazon को लिखा पत्र     ||   केरलः पीटी उषा की सीएम विजयन से अपील- सभी खिलाड़ियों, उनके कोच और स्टाफ को वैक्सीनेट किया जाए     ||   इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का दावा, कोरोना की दूसरी लहर में 269 डॉक्टरों ने जान गंवाई     ||

AMU के पूर्व छात्र नेता शरजील उस्मानी हिंदू देवता पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर घिरे , FIR दर्ज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
AMU के पूर्व छात्र नेता शरजील उस्मानी हिंदू देवता पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर घिरे , FIR दर्ज

मुंबई । अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र नेता शरजील उस्मानी फिर से बड़े विवाद में घिरने के बाद अब मुंबई पुलिस के रडार पर आ गए हैं । असल में महाराष्ट्र पुलिस ने उस्मानी द्वारा हिंदू देवताओं पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में एफआईआर दर्ज की है । पुलिस के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि जालना के अम्बेड़ निवासी और हिंदू जागरण मंच से जुड़े अंबादास अम्भोरे का आरोप है कि उस्मानी ने ट्विटर पर कुछ पोस्ट किए हैं, जिसमें भगवान राम के लिए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है, जिससे उसकी धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची।

इस मामले में पुलिस का कहना है कि मिली शिकायत के आधार पर अम्बेड़ पुलिस ने बुधवार रात को उस्मानी के खिलाफ आईपीसी की धारा 295-ए तथा सूचना प्रौद्योगिकी कानून के संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया है। 

विदित हो कि गत फरवरी में पुणे में आयोजित एल्गार परिषद सम्मेलन में उस्मानी शामिल हुआ था। सम्मेलन में उस्मानी ने एक धर्म विशेष को लेकर विवादित टिप्पणी की थी, जिससे राज्य की सियासत गर्मा गई थी। भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने शरजील उस्मानी के खिलाफ राज्य सरकार से कार्रवाई करने की मांग की थी । 


आपको बता दें कि यूपी के आजमगढ़ के रहने वाला शरजील के पिता तारिक उस्मानी अलीगढ़ विश्वविद्यालय में प्रोफेसर हैं। वहीं शरजील उस्मानी भी एएमयू का पूर्व छात्र नेता रहा है । इस विश्वविद्यालय से वह ग्रुज्यूएशन कर रहा था, लेकिन 2018 में इसने पढ़ाई छोड़ दी।

दिसंबर 2019 में भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी की बाबरी से जुड़ी एक तस्वीर पोस्ट कर उस्मानी चर्चा में आया था। उसके बाद वह देशभर में 2019 में ही सीएए के खिलाफ जारी आंदोलन में शामिल होने लगा। गत के वर्षों में उस्मानी ने यूपी , दिल्ली , महाराष्ट्र समेत कई अन्य राज्यों में जाकर सीएए और एनआरसी का जमकर विरोध किया है । 

Todays Beets: