Friday, September 17, 2021

Breaking News

   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||   दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कनॉट प्लेस पर भारत के पहले स्मॉग टावर का उद्घाटन किया     ||   गुजरात में शराबबंदी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका मंजूर, 12 अक्टूबर को होगी सुनवाई     ||   सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री ने चेताया, आर्थिक गतिविधियां खुलने के साथ ही बढ़ सकते हैं कोरोना के मामले     ||   पत्नी शालिनी के आरोपों पर बोले हनी सिंह- सभी आरोप गलत, कोर्ट में चल रहा केस     ||   रांचीः महिला हॉकी में झारखंड से शामिल हर खिलाड़ियों को मिलेंगे 50-50 लाख रुपयेः CM हेमंत सोरेन     ||

GST की पड़ेगी फिर मार , Zomato - Swiggy से घर पर खाना मंगाना पड़ेगा और महंगा! , जानें क्या है कारण

अंग्वाल न्यूज डेस्क
GST की पड़ेगी फिर मार , Zomato - Swiggy से घर पर खाना मंगाना पड़ेगा और महंगा! , जानें क्या है कारण

नई दिल्ली । अगर आप Zomato - Swiggy जैसे ऑनलाइन एप के जरिए अपने घर - दफ्तर में खाना मंगाते हैं तो आने वाले दिनों में आपको ऐसा करना और महंगा पड़ेगा । असल में जीएसटी काउंसिल की इस हफ्ते होने वाली बैठक में फूड डिलिवरी करने वाले ऐसे एप को 5 फीसदी जीएसटी के दायरे में लाने की सिफारिश की गई है । अगर इस पर मुहर लगती है तो आपका खाना थोड़ा और महंगा हो जाएगा । 

विदित हो कि इस बार जीएसटी काउंसिल की बैठक लखनऊ में होने जा रही है । वित्त मंत्रालय ने हाल में जारी किए अपने एक बयान में कहा था कि अगस्त में माल एवं सेवाकर (GST Collection) संग्रह 1.12 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा था । एक साल पहले अगस्त माह के मुकाबले इसमें 30 प्रतिशत से अधिक वृद्धि दर्ज की गई थी । यानी सरकार का खजाना जीएसटी से भर भी रहा है और बढ़ भी रहा है । 

इससे इतर , अपने इस खजाने को और बढ़ाने के लिए अब जीएसटी काउंसिल की होने वाली बैठक में अब फूड डिलिवरी करने वाले एक को 5 फीसदी जीएसटी के दायरे में लाने की सिफारिश की गई है। इसके लिए कमिटी के फिटमेंट पैनल ने सिफारिश की है । ऐसे में Swiggy, Zomato जैसे ऑनलाइन एप के जरिए खाना मंगाना आपको महंगा पड़ सकता है ।


बता दें कि जीएसटी परिषद की मीटिंग लखनऊ में 17 सितंबर को होनी है ।  इसमें वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ अन्य राज्यों के वित्त मंत्री भी शामिल हैं ।  जीएसटी परिषद की इससे पिछली बैठक 12 जून को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई थी। 

 

Todays Beets: