Monday, October 26, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

हाथरस कांड - ''फर्जी भाभी'' ने डिलीट किया अपना फेसबुक अकाउंट , भड़काऊ पोस्ट के लगे हैं आरोप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हाथरस कांड -

लखनऊ । हाथरस कांड में पीड़ित परिवार के घर फर्जी रिश्तेदार बनकर रहने वाली डॉक्टर राजकुमारी बंसल पर जांच एजेंसी का शिकंजा करने की तैयारी की जा रही है । इस डर से उन्होंने अपना फेसबुक अकाउंट भी डिलीट कर दिया है । राजकुमारी पीड़िता के परिजनों के साथ उसकी भाभी बनकर रही और उसने जांच एजेंसियों को परिजन के तौर पर बयान देने के साथ ही परिजनों को भी भड़काने का काम किया था । इन सब आरोपों के बीच राजकुमारी पर फेसबुक के जरिए एक विशेष समुदाय को लेकर लगातार भड़काऊ पोस्ट करने के आरोप लगे थे । इतना ही नहीं जहां उन्होंने मीडिया के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दी थी , वहीं उन्होंने सीबीआई की जांच पर भी सवाल उठाए थे । 

बता दें कि हाथरस में पीड़ित परिवार के घर में मध्य प्रदेश में रहने वाली महिला चिकित्सक फर्जी रिश्तेदार बनकर रही । इस दौरान उन्होंने परिजन बनकर पुलिस-एसआईटी को बयान दिए । इतना ही नहीं उन पर आरोप लगे कि उन्होंने परिजनों को भड़काने का भी काम किया और मीडिया के सामने क्या कहना है यह सिखाया । 

यूपी में अशांति फैलाने की साजिश , अब गोंडा में तीन नाबालिग दलित बहनों पर ''एसिड अटैक'' , घटना का कारण अज्ञात

जब उसके फर्जी रिश्तेदार होने की बात सामने आई तो वह गांव से फरार हो गई । इस सबके बाद वह मीडिया के सामने आई और अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज किया । उन्होंने मामले की जांच सीबीआई द्वारा किए जाने पर सवाल उठाते हुए कहा कि परिजनों को तभी न्याय मिल सकेगा जब सीबीआई (CBI) निष्पक्ष जांच करेगी । 

इस दौरान उन्होंने लेफ्ट के नेता सीताराम येचुरी से हुई बातचीत को कबूला था । उसने कहा था कि मैं व्यक्तिगत रूप से येचुरी को नहीं जानती हूं , लेकिन देश की बेटी होने के नाते मैंने परिवार की तरफ से बात रखी थी । 


डॉक्टर राजकुमार बंसल ने कहा कि मुझे दु:ख होता है कि बिना सबूत और तथ्यों के आधार पर मुझे नक्सली बोला जा रहा है । क्या कोई मुझे नक्सली की परिभाषा बताएगा । इस दौरान उन्होंने मीडिया पर कानून कार्रवाई किए जाने की बात की ।

हाथरस केस - CBI जांच के लिए गांव पहुंची , पीड़ित परिवार और आरोपियों से हो सकती है पूछताछ 

उन्होंने कहा कि हाथरस मामले में ऑनर किलिंग का बताया जाना गलत है । पुलिस पहले ही सेक्सुअल असाल्ट इंफॉर्मेशन शीट भर चुकी है तो अब ऐसी बातें क्यों हो रही हैं । आरोपी युवकों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। अब पैसे के बल पर वह छूट जाएंगे और गरीब पिस जाएगा । 

हालांकि इस सब बयानों को देने के बाद उन्होंने अपना फेसबुक अकाउंट डिलीट कर दिया है। उनपर अपने फेसबुक अकाउंट के जरिए विवादित पोस्ट करने के आरोप लगे हैं ।

Todays Beets: