Thursday, October 22, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

हाथरस कांड LIVE - SC बोली - यह चौंकाने वाला केस , याचिकाकर्ता की मांग- कोर्ट की निगरानी में SIT करे जांच

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हाथरस कांड LIVE - SC बोली - यह चौंकाने वाला केस , याचिकाकर्ता की मांग- कोर्ट की निगरानी में SIT करे जांच

नई दिल्ली/लखनऊ । उत्तर प्रदेश की राजनीति में नया बवाल खड़ा करने वाले हाथरस गैंगरेप कांड को लेकर विपक्षी दलों का हंगामा बदस्तूर जारी है । वहीं हाथरस कांड को लेकर दायर याचिकाओं पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी है । चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एसए बोबड़े ने इस मामले को लेकर कहा कि हम ये भी देखना चाहते हैं कि इस मामले में याचिकाकर्ता का लोकस है या नहीं, लेकिन अभी हम केवल मामले की सुनवाई इसलिए कर रहे है कि ये एक शॉकिंग केस है । वहीं योगी सरकार सुप्रीम कोर्ट में दायर एक हलफनामे में कहा है कि विपक्षी दल यूपी सरकार को बदनाम करने की साजिश रच रहे हैं । राज्य में दंगे करवाए जाने की सुनियोजित साजिश हो रही है । सरकार ने इस दौरान सुप्रीम कोर्ट में इस गैंगरेप को कथित गैंगरेप कहकर संबोधित किया है । सरकार ने कहा कि कोर्ट को कथित गैंगरेप और हमले की सीबीआई जांच के निर्देश देने चाहिए । 

सुप्रीम कोर्ट में याचिकाओं की सुनवाई जारी

बता दें कि हाथरस गैंगरेप केस में मंगलवार को अलग-अलग याचिकाओं पर सुनवाई शुरू हो गई है । इस दौरान सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एसए बोबड़े ने कहा कि यह एक शॉकिंग केस है। याचिकाकर्ता की वकील इंदिरा जयसिंह ने कहा कि पीड़ित परिवार सीबीआई जांच से संतुष्ट नहीं है, वो एसआईटी जांच चाहती है, जिसकी निगरानी कोर्ट करे । 

कोर्ट में योगी सरकार का हलफनामा


इस बीच योगी सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर किया गया है । सरकार ने इसमें कहा है कि प्रतिद्वंद्वी राजनीतिक दलों के नेताओं के द्वारा यूपी सरकार को बदनाम करने के लिए षड्यंत्र रचा जा रहा है । विपक्षी दल राज्य में दंगे कराने के लिए जानबूझकर साजिश रच रहे हैं। पुलिस ने परिवार की सहमति से पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया था । 

एसआईटी टीम शव जलाने वाले स्थान पर पहुंची

वहीं इस मामले की जांच कर रही एसआईटी की टीम मंगलवार को उस स्थान पर पहुंची जहां पीड़िता का शव जलाया गया था। एसआईटी टीम वहां लोगों से पूछताछ कर रही है । इस बीच पुलिस प्रशासन का कहना है कि उन्होंने राज्य में दंगा करवाने की साजिश रचने के आरोप में मथुरा से चार लोगों को गिरफ्तार किया है । 

Todays Beets: