Thursday, January 28, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

भारत ने कोरोना वैक्सीन की 1.5 अरब डोज एडवांस में बुक की , अमेरिका -यूरोपियन यूनियन के बाद तीसरे नंबर पर

अंग्वाल न्यूज डेस्क

भारत ने कोरोना वैक्सीन की 1.5 अरब डोज एडवांस में बुक की , अमेरिका -यूरोपियन यूनियन के बाद तीसरे नंबर पर

नई दिल्ली । कोरोना काल के बाद अब पूरी दुनिया की निगाहें कोरोना की वैक्सीन पर टिकी हुई हैं । कई देशों में संस्थाएं अपनी वैक्सीन निर्माण के अंतिम चरण में हैं । वहीं मॉडर्ना और फाइजर ने तो वैक्सीन ट्रायल पूरे होने का दावा भी कर दिया है । दावा किया जा रहा है कि उनकी वैक्सीन 95% तक सुरक्षित है । इस सबके बीच कई कंपनियों ने इनका प्रोडक्शन भी शुरू कर दिया है । ऐसे में कई देशों ने अपने लोगों के लिए इन वैक्सीन की बुकिंग करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है । मिली जानकारी के अनुसार , भारत ने भी 150 करोड़ से अधिक डोज खरीदने के लिए एडवांस बुकिंग करा दी है । 

वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोविड-19 वैक्सीन डोज खरीद प्रतिबद्धता के मामले में भारत तीसरे नंबर पर है । भारत से पहले अमेरिका और यूरोपीय यूनियन का नंबर है । यह रिपोर्ट ड्यूक यूनिवर्सिटी के लॉन्च और स्केल स्पीडोमीटर इनिशिटिव पर आधारित है, जो निम्न आय वर्ग वाले देशों में हेल्थ इनोवेशन की पहुंच में बाधक बनने वाले वजहों का अध्ययन कर रहा है ।


इतना ही नहीं भारत ने भी 1.5 अरब से अधिक डोज खरीदने की पुष्टि की है । इससे पहले यूरोपीय यूनियन ने 1.2 अरब डोज और अमेरिका ने 1 अरब डोज की बुकिंग करवाई है । इससे साफ हो रहा है कि दुनिया के सबसे ताकतवर देश अपनी पूरी आबादी का एक से अधिक बार टीकाकरण करने की योजना बना रहे हैं , क्योंकि अमेरिका की जनसंख्या उनके द्वारा बुक की गई डोज से बहुत कम है । 

Todays Beets: