Wednesday, July 28, 2021

Breaking News

   बिहार: पटना में अवैध टेलीफोन एक्सचेंज का भंडाफोड़, 2 गिरफ्तार     ||   जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने पुलिस कांस्टेबल की पत्नी और बेटी पर गोलियां चलाईं, दोनों जख्मी     ||   पेगासस मामला: दुनिया के 14 बड़े नेताओं की भी की गई जासूसी, PM इमरान समेत कई अन्य का लिस्ट में नाम     ||   जाकिर हुसैन मेमोरियल ट्रस्ट केस: कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद की पत्नी के खिलाफ गैर जमानती वॉरंट जारी     ||   पेगासस मामला: शिवसेना ने की जेपीसी जांच की मांग, कहा- यह हमला आपातकाल से भी बदतर     ||   महाराष्ट्र सरकार ने भी HC से कही थी ऑक्सीजन की कमी से मौत ना होने की बात- अमित मालवीय     ||   नवजोत सिंह सिद्धू के आवास पर पहुंचे 62 MLA, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बोले- बदलाव की बयार     ||   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||

कैरेबियाई देशों की राजनीति में चोकसी के चलते घमासान , डोमिनिका में विपक्षी नेता ने अपनी सरकार को घेरा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कैरेबियाई देशों की राजनीति में चोकसी के चलते घमासान , डोमिनिका में विपक्षी नेता ने अपनी सरकार को घेरा

नई दिल्ली । देश की राजनीति में सियासी भूचाल लाने वाले पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी ने अब कैरेबियाई देशों की सियासत में हलचल ला दी है । असल में मेहुल चोकसी को लेकर कैरेबियाई देश डोमिनिका (Dominica) में विपक्ष के नेता लेनोक्स लिंटन (Lennox Linton) ने अपनी ही सरकार पर हल्ला बोल दिया है । उनका दावा है कि चोकसी के डोमिनिका आने को लेकर प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट (Roosevelt Skerrit) की सरकार को पूरी जानकारी थी. जबकि अब सरकार ऐसा दिखावा कर रही है, जैसे उसे कुछ पता ही नहीं था । उन्होंने कहा कि चोकसी की डोमिनिका में मौजूदगी कई गंभीर सवाल खड़े करती है और सरकार को उनका जवाब देना चाहिए । 

अंतरराष्ट्रीय मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक - डोमिनिका (Dominica) के विपक्षी नेता लेनोक्स लिंटन ने चोकसी विवाद को लेकर अपनी सरकार की जमकर निंदा की है । उन्होंने कहा कि पहले तो चोकसी बिना पासपोर्ट के डोमिनिका आए , ऐसे में सरकार को यह बताना चाहिए कि आखिर वह बिना पासपोर्ट के कैसे हमारे देश में आ गए । उन्हें कैसे और किसने देश में आने की अनुमति दी । 

उन्होंने अपने पीएम प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट और वहां की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार अब इस मुद्दे पर आगे बढ़कर इसलिए कुछ नहीं बोल रही है क्योंकि वो नहीं चाहती कि सच्चाई सबके सामने आए । सच्चाई यह है कि भगोड़ा कारोबारी बिना अनिवार्य दस्तावेजों के ही डोमिनिका पहुंचा गया । उसने समुद्र मार्ग से हमारे देश में एंट्री की । जिस जहाज से वह हमारे देश में घुसा , उसके ऑपरेटर ने झूठा बयान दिया ।  उसने कहा कि वो 25 मई को डोमिनिका आया, जबकि वो 23 को ही आ गया था । उन्होंने कहा कि आखिर संबंधित अधिकारियों को इसकी भनक कैसे नहीं लगी?


विदित हो कि चोकसी पिछले हफ्ते एंटीगुआ से रहस्यमय तरीके से गायब होकर डोमिनिका पहुंच गया था । इसके बाद उसे भारत भेजने की बात भी कही गई थी, लेकिन डोमिनिका ने इससे इनकार कर दिया । स्थानीय अदालत ने मामले की सुनवाई होने तक चोकसी को किसी दूसरे देश भेजने से मना कर दिया है ।

वहीं, भगोड़े कारोबारी के वकीलों का आरोप है कि उसे जबरन डोमिनिका लाया गया और इस दौरान उसे प्रताड़ित भी किया गया । 

बहरहाल , देश में मोदी सरकार पर विपक्ष के हमलों का कारण बने मेहुल चोकसी ने अब इन कैरेबियाई देशों में भी सियासी घमासान मचा दिया है । अब देखने वाली बात यह होगी कि इस पूरे मामलों को भारतीय विदेश मंत्रालय अपनी कूटनीति से किस तरह सुलझाती है । अगर मोदी सरकार मेहुल चोकसी को भारत लाने में सफल हुई तो उसके लिए बड़ी उपलब्धी मानी जाएगी । ऐसे में भारत सरकार भी उसे भारत लाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी ।  

Todays Beets: