Friday, June 18, 2021

Breaking News

   राम मंदिर ट्रस्ट में भी उठे जमीन खरीद पर सवाल, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट     ||   यूपीः बसपा से बागी हुए 9 विधायक आज अखिलेश यादव से करेंगे मुलाकात     ||   वैक्सीन विवाद पर अखिलेश यादव बोले, पहले यूपी की सारी जनता को लग जाए, फिर मैं लगवा लूंगा     ||   कांग्रेस ने चिराग को दिया न्योता, एमएलसी प्रेम चंद बोले- उनके आने से बिहार में विपक्ष मजबूत होगा     ||   बिहार में कल से एक हफ्ते तक लॉकडाउन में ढील, लेकिन नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा     ||   पाकिस्तान: आपस में दो ट्रेन टकराईं, 30 की मौत, ट्रेन में अभी भी फंसे हुए हैं बहुत से यात्री     ||   उत्तराखंड: सुनगर के पास हुआ भारी भूस्खलन, गंगोत्री हाइवे हुआ बंद, खुलने में लगेगा वक्त     ||   विवादों में आई 'Family Man 2', बैन लगाने के लिए तमिल नेताओं ने Amazon को लिखा पत्र     ||   केरलः पीटी उषा की सीएम विजयन से अपील- सभी खिलाड़ियों, उनके कोच और स्टाफ को वैक्सीनेट किया जाए     ||   इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का दावा, कोरोना की दूसरी लहर में 269 डॉक्टरों ने जान गंवाई     ||

कैरेबियाई देशों की राजनीति में चोकसी के चलते घमासान , डोमिनिका में विपक्षी नेता ने अपनी सरकार को घेरा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कैरेबियाई देशों की राजनीति में चोकसी के चलते घमासान , डोमिनिका में विपक्षी नेता ने अपनी सरकार को घेरा

नई दिल्ली । देश की राजनीति में सियासी भूचाल लाने वाले पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले के आरोपी मेहुल चोकसी ने अब कैरेबियाई देशों की सियासत में हलचल ला दी है । असल में मेहुल चोकसी को लेकर कैरेबियाई देश डोमिनिका (Dominica) में विपक्ष के नेता लेनोक्स लिंटन (Lennox Linton) ने अपनी ही सरकार पर हल्ला बोल दिया है । उनका दावा है कि चोकसी के डोमिनिका आने को लेकर प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट (Roosevelt Skerrit) की सरकार को पूरी जानकारी थी. जबकि अब सरकार ऐसा दिखावा कर रही है, जैसे उसे कुछ पता ही नहीं था । उन्होंने कहा कि चोकसी की डोमिनिका में मौजूदगी कई गंभीर सवाल खड़े करती है और सरकार को उनका जवाब देना चाहिए । 

अंतरराष्ट्रीय मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक - डोमिनिका (Dominica) के विपक्षी नेता लेनोक्स लिंटन ने चोकसी विवाद को लेकर अपनी सरकार की जमकर निंदा की है । उन्होंने कहा कि पहले तो चोकसी बिना पासपोर्ट के डोमिनिका आए , ऐसे में सरकार को यह बताना चाहिए कि आखिर वह बिना पासपोर्ट के कैसे हमारे देश में आ गए । उन्हें कैसे और किसने देश में आने की अनुमति दी । 

उन्होंने अपने पीएम प्रधानमंत्री रूजवेल्ट स्केरिट और वहां की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार अब इस मुद्दे पर आगे बढ़कर इसलिए कुछ नहीं बोल रही है क्योंकि वो नहीं चाहती कि सच्चाई सबके सामने आए । सच्चाई यह है कि भगोड़ा कारोबारी बिना अनिवार्य दस्तावेजों के ही डोमिनिका पहुंचा गया । उसने समुद्र मार्ग से हमारे देश में एंट्री की । जिस जहाज से वह हमारे देश में घुसा , उसके ऑपरेटर ने झूठा बयान दिया ।  उसने कहा कि वो 25 मई को डोमिनिका आया, जबकि वो 23 को ही आ गया था । उन्होंने कहा कि आखिर संबंधित अधिकारियों को इसकी भनक कैसे नहीं लगी?


विदित हो कि चोकसी पिछले हफ्ते एंटीगुआ से रहस्यमय तरीके से गायब होकर डोमिनिका पहुंच गया था । इसके बाद उसे भारत भेजने की बात भी कही गई थी, लेकिन डोमिनिका ने इससे इनकार कर दिया । स्थानीय अदालत ने मामले की सुनवाई होने तक चोकसी को किसी दूसरे देश भेजने से मना कर दिया है ।

वहीं, भगोड़े कारोबारी के वकीलों का आरोप है कि उसे जबरन डोमिनिका लाया गया और इस दौरान उसे प्रताड़ित भी किया गया । 

बहरहाल , देश में मोदी सरकार पर विपक्ष के हमलों का कारण बने मेहुल चोकसी ने अब इन कैरेबियाई देशों में भी सियासी घमासान मचा दिया है । अब देखने वाली बात यह होगी कि इस पूरे मामलों को भारतीय विदेश मंत्रालय अपनी कूटनीति से किस तरह सुलझाती है । अगर मोदी सरकार मेहुल चोकसी को भारत लाने में सफल हुई तो उसके लिए बड़ी उपलब्धी मानी जाएगी । ऐसे में भारत सरकार भी उसे भारत लाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी ।  

Todays Beets: