Thursday, February 25, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

महाराष्ट्र : किसान आंदोलन पर सचिन , विराट , कुंबले , अजय देवगन , अक्षय कुमार के ट्वीट की जांच करेगी पुलिस

अंग्वाल न्यूज डेस्क

महाराष्ट्र : किसान आंदोलन पर सचिन , विराट , कुंबले , अजय देवगन , अक्षय कुमार के ट्वीट की जांच करेगी पुलिस

मुंबई । कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के आंदोलन को लेकर सोमवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा में बयान दिया । उन्होंने कहा कि किसान आंदोलन खत्म करें , कानूनों में सुधार होते रहे हैं , हम भी करेंगे । इस सबके बीच महाराष्ट्र से इस किसान आंदोलन को लेकर अपनी टिप्पणी करने वाले क्रिकेटर और अभिनेता - अभिनेत्रियों के ट्वीट की जांच अब पुलिस करेगी । 

विदित हो कि पिछले दिनों किसानों के आंदोलन को लेकर कई विदेशी कलाकारों ने भी अपनी टिप्पणी करते हुए इस मुद्दे को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ले जाने का काम किया । लेकिन बाद में उनके पैसे लेकर ट्वीट करने की बात सामने आई । इस सारी प्रक्रिया पर कई भारतीय सितारों और क्रिकेटरों ने भी अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की थी, जिसमें सचिन तेंदुलकर , विराट कोहली , शिखर धवन , कुंबले , आरपी सिंह जैसे कई दिग्गज किक्रेटर भी शामिल रहे हैं । लेकिन अब मुंबई पुलिस इनके ट्वीट की जांच करेगी । 

बता दें कि कुछ विदेशी लोगों के किसान आंदोलन के मामले में ट्वीट कर सरकार को आड़े हाथों लेने पर सचिन ने सोशल मीडिया पर लिखा था - भारत की संप्रभुता से समझौता नहीं किया जा सकता है। बाहरी ताकतें दर्शक हो सकती हैं, लेकिन प्रतिभागी नहीं। भारतीय भारत को जानते हैं और भारत के लिए फैसला करना चाहिए। आइए एक राष्ट्र के रूप में एकजुट रहें।

वहीं भारतीय क्रिकेट कप्तान कोहली ने ट्वीट करते हुए कहा, असहमति के इस समय में हम सभी एकजुट रहें। किसान हमारे देश का एक अभिन्न हिस्सा हैं और मुझे यकीन है कि सभी पक्षों के बीच एक सौहार्दपूर्ण समाधान मिल जाएगा, ताकि शांति रहे और सभी मिलकर आगे बढ़ सकें।

इसी क्रम में शिखर ध्वन ने लिखा, हमारे महान देश को फायदा हो ऐसे समाधान तक पहुंचना अभी सबसे जरूरी चीज है। आइए साथ खड़े रहें और एक बेहतर व सुनहरे भविष्य की तरफ आगे बढ़ें।

पूर्व स्पिनर अनिल कुंबले ने लिखा, दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के रूप में, भारत अपने आंतरिक मुद्दों को सौहार्दपूर्ण समाधानों तक ले जाने में सक्षम है।

पूर्व तेज गेंदबाज आर पी सिंह ने लिखा, भारत में हमेशा सभी विचारों की एक महान परंपरा है। हम एक दूसरे से सहमत और असहमत हो सकते हैं, लेकन हमारे आंतरिक मामले में हस्तक्षेप करना और कमेंट करना हम कतई पसंद नहीं करते। क्योंकि हम शायद ही कभी ऐसा करते हों।


वहीं सिने अभिनेताओं - अभिनेत्रियों की बात करें तो इनमें लता मंगेशकर ,  अक्षय कुमार , कंगना रनौत , अजय देवगन  और करण जौहर , कैलाश खेर , सुनील शेट्टी ने भी सरकार के रुख का समर्थन करते हुए बयान जारी किए थे । 

रिहाना को जवाब देने का सबसे पहले बीड़ा कंगना रनौत ने ही उठाया, कंगना ने आंदोलनकारी किसानों की तुलना एक बार फिर आतंकियों से कर दी. कंगना ने कहा कि रिहाना को अपने देश से मतलब रखना चाहिए. उसके बाद जब विदेश मंत्रालय की ओर से जवाब दिया गया, तो काफी बॉलीवुड सेलेब्रिटी ने अपनी प्रतिक्रिया दी ।

बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार ने इस बारे में ट्वीट करते हुए लिखा कि किसान हमारे देश का एक अहम हिस्सा हैं, हम उनकी समस्याओं को सुन रहे हैं । जो दूरियां पैदा करने की कोशिश कर रहा है, उसे पहचानना चाहिए । अक्षय के अलावा अजय देवगन ने लिखा कि किसी भी विदेशी प्रोपेगेंडा में ना फंसे और मुश्किल वक्त में देश के साथ खड़े हो ।

बॉलीवुड एक्टर सुनील शेट्टी, डायरेक्टर करण जौहर, एकता कपूर ने भी ट्विटर पर अपना बयान जारी किया और विदेश मंत्रालय के स्टैंड का समर्थन किया । उन्होंने लिखा कि किसानों के हक में हम सभी हैं, लेकिन किसी विदेशी प्रोपेगेंडा में ना आएं और एकजुट रहें । 

इतना ही नहीं भारत रत्न और स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने ट्वीट कर लिखा कि भारत एक गौरवशाली राष्ट्र है और हम अपनी किसी भी समस्या का हल खुद ही निकाल सकते हैं, ऐसे में किसी बाहरी बयानबाजी पर ध्यान ना दें । लेकिन अब इन सभी के ट्वीट और बयानों की जांच मुंबई पुलिस करेगी । 

असल में पिछले दिनों विदेशी लोगों के इस मुद्दे पर बयान देने के बाद विदेश मंत्रालय ने साफ कर दिया था कि यह भारत का आंतरिक मामला है लेकिन कुछ समूह और संगठन इन आंदोलन के जरिए अपना एजेंडा थोपने की कोशिश कर रहे हैं । किसानों का एक छोटा सा समूह आंदोलन कर रहा है ।

Todays Beets: