Sunday, February 5, 2023

Breaking News

   Supreme Court: कलेजियम की सिफारिशों को रोके रखना लोकतंत्र के लिए घातक: जस्टिस नरीमन     ||   Ghaziabad: NGT के फैसले पर नगर निगम को SC की फटकार, 1 करोड़ जमा कराने की शर्त पर वूसली कार्रवाई से राहत     ||   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||

मौलाना कासमी का लव जेहाद पर बड़ा बयान , बोले - दूसरे धर्म में शादी नहीं करें , सबसे ज्यादा लड़ाईयां - टुकड़े टुकड़े इसी कारण

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मौलाना कासमी का लव जेहाद पर बड़ा बयान , बोले - दूसरे धर्म में शादी नहीं करें , सबसे ज्यादा लड़ाईयां - टुकड़े टुकड़े इसी कारण

न्यूज डेस्क । हाल के दिनों में लव जेहाद के कई मामले सामने आने के बीच मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संयोजक मौलाना सुहैब कासमी (Maulana Suhaib Qasmi) ने एक अटपटा बयान दिया है । लव जेहाद को लेकर कासमी ने कहा - जो भी लड़का अच्छा पढ़ जाता है, वो हिन्दू से शादी (Marriage) करता है । फिर ये हिंदुओं को पसंद नहीं आता । इसलिए दूसरे धर्म में कभी शादी करनी ही नहीं चाहिए । सबसे ज्यादा लड़ाईयां इसीलिए ही होती हैं । टुकड़े- टुकड़े इसीलिए ही होते हैं । इसलिए अपने धर्म (Religion) में रहें प्यार मोहब्बत से ।  

पीएफआई पर साधा निशाना

इस दौरान उन्होंने पीएफआई पर भी निशाना साधते हुए कहा - केंद्र सरकार (Central Government) भले ही पीएफआई (PFI) पर प्रतिबंध लगा रही हो, बावजूद यह संगठन अलग अलग नामों से युवाओं को गुमराह कर रहा है । उन्होंने कहा कि पीएफआई शिक्षित मुसलमानों (Educated Muslims) को अपना मोहरा बना रहा है ।  उसकी नजर कर्नाटक, (Karnataka) आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) और तेलंगाना (Telangana) के शिक्षित मुसलमानों पर है ।  वैसे तो सरकार ने पीएफआई पर बैन (Ban) लगाकर उनके मनसूबों पर पानी फेर दिया था लेकिन अब फिर पीएफआई आधुनिक नामों का इस्तेमाल कर रहा है ।  


मुसलमान PFI से बचकर रहें

मौलाना सुहैब कासमी ने मुस्लमानों से पीएफआई जैसे संगठनों से सावधान रहने की अपील की । वह बोले - भारत एक शांतिपूर्ण देश है जहां मुसलमान सालों से रह रहे हैं । बेहतर होगा देश के मुसलमानों को पीएफआई जैसे संगठनों के बहकावे में नहीं आना चाहिए । 

 

Todays Beets: