Sunday, February 5, 2023

Breaking News

   Supreme Court: कलेजियम की सिफारिशों को रोके रखना लोकतंत्र के लिए घातक: जस्टिस नरीमन     ||   Ghaziabad: NGT के फैसले पर नगर निगम को SC की फटकार, 1 करोड़ जमा कराने की शर्त पर वूसली कार्रवाई से राहत     ||   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||

म्यांमार - नोबेल पुरस्कार विजेता आंग सान सू को भ्रष्टाचार के आरोपों में 7 साल की जेल , आरोपों को सू की ने किया खारिज

अंग्वाल न्यूज डेस्क
म्यांमार - नोबेल पुरस्कार विजेता आंग सान सू को भ्रष्टाचार के आरोपों में 7 साल की जेल , आरोपों को सू की ने किया खारिज

न्यूज डेस्क । नोबेल पुरस्कार विजेता और म्यांमार के दशकों के सैन्य शासन के विरोध दर्ज कर देश की सत्ता में आने वाले दिग्गज नेता आंग सान सू की को म्यांमार की एक अदालत ने शुक्रवार भ्रष्टाचार के आरोप में सात साल की जेल की सजा सुनाई है । उन्हें हेलिकॉप्टर किराए पर लेने और उसका रखरखाव करने से संबंधित भ्रष्टाचार के पांच मामलों में जेल में डाल दिया गया था । सू की को सेना ने तख्तापलट के बाद से हिरासत में लिया गया था । उन्हें पहले ही सजा सुनाई जा चुकी है जबकि वह अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इनकार करती रही हैं । 

बता दें कि आंग सान सू की ने म्यांमार में दशकों तक सैन्य शासन के खिलाफ लोकतंत्र के लिए लंबा सघर्ष किया । इसके चलते उनकी एक अंतरराष्ट्रीय छवि बनी । आंग सान सू म्यांमार की बेहद लोकप्रिय नेता हैं , जो अपने देश में लोकतंत्र की बहाली के लिए संघर्ष करती रही हैं ।  उन्हें 15 सालों से भी ज्यादा समय तक नजरबंद या जेल में रहना पड़ा था ,  फिर उन्होंने देश की कमान संभाल । हालांकि सैन्‍य तख्तापलट के बाद हाल ही में एक बार फिर सैन्य शासन ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था । 


बहरहाल , अब उन्हें भ्रष्टाचार के आरोपों में 7 साल की सजा सुनाई गई है । ऐसे में उनकी पार्टी का अस्तित्व भी खतरे में आ गया है । इसी क्रम में सेना ने म्यांमार में 2023 में नए सिरे से चुनाव कराने की घोषणा की है । गौरतलब है कि एक फरवरी 2021 को म्यांमार की सेना ने देश की बागडोर अपने हाथ में ले ली थी और आंग सान सू की के साथ म्यांमार के कई बड़े नेताओं को हिरासत में ले लिया था।

Todays Beets: