Sunday, February 5, 2023

Breaking News

   Supreme Court: कलेजियम की सिफारिशों को रोके रखना लोकतंत्र के लिए घातक: जस्टिस नरीमन     ||   Ghaziabad: NGT के फैसले पर नगर निगम को SC की फटकार, 1 करोड़ जमा कराने की शर्त पर वूसली कार्रवाई से राहत     ||   दिल्लीः फ्लाइट में स्पाइसजेट की क्रू के साथ अभद्रता के मामले में एक्शन, आरोपी गिरफ्तार     ||   मोरबी ब्रिज हादसा: ओरेवा ग्रुप के मालिक जयसुख पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी     ||   भारत जोड़ो यात्राः राहुल गांधी बोले- हम चाहते हैं कि बहाल हो जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा     ||   MP में नहीं माने बजरंग दल और हिंदू जागरण मंच, 'पठान' की रिलीज के विरोध का किया ऐलान     ||   समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या पर लखनऊ में FIR     ||   बजरंग पुनिया बोले - Oversight Committee बनाने से पहले हम से कोई परामर्श नहीं किया गया     ||   यमुना एक्सप्रेस-वे पर कोहरे की वजह से 15 दिसंबर से स्पीड लिमिट कम कर दी जाएगी     ||   भारत की यात्रा करने वाले ब्रिटेन के नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा फिर से शुरू     ||

सबसे लंबी नदी यात्रा पर 'गंगा विलास क्रूज' को PM मोदी ने किया रवाना, बोले - इसके रास्तों पर विकास की नई रोशनी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
सबसे लंबी नदी यात्रा पर

न्यूज डेस्क । पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को दुनिया की सबसे लंबी नदी यात्रा के लिए गंगा विलास क्रूज को रवाना किया । इस दौरान पीएम मोदी ने वाराणसी में टेंट सिटी का वर्चुअली उद्घाटन किया , साथ ही वाराणसी से डिब्रूगढ़ के बीच यात्रा करने वाले रिवर क्रूज एमवी गंगा विलास (MV Ganga Vilas) को हरी झंडी दिखाई । इस दौरान पीएम मोदी ने कहा - गंगा नदी हमारे लिए सिर्फ जलधारा नहीं है, बल्कि प्राचीन काल से तप-तपस्वियों की साक्षी है. मां गंगा ने भारतीयों को हमेशा पोषित किया है, प्रेरित किया है । उन्होंने कहा कि जहां से भी यह क्रूज गुजरेगा वहां से विकास की नई रोशनी गुजरेगी । वह बोले - 3200 किलोमीटर से ज्यादा लंबा ये सफर, भारत में वाटर-वे के विकास और नदी जलमार्गों के लिए बन रहे आधुनिक संसाधनों का जीता-जागता उधारण है ।

जानें गंगा विलास की खासियत 

एमवी 'गंगा विलास' क्रूज में 36 पर्यटकों की क्षमता और सभी सुविधाओं के साथ तीन डेक और बोर्ड पर 18 सुइट हैं । क्रूज में जिम, स्पा सेंटर, लाइब्रेरी समेत अन्य चीजें हैं । स्विट्जरलैंड और जर्मनी के 31 यात्रियों का एक समूह क्रूज पर सवार है और जहाज के 40 चालक दल के सदस्यों के साथ क्रूज यात्रा पर निकल चुका है । इस इवेंट में केंद्रीय मंत्री एस सोनोवाल, यूपी के सीएम आदित्यनाथ मौजूद थे । बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और असम के सीएम एचबी सरमा वर्चुअली इवेंट में शामिल हुए । 

यह जलधारा नहीं - तप-तपस्वियों की साक्षी है - मोदी


पीएम मोदी ने गंगा विलास क्रूज को रवाना करते हुए कहा, "रिवर क्रूज गंगा विलास का शुभारंभ हो गया है । गंगा नदी हमारे लिए सिर्फ जलधारा नहीं है, बल्कि प्राचीन काल से तप-तपस्वियों की साक्षी है । मां गंगा ने भारतीयों को हमेशा पोषित किया है, प्रेरित किया है । गंगा पट्टी आजादी के बाद पिछड़ती चली गई । लाखों लोगों का पलायन हुआ, इस स्थिति को बदलना जरूरी था और हमने नई सोच के साथ काम करना शुरू किया । एक तरफ नमामी गंगे के माध्यम से गंगा की निर्मलता के लिए काम किया, दूसरी तरफ अर्थ गंगा पर भी काम किया । आर्थिक गतिविधियों का नया वातावरण बनाया ।

विदेशी टूरिस्ट का विशेष अभिनंदन करता हूं

पीएम ने कहा - यूपी, बिहार, असम, बंगाल और बांग्लादेश की यात्रा के दौरान यह क्रूज हर तरह की सुविधा मुहैया करवाएगा । मैं सभी विदेशी टूरिस्ट का विशेष अभिनंदन करता हूं जो पहले सफर पर निकलने वाले हैं । मैं कहूंगा कि भारत के पास वो सबकुछ है जिसकी आप कल्पना कर सकते हैं । भारत की व्याख्या सिर्फ शब्दों में नहीं की जा सकती, हमें दिल से समझा सकता है । वह बोले - गंगा पार के क्षेत्र में नई टेंट सिटी काशी आने वाले लोगों को नया अनुभव देगी । इस टेंट सिटी में आधुनिकता और आस्था है । राग से लेकर स्वाद तक इस टेंट सिटी में देखने को मिलेगा। 

क्रूज टूरिज्म का नया दौर

वह बोले - देश में क्रूज टूरिज्म का नया दौर इस क्षेत्र में रोजगार, स्वरोजगार के नए अवसर देगा । विदेशी पर्यटकों के साथ देश के पर्यटकों के लिए भी ये खास अनुभव होगा । ये क्रूज जहां से भी गुजरेगा वहां विकास की नई रोशनी लाएगा । हम शहरों के बीच लंबे रिवर क्रूज के अलावा, अलग-अलग शहरों में छोटे क्रूज को भी बढ़ावा दे रहे हैं । काशी में भी ऐसी व्यवस्था चल रही है. बजट से लेकर लग्जरी क्रूज तक, हर प्रकार की सुविधाओं पर ध्यान दिया जा रहा है ।

सैटेलाइट से गंगा विलास की तुलना

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज गंगा विलास की शुरुआत होना एक साधारण घटना नहीं है ।  उन्होंने कहा, "जैसे कोई देश जब अपने दम पर सैटेलाइट को अंतरिक्ष में स्थापित करता है तो वो उस देश की तकनीती क्षमता को दिखता है । 

 

Todays Beets: