Friday, May 14, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

कोरोना की नई लहर पर पीएम मोदी सभी मुख्यमंत्रियों संग करने मंथन बैठक , ममता बनर्जी इस बार फिर नहीं आएंगी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कोरोना की नई लहर पर पीएम मोदी सभी मुख्यमंत्रियों संग करने मंथन बैठक , ममता बनर्जी इस बार फिर नहीं आएंगी

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना के एक बार फिर बढ़ते मामलों को लेकर गुरुवार एक बार फिर से राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने जा रहे हैं । लेकिन इस सबके बीच यह बात साफ हो गई है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इस बार भी इस बैठक में शिरकत नहीं करेंगी । इस दौरान पीएम मोदी सभी मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना की नई लहर पर मंथन करेंगे और राज्यों द्वारा उठाए जा रहे कदमों पर भी चर्चा करेंगे । 

विदित हो कि पीएम मोदी अब से कुछ देर बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने वाले हैं । इस बैठक में कोरोना वायरस की नई लहर पर चर्चा की जाएगी। इसके अलावा टीकाकरण अभियान पर भी बात की जाएगी। सूत्रों के मुताबिक पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी इस बैठक में शामिल नहीं होंगी। उनकी जगह मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय पीएम मोदी के साथ बैठक में भाग लेंगे। 

बता दें कि कोरोना वायरस के मुद्दे पर ऐसी ही आखिरी बैठक गत 17 मार्च को हुई थी। प्रधानमंत्री ने कुछ राज्यों में बढ़ते मामलों पर गंभीर चिंता जताई थी और दूसरी लहर को रोकने के लिए त्वरित और निर्णायक कदम उठाने को कहा था। इससे पहले पीएम मोदी ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ हुई उच्च स्तरीय बैठक में पांच सूत्रीय फॉर्मूला भी सुझाया था, जिसमें जांच, संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की पहचान, उपचार, कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन और टीकाकरण को जरूरी बताया था।


असल में स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बुधवार को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक देश में लगातार 28वें दिन संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी जारी है । इस समय कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 8,43,473 हो गई है । वहीं, लोगों के स्वस्थ होने की दर भी गिरकर 92.11 प्रतिशत हो गयी है। आंकड़ों के मुताबिक संक्रमण से अब तक 1,17,92,135 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि मृत्यु दर गिरकर 1.30 प्रतिशत हो गयी है।

कोरोना की नई लहर के तेजी से बढ़ने से पहले केंद्र सरकार ने राज्यों को पत्र लिखकर साफ किया था कि अभी वो अपने स्तर पर पाबंदियां लगा सकते हैं । लेकिन जिस तरह से एक बार फिर से कोरोना का प्रकोप बढ़ता दिख रहा है , ऐसी आशंका जताई जा रही है कि केंद्र सरकार की ओर से कोई कठोर फैसला फिर से लिया जा सकता है। 

Todays Beets: