Tuesday, October 26, 2021

Breaking News

   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||

पंजाब - मायावती की राह पर CM चन्नी , सरकारी कर्मचारियों को सुबह 9 बजे ऑफिस पहुंचने का आदेश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पंजाब - मायावती की राह पर CM चन्नी , सरकारी कर्मचारियों को सुबह 9 बजे ऑफिस पहुंचने का आदेश

चंडीगढ़ । पंजाब के पहले दलित मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने अपने कार्यकाल के पहले ही दिन जैसा आदेश जारी किया , उससे उत्तर प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री रहीं मायावती की याद ताजा हो गई । अपने कार्यकाल के पहले ही दिन सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने सरकारी अफसरों के लिए आदेश जारी करते हुए कहा है कि सभी सरकारी अधिकारियों और कर्मचारी अपने कार्यालय में सुबह 9 बजे पहुंचना शुरू कर दें । इतना ही नहीं अधिकारियों को कार्यालय समय के दौरान अपनी कुर्सी पर बैठने और जनता से मिलने के निर्देश दिए गए हैं ।  इस कदम का उद्देश्य सरकारी कार्यालयों में अनुशासन लाना है । यूपी में मायावती सरकार के दौरान भी उन्होंने सत्ता पर काबिज होते ही ऐसे ही आदेश जारी किए थे , जिसका कड़ाई से पालन भी करवाया गया था । 

विदित हो कि भारी विवादों के बीच चरणजीत सिंह चन्नी ने सोमवार को पंजाब के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है । इसके बाद उन्होंने एक आदे्श जारी करते हुए सरकारी कार्यालयों में पारदर्शिता लाने की आवश्यकता पर बल देते हुए सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को लोगों की शिकायतों का प्राथमिकता से निराकरण करने का निर्देश दिए हैं । 

इस दौरान उन्होंने कहा, ‘‘सभी सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों की आधिकारिक घंटों के दौरान कार्यालयों में उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए, प्रशासनिक सचिवों और विभाग प्रमुखों को सप्ताह में दो बार औचक निरीक्षण करना चाहिए ताकि उनके अधीन काम करने वाले कर्मचारियों पर नजर रखी जा सके । 


इस सबसे इतर , नवनियुक्त मुख्यमंत्री के में पंजाब कैबिनेट की कल एक बैठक भी हुई , जिसमें सस्ती दरों पर रेत उपलब्ध कराने, अनुसूचित जाति, पिछड़ वर्ग और गरीबी रेखा से नीचे के लोगों को 100 और बिजली यूनिट निशुल्क देने और ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की आपूर्ति निशुल्क करने पर चर्चा हुई । इस बैठक में सुबे के दोनों उपमुख्यमंत्री भी मौजूद रहे । 

विदित हो कि उत्तर प्रदेश में जब मायावती सत्ता में आईं थी तो उन्होंने सरकारी कर्मचारियों पर नकेल कसते हुए उन्हें सुबह 9 बजे हर हाल में अपने दफ्तर पहुंचने और जनता से मुलाकात कर उनकी समस्याओं के समाधान के निर्देश दिए थे । उस दौरान , यूपी में शासन स्तर पर कुछ सुधार तो देखने को मिले ही थे , कुछ इसी तर्ज पर अब पंजाब के सीएम ने अपना पहला आदेश जारी करते हुए सरकारी अफसरों कर्मचारियों पर नकेल कसी है । 

Todays Beets: