Tuesday, July 16, 2024

Breaking News

   एमसीडी में एल्डरमैन की नियुक्ति को चुनौती देने वाली याचिका पर SC 8 मई को करेगा सुनवाई     ||   यूक्रेन से युद्ध में दिसंबर से अब तक रूस के 20000 से ज्यादा लड़ाके मारे गए: अमेरिका     ||   IPL: मैच के बाद भिड़ गए थे गौतम गंभीर और विराट कोहली, लगा 100% मैच फी का जुर्माना     ||   पंजाब में 15 जुलाई तक सरकारी कार्यालयों में सुबह 7:30 बजे से दोपहर दो बजे तक होगा काम     ||   गैंगस्टर टिल्लू की लोहे की रोड और सूए से हत्या, गोगी गैंग के 4 बदमाशों ने किया हमला     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 'द केरल स्टोरी' पर बैन लगाने की मांग वाली याचिका पर तुरंत सुनवाई से किया इनकार     ||   नीतीश कटारा हत्याकांड: SC में नियमित पैरोल की मांग करने वाली विशाल यादव की याचिका खारिज     ||   'मैंने सिर्फ इस्तीफा दिया है, बाकी काम करता रहूंगा' नेताओं के मनाने पर बोले शरद पवार     ||   सोनिया गांधी दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती    ||   कर्नाटक हिजाब केस में SC ने तुरंत सुनवाई से इंकार किया    ||

LIVE - राहुल गांधी 72 घंटों में सशर्त कांग्रेस अध्यक्ष पद पर बने रहने को तैयार, कहा- वक्त लिजिए और गैर गांधी अध्यक्ष चुनिए

अंग्वाल संवाददाता
LIVE - राहुल गांधी 72 घंटों में सशर्त कांग्रेस अध्यक्ष पद पर बने रहने को तैयार, कहा- वक्त लिजिए और गैर गांधी अध्यक्ष चुनिए

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों में मिली हार के बाद कांग्रेस की वर्किंग कमेटी में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने इस्तीफे की पेशकश की । इतना ही नहीं इस दौरान राहुल गांधी ने कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेताओं पर अपने बच्चों को टिकट दिलवाने के लिए ज्यादा सक्रिय होने और चुनावों पर कम ध्यान देने की बातें तक कह डालीं। इस सब में उन्होंने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भी नाम लिया था । इस सब के बीच खबर है कि अपने इस्तीफे की पेशकश के 72 घंटे के भीतर ही राहुल गांधी के तेवर नरम पड़ गए हैं। सूत्रों का कहना है कि पार्टी नेताओं के काफी मानमनोव्वल के बाद राहुल सशर्त पार्टी अध्यक्ष बने रहने पर मानते नजर आ रहे हैं। पार्टी नेताओं ने राहुल से कहा है कि पार्टी को उनका विकल्प नहीं मिल रहा है । वह अपनी मर्जी से पार्टी को चलाएं । वहीं मंगलवार सुबह अशोक गहलोत एक बार फिर राहुल गांधी से मिलने पहुंचे, इससे पहले सचिन पायलट भी राहुल गांधी से मिले ।

MODI वाराणसी  - इस बार के चुनावों में अंकगणित ने केमिस्ट्री को हराया , यूपी ने लोकतंत्र की नींव मजबूत की

बता दें कि लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के बदस्तूर जारी रहने के क्रम से आहत होकर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने वर्किंग कमेटी की बैठक में  अपने इस्तीफे की पेशकश कर डाली । हालांकि वर्किंग कमेटी ने उनके इस्तीफे की पेशकश को खारिज कर दिया है , लेकिन राहुल गांधी ने अहमद पटेल और केसी वेणुगोपाल से मिलकर अपना विकल्प खोजने के लिए कहा था । लेकिन अब कहा जा रहा है कि राहुल के तेवर नरम पड़ गए हैं।  खबर है कि राहुल गांधी कुछ ओर समय तक पार्टी अध्यक्ष रह सकते हैं, लेकिन इसके लिए उन्होंने कुछ शर्ते रखी हैं।


राहुल गांधी ने दो वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं से मुलाकात कर कहा - मेरा विकल्प खोज लो , इस्तीफा वापस नहीं लूंगा

सूत्रों के अनुसार , पार्टी अध्यक्ष बने रहने के अनुरोध के बीच राहुल गांधी ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के साथ कई दौर की बैठकें की । कहा जा रहा है कि राहुल गांधी सशर्त अध्यक्ष पद पर बने रहने के लिए राजी हो गए हैं। राहुल गांधी ने कहा गया है कि वह अपनी मर्जी के अनुसार पार्टी को चलाएं । पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि पार्टी को उनका कोई विकल्प नहीं मिल रहा है । ऐसे में वह पार्टी की कार्यप्रणाली में जो भी बदलाव करना चाहते हैं करें , लेकिन पद पर बने रहें।

 

Todays Beets: