Wednesday, October 28, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

दुष्कर्म के बढ़ते मामलों पर राजस्थान से DGP बोले - आपसी विवाद में दबाव बनाने के लिए भी हो रहे दुष्कर्म के झूठे मुकदमे 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
दुष्कर्म के बढ़ते मामलों पर राजस्थान से DGP बोले - आपसी विवाद में दबाव बनाने के लिए भी हो रहे दुष्कर्म के झूठे मुकदमे 

जयपुर । देश में पिछले दिनों से रेप के कुछ मामलों को लेकर जारी सियासी बयानबाजी और घमासान के बीच राजस्थान के डीजीपी भूपेंद्र सिंह यादव का एक बयान आया है , जो काफी सुर्खियों में है । असल में डीजीपी ने हालिया घटनाक्रमों और उस पर देश में नाराजगी पर कहा कि अब संपत्ति विवाद या आपसी विवाद को निपटाने के लिए भी दुष्कर्म के भी क्रास केस दर्ज हो रहे हैं । यह अपने विरोधी को दबाने का एक नया चलन शुरू हो गया है । इस सब के चलते पीड़ित को भी न्याय मिलने में देरी होती है, ये है एक गंभीर मसला है । आलम यह है कि इन दिनों इंटरनेट पर अपराधिक सामग्रियां भी काफी मात्रा में प्रसारित हो रही हैं, जो पूरी तरीके से वर्जित है । 

बता दें कि हाथरस कांड को लेकर जहां कांग्रेस यूपी की योगी सरकार पर हमलावर है , वहीं भाजपा नेताओं का कहना है कि कांग्रेसी नेता राहुल गांधी और प्रियंका , राजस्थान में हुए रेप के मामलों में और दोषियों की सजा के लिए राजस्थान में क्यों नहीं पीड़ित परिवारों से मिलने जा रहे हैं । इस सबके बीच राजस्थान के डीजीपी भूपेंद्र सिंह यादव का बयान आया है । 

उन्होंने कहा - राजस्थान में हिंसक अपराध बढ़ रहे हैं, जिसके कई कारण हो सकते हैं । इसमें जनसंख्या, बेरोजगारी और इंटरनेट से अपराधिक गतिविधियों की प्रेरणा लेना शामिल है । हालांकि हम इस बात पर जोर दे रहे हैं कि कैसे प्रदेश के बच्चों को ज्यादा से ज्यादा शिक्षित किया जाए । इतना ही नहीं उनके परिजनों को भी इस बारे में समझाया जाए । 


उन्होंने पुलिस कर्मियों की शिकायतों पर कहा कि इसका अहम कारण यह है कि हर आदमी पुलिसकर्मी से अपेक्षा रखता है और यह जरूरी नहीं कि कोई हर आदमी शालीन हो । शालीन होने के लिए किसी भी रैंक का कोई ताल्लुक नहीं है ।  जो गलती करता है और गलती करते पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होती है । 

हालांकि अपराध में इंटरनेट की भूमिका पर उन्होंने कहा कि पुलिस ने अपने स्तर पर दर्जनों साइटों को हटाया है। लेकिन बावजूद इसके हर रोज नई-नई साइट बन जाती है। हम इन पर पूरी तरह नजर रख रहे हैं । हम साइबर क्राइम को रोकने के लिए नई कार्ययोजना बना रहे है। इसके लिए नई सेल का गठन किया गया है । इसमें बाहर के भी कई एक्सपर्ट लोगों को शामिल किया गया है।

 

Todays Beets: