Tuesday, November 30, 2021

Breaking News

   टीम इंडिया भी रद्द कर सकती है साउथ अफ्रीका दौरा? इस वजह से बढ़ी टेंशन     ||   CJI सीजेआई ने सरकार को दी ये नसीहत, कहा- तभी निडर होकर काम कर पाएंगे जज     ||   DNA: अमेरिका की महागरीबी का विश्लेषण, 17 प्रतिशत आबादी है गरीबी रेखा से नीचे     ||   कृषि कानूनों को रद्द करने का रास्ता साफ, लोक सभा में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पेश करेंगे बिल     ||   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||

अब किसानों के दूसरे मुद्दों को लेकर होगा आंदोलन , MSP पर गारंटी से पहले नहीं हटेंगे - राकेश टिकैत

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अब किसानों के दूसरे मुद्दों को लेकर होगा आंदोलन , MSP पर गारंटी से पहले नहीं हटेंगे - राकेश टिकैत

नई दिल्ली । किसान नेता राकेश टिकैत ने तीन कृष कानूनों को रद्द किए जाने के ऐलान के बाद अपने आंदोलन को खत्म किए जाने के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि अब वह किसानों के दूसरे मुद्दों को लेकर अपना आंदोलन जारी रखेंगे । टिकैत ने कहा कि अभी किसानों की एमएसपी समेत कई ऐसी समस्याएं हैं , जिसपर सरकारों का ध्यान है ही नहीं , हमें किसानों की समस्याओं का अब पूरा समाधान चाहिए । अब सरकार को सोचना है कि एमएसपी पर गारंटी कानून लाएगी या नहीं क्योंकि जब तक किसानों की सभी मांगे पूरी नहीं होती तब तक किसान दिल्ली की सीमाओं से हटने वाले नहीं हैं । उनका आंदोलन लगातार जारी रहेगा । 

अगले चार दिनों का प्लान बताया

राकेश टिकैत ने इस दौरान अपने आगामी चार दिनों का प्लान साझा किया । उन्होंने बताया कि कल यानी 27 नवम्बर को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक है और उस बैठक में सभी मुद्दों को रखा जाएगा जिसके बाद किसानों के आंदोलन की आगे रणनीति तय होगी । इसके बाद 29 तारीख को गाजीपुर और सिंधु बॉर्डर से 30-30 ट्रैक्टरों में कुल मिलाकर 1000 लोग दिल्ली स्थित संसद के सामने ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे । अब किसान शांत बैठने वाले नहीं हैं क्योंकि सरकार ने तीनों कृषि कानून वापस लेने का एलान भले कर दिया हो लेकिन किसान शुरू से एमएससी पर गारंटी कानून मांग रहे थे, जिसको लेकर सरकार ने अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है । इसीलिए किसानों का आंदोलन अभी खत्म नहीं होगा ।

एक साल से बैठे है...

टिकैत बोले - दिल्ली की सीमाओं पर हम पिछले एक साल से बैठे हैं । यह आंदोलन इतनी जल्दी खत्म होने वाला नहीं है क्योंकि जिन मुद्दों को लेकर वह घर से निकले थे वह मुद्दे आज भी जिंदा हैं . जब तक वह मुद्दे और मांगे पूरी नहीं होती तब तक वह घर वापस नहीं जाएंगे । उन्होंने कहा कि अब तो हम दिल्ली में उन रास्तों से जाएंगे जिन्हें दिल्ली पुलिस खुला हुआ बताती है । अगर किसानों को रोकने की कोशिश की गई तो वहीं धरने पर बैठेंगे । दिल्ली पुलिस को सोचना है कि किसानों को दिल्ली जाने देंगे या नहीं । 

आधी जीत होना बाकी है


अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए टिकैत बोले - किसानों की आधी जीत हुई है, आधी जीत होना बाकी है । इसके लिये हमारा संघर्ष जारी रहेगा । उन्होंने कहा कि एमएसपी कानून किसानों के लिए बेहद जरूरी है और जब तक यह कानून सरकार लेकर आती नहीं तब तक किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे रहेंगे । 

सरकार को लिखा खुला पत्र

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार को जो खुला पत्र लिखा गया था उसका भी जवाब अभी तक नहीं आया है . यह सभी मुद्दे संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक में उठाए जाएंगे और संयुक्त किसान मोर्चा तय करेगा कि किसानों का आंदोलन आगे क्या रूप लेगा । ओवैसी को बताया खुल्ला सांड

इस दौरान , उन्होंने हैदराबाद के नेता ओवैसी को खुल्ला सांड करार देते हुए कहा कि वह लगातार भाजपा के लिए काम करते हैं । टिकैत ने ओवैसी पर निशाना साधते हुए कहा है कि आपके यहां एक बेलगाम दांतवाला सांड़ छोड़ दिया है जो भाजपा की मदद कर रहा है, उसे यहीं बांधकर रखो। वह भाजपा की सबसे बड़ी मदद करता है, उसे बाहर मत जाने दो, वो बोलता है कुछ और उसका मकसद कुछ और, उसकी जांच कर लेना, उसे बांध कर रख लो। उसे हैदराबाद और तेलंगाना से बाहर मत जाने दो।

 

Todays Beets: