Friday, August 19, 2022

Breaking News

   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||   अगले साल अंतरिक्ष जाएंगे भारतीय , एक या दो भारतीयों को भेजने की योजना है     ||   कोरोना से 24 घंटे में 16678 लोग हुए संक्रमित     ||   उद्धव ठाकरे ने विधायकों को लिखी भावुक चिट्ठी     ||   सुप्रीम कोर्ट मे विजय माल्या का बड़ा झटका, अवमानना मामले में दोषी करार     ||   सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र में विधायकों की अयोग्यता पर फैसला लेने से स्पीकर को रोका     ||   मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया, कुलगाम में बैंक मैनेजर की हत्या में शामिल था: IGP कश्मीर     ||

Live - रानिल विक्रमसिंघे होंगे श्रीलंका के नए राष्ट्रपति , पोस्टल बैलट से हुई वोटिंग में 134 सांसदों का मिला समर्थन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
Live - रानिल विक्रमसिंघे होंगे श्रीलंका के नए राष्ट्रपति , पोस्टल बैलट से हुई वोटिंग में 134 सांसदों का मिला समर्थन

नई दिल्ली। Sri Lanka Presidential Election - श्रीलंका में जारी सियासी घमासान के बीच आज बुधवार को नए राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव हुआ , जिसमें रानिल विक्रमसिंघे को श्रीलंका के नए राष्ट्रपति के रूप में चुन लिया गया है । पोस्टल बैलट से हुई वोटिंग में 134 सांसदों ने रानिल विक्रमसिंघे के पक्ष में वोट डालकर उन्हें विजेता बनाया । हालांकि अभी रानिल विक्रमसिंघे कार्यवाहक राष्ट्रपति की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं ।  दुल्लास अल्हाप्पेरुमा को 82 वोट मिले जबकि अनुरा कुमारा दिसानायके के पक्ष में सिर्फ 3 सांसदों  ने वोट किया। रायटर्स के मुताबिक, राष्ट्रपति चुनाव में जीत के बाद रानिल विक्रमसिंघे ने कहा कि देश काफी मुसीबत की स्थिति में हैं ।  उन्होंने कहा कि आगे और बड़ी चुनौती है । 

विदित हो कि एसएलपीपी के अध्यक्ष जी एल पीरिस ने मंगलवार को कहा था कि सत्तारूढ़ श्रीलंका पोदुजाना पेरामुना (एसएलपीपी) पार्टी के अधिकतर सदस्य इससे अलग हुए गुट के नेता अल्हाप्पेरुमा को राष्ट्रपति पद के लिए और प्रमुख विपक्षी नेता सजित प्रेमदासा को प्रधानमंत्री पद के लिए चुने जाने के पक्ष में हैं । रानिल विक्रमसिंघे का मुकाबला अल्हाप्पेरुमा और जेवीपी के नेता अनुरा कुमारा दिसानायके से था । अल्हाप्पेरुमा सिंहली बौद्ध राष्ट्रवादी हैं और एसएलपीपी से अलग हुए धड़े के प्रमुख सदस्य हैं । 

आपको बता दें कि श्रीलंका में 1978 के बाद से पहली बार राष्ट्रपति का चुनाव सांसदों द्वारा गुप्त मतदान किया गया । इससे पहले 1993 में कार्यकाल के बीच में ही राष्ट्रपति का पद तब खाली हुआ था, जब तत्कालीन राष्ट्रपति रणसिंघे प्रेमदासा की हत्या कर दी गई थी । विदित हो कि श्रीलंका में लंबे समय से जारी आर्थिक संकट के बीच पिछले कुछ दिनों में लोगों को आपातकाल झेलना पड़ा । देश की जनता अपने शीर्ष नेतृत्व का विरोध करते हुए लाखों की संख्या में सड़कों पर उतर आई थी । इस बीच श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति गोटाबाया


राजपक्षे देश छोड़कर भाग गए , जिससे गुस्साई जनता राष्ट्रपति भवन में घुस गई , कुछ दिन कोलंबो की सड़कों पर पूरी तरह लोगों का कब्जा रहा । यहां तक की सेना भी उनके आगे झुक गई थी । 

बहरहाल , अब खबर है कि नए राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे नवंबर 2024 तक इस पद पर रहेंगे । क्योंकि पूर्व राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे (Gotabaya Rajapaksa) का शेष कार्यकाल इस समयावधि तक रहेगा । 

गौरतलब है कि राजनीतिक और आर्थिक उथल-फुथल से गुजर रहे श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे जनता के भारी विरोध के देश छोड़कर भाग गए थे और उसके बाद उन्होंने इस्तीफा देने की घोषणा की थी । वह फिलहाल सिंगापुर (Singapore) में हैं । इस समय प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे राष्ट्रपति पद का कार्यभार अस्थायी रूप से संभाल रहे हैं।

Todays Beets: