Tuesday, November 24, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन चीफ अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी का यह है असली कारण , जानें क्या है पूरा मामला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन चीफ अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी का यह है असली कारण , जानें क्या है पूरा मामला

मुंबई । महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार से सुशांत सिंह राजपूत केस को लेकर भिड़ने वाले रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन चीफ अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) के अलावा अन्य 2 लोगों को रायगढ़ पुलिस ने बुधवार गिरफ्तार कर लिया है । हालांकि उन्हें किसी राजनीतिक मामले में नहीं बल्कि 53 वर्षीय इंटीरियर डिजाइनर को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार किया गया है । वर्ष 2018 के इस मामले में गत मई में महाराष्ट्र सरकार की तरफ से इस केस की सीआईडी जांच के आदेश दिए गए थे । बहरहाल, इस मामले में पुलिस ने अर्नब के घर की तलाशी ली और बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया । अलीबाग के कोर्ट में पेश किया जा सकता है । पुलिस ने अर्नब गोस्वामी के अलावा फिरोज शेख और नितेश सारदा को भी गिरफ्तार किया है । 

बता दें कि रायगढ़ पुलिस ने यह कार्रवाई अर्नब गोस्वामी, फिरोज शेख और नितेश सारदा पर कथित रूप से एक 53 वर्षीय इंटीरियर डिजाइनर की बकाया राशि न देने और उसपर और उसकी मां को आत्महत्या करने के लिए उकसाने के आरोपों के बाद लगाया है । असल में आत्महत्या के इस मामले की सीआईडी द्वारा पुनः जांच करने के आदेश दिए गए थे । कथित तौर पर अन्वय नाइक द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट में कहा गया था कि आरोपियों ने उनके 5.40 करोड़ रुपये का भुगतान नहीं किया था, इसलिए उन्हें आत्महत्या का कदम उठाना पड़ा । हालांकि रिपब्लिक टीवी ने आरोपों को खारिज कर दिया था ।


लेकिन बाद में सीआईडी जांच को लेकर राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा था, 'इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक की बेटी आज्ञा नाइक ने दावा किया था कि रायगढ़ जिले में अलीबाग पुलिस ने बकाया राशि न दिए जाने के मामले की जांच नहीं की थी , इसलिए अन्वय और उनकी मां को आत्महत्या का कदम उठाना पड़ा ।'  

वहीं अर्नब की गिरफ्तारी पर अभिनेत्री कंगना रनौत ने कहा कि मैं महाराष्ट्र सरकार से पूछना चाहती हूं कि कितनी आवाज बंद करेगी । ये मुंह बढ़ते जाएंगे । आज से पहले कई शहीदों ने अपनी शहादत दी है । आखिर इतना गुस्सा क्यों आता है। 

Todays Beets: