Tuesday, November 30, 2021

Breaking News

   टीम इंडिया भी रद्द कर सकती है साउथ अफ्रीका दौरा? इस वजह से बढ़ी टेंशन     ||   CJI सीजेआई ने सरकार को दी ये नसीहत, कहा- तभी निडर होकर काम कर पाएंगे जज     ||   DNA: अमेरिका की महागरीबी का विश्लेषण, 17 प्रतिशत आबादी है गरीबी रेखा से नीचे     ||   कृषि कानूनों को रद्द करने का रास्ता साफ, लोक सभा में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पेश करेंगे बिल     ||   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||

यूपी विधानसभा चुनावों से पहले सपा - बसपा को करारा झटका , दोनों दलों के 10 एमएलसी भाजपा में होंगे शामिल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यूपी विधानसभा चुनावों से पहले सपा - बसपा को करारा झटका , दोनों दलों के 10 एमएलसी भाजपा में होंगे शामिल

लखनऊ । उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों  (UP Assembly Election 2022) को लेकर अब सियासी दलों ने अपना बिगुल फूंक दिया है । सियादी दलों ने जहां विपक्षी दलों पर आरोप प्रत्यारोप के साथ ही सेंधमारी शुरू कर दी है , वहीं कुछ दलों ने अपनी रनणनीति को अंजाम देने के लिए बिसात बिछानी शुरू कर दी हैं । इसी क्रम में समाजवादी पार्टी को चुनावों से पहले करारा झटका भी लगा है । खबर है कि सपा और बसपा के 10 एमएलसी ने कमल का फूल थामने का फैसला ले लिया है । ये सभी नेता बुधवार को भाजपा की सदस्यता ग्रहण करेंगे । 

विदित हो कि उत्तर प्रदेश में लगातार विपक्षी दलों के नेताओं का चुनावों से पहले एक दूसरे के दलों में आने जाने का क्रम तेज हो गया है । इसी कड़ी में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और भाजपा के उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने सपा के खेमे में बड़ी सेंध लगाई है । खबर है कि सपा के रविशंकर सिंह पप्पू, सीपी चंद, अक्षय प्रसाद सिंह और बसपा के बृजेश कुमार सिंह सहित 10 एमएलसी कल भाजपा का दामन थाम लेंगे । 

विदित हो कि विपक्षी दलों के नेताओं का भाजपा में शामिल होने का क्रम जारी है । भाजपा भी उन नेताओं को अपना कमल थमाने में इच्छुक नजर आ रहा है , जिनका अपने क्षेत्र में खासा प्रभाव रहा है । यूपी में पूर्व के चुनावों पर नजर डालें तो भाजपा ने अपनी रणनीति के तहत ऐसे दमदार नेताओं को अपने खेमे में करने में सफलता पाई है । 


बहरहाल, इस बार के चुनावों में यूपी में सिर्फ ही सपा ही नजर आ रही है जो भाजपा को कुछ टक्कर देती नजर आ रही है । ऐसी स्थिति में भाजपा की सपा के नेताओं में सेंधमारी करके कई नेताओं को एकसाथ अपने साथ जोड़ना सपा के लिए बड़ा झटका साबित होगा । हालांकि इस बार सपा भी कई अन्य दलों के साथ गठबंधन करने की जुगत में जुटा है । इतना ही नहीं उसने भी कुछ अन्य दलों के नेताओं को अपने खेमे में शामिल करने में सफलता पाई है । 

 

Todays Beets: