Saturday, January 29, 2022

Breaking News

   बिहार: खान सर के समर्थन में उतरे पप्पू यादव, बोले- शिक्षकों पर केस दुर्भाग्यपूर्ण     ||   पंजाब: राहुल गांधी ने स्वर्ण मंदिर में माथा टेका, CM चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू भी साथ     ||   UP: मथुरा में बोले गृह मंत्री अमित शाह- माफिया पर कार्रवाई से अखिलेश को दर्द हुआ     ||   सीएम योगी का सपा पर तंज- जो लोग फ्री बिजली देने की बात कर रहे, उन्होंने UP को अंधेरे में रखा     ||   अरुणाचल प्रदेश से कई दिनों से लापता छात्र चीनी सेना को मिला, भारतीय सेना को दी गई जानकारी     ||   हैदराबाद: उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू कोरोना पॉजिटिव, एक हफ्ते तक आइसोलेशन में रहेंगे     ||   नेताजी की प्रतिमा का पीएम मोदी ने किया अनावरण, कहा- हमारे सामने नए भारत के निर्माण का लक्ष्य     ||   'यूपी में सबसे ज्यादा महिलाएं असुरक्षित हैं', अखिलेश यादव का बीजेपी पर अटैक     ||   दुख की बात है कि हमारे वीर जवानों के लिए जो अमर ज्योति जलती थी, उसे आज बुझा दिया जाएगा- राहुल गांधी     ||   चन्नी चमकौर साहिब से चुनाव हार रहे हैं, ED को गड्डी गिनता देख लोग सदमे में हैं- अरविंद केजरीवाल     ||

वसीम रिजवी ने इस्लाम धर्म छोड़ हिंदू धर्म अपनाया , गाजियाबाद में महंत यति नरसिंहानंद ने सनातन धर्म ग्रहण करवाया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
वसीम रिजवी ने इस्लाम धर्म छोड़ हिंदू धर्म अपनाया , गाजियाबाद में महंत यति नरसिंहानंद ने सनातन धर्म ग्रहण करवाया

गाजियाबाद । आखिरकार शिया वक्फ बोर्ड (Shia Waqf Board) के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी (Wasim Rizvi) ने इस्लाम धर्म को छोड़कर विधिविधान से हिंदू धर्म अपना लिया है । सोमवार सुबह गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर (Dasna Devi Temple) के शिव शक्ति धाम के महंत यति नरसिंहानंद गिरि महाराज (Yati Narsinghanand Giri Maharaj) ने उन्हें सनातन धर्म ग्रहण करवाया । पिछले दिनों कुरान की आयतों को हटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट  में अर्जी देने वाले वसीम रिजवी ने इस्लाम धर्म को छोड़कर हिंदू धर्म स्वीकारने की बात कही थी , जिसे उन्होंने पूरा कर दिया । 

असल में पिछले दिनों वसीम रिजवी उस समय सुर्खियों में चर्चा में आए थे जब उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में कुरान की आयतों को हटाने के लिए अर्जी दी थी । इसके बाद कई अल्पसंख्यक संगठनों ने उनका विरोध किया । इसके बाद उनकी एक किताब लॉंच हुई , जिसमें मौजूद तथ्यों ने जमकर हंगामा मचाया । उनकी किताब पर जमकर विवाद हुआ । इसके बाद उन्होंने इस्लाम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म अपनाने का ऐलान किया था । उनके इस ऐलान के बाद बड़ी संख्या में हिंदू धर्मगुरुओं ने वसीम रिजवी के हिंदू बनने का स्वागत किया है । 

इतना ही नहीं कुछ समय पहले वसीम रिजवी ने अपनी वसीयत में भी लिख दिया था कि मरने के बाद उन्हें दफनाने की बजाय हिंदू रीति रिवाज से उनका अंतिम संस्कार किया जाए । हालांकि मुस्लिम समुदाय का कहना है कि इस्लाम और शियाओं से इसका कुछ लेना-देना नहीं है । 


इससे इतर , कुछ दिन पहले वसीम रिजवी ने एक वीडियो भी जारी किया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि उनकी हत्या की साजिश रची जा रही है। कट्टरपंथी उनकी गर्दन काटना चाहते हैं । उन्होंने कोर्ट में कुरान की 26 आयतों के खिलाफ याचिका दायर की है , इसीलिए उन्हें ऐसी धमकियां मिल रही हैं । उन्होंने कहा है कि मरने के बाद उनका अंतिम संस्कार किया जाए । उनकी चिता को आग महंत यति नरसिंहानंद गिरि महाराज ही दें । 

 

Todays Beets: