Tuesday, November 30, 2021

Breaking News

   टीम इंडिया भी रद्द कर सकती है साउथ अफ्रीका दौरा? इस वजह से बढ़ी टेंशन     ||   CJI सीजेआई ने सरकार को दी ये नसीहत, कहा- तभी निडर होकर काम कर पाएंगे जज     ||   DNA: अमेरिका की महागरीबी का विश्लेषण, 17 प्रतिशत आबादी है गरीबी रेखा से नीचे     ||   कृषि कानूनों को रद्द करने का रास्ता साफ, लोक सभा में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पेश करेंगे बिल     ||   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||

बांबे हाईकोर्ट का निर्देश - NCB अधिकारी समीर वानखेड़ के परिवार पर अपनी जुबान बंद रखें नवाब मलिक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बांबे हाईकोर्ट का निर्देश - NCB अधिकारी समीर वानखेड़ के परिवार पर अपनी जुबान बंद रखें नवाब मलिक

मुंबई । बांबे हाईकोर्ट ने गुरुवार को एक निर्देश जारी करते हुए एनसीपी नेता नवाब मलिक को झटका दिया है । कोर्ट ने अपने इस निर्देश में नवाब मलिक और उसके परिजनों से कहा कि वह वानखेड़े के परिवार के खिलाफ सोशल मीडिया पर कुछ भी शेयर नहीं करेंगे । कोर्ट ने अपने इस आदेश में साफ कर दिया है कि वानखेड़े के परिवार के खिलाफ किसी भी तरीके से कोई बयानबाजी नहीं की जाएगी ।  

बता दें कि फर्जी सर्टिफिकेट से नौकरी पाने के आरोपों का सामना कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के परिवार को गुरुवार बांबे हाईकोर्ट ने बड़ी राहत देते हुए उनके परिजनों पर नवाब मलिक के हमलों पर रोक लगाई गई है । कोर्ट ने वानखेड़े के पिता की याचिका पर सुनवाई करते हुए नवाब मलिक और उनके परिवार को निर्देश दिए हैं कि नवाब मलिक और उनके परिवार को कोई भी शख्स वानखेड़े और उसके परिवार के खिलाफ किसी भी तरह का कोई भी बयानबाजी नहीं करेगा । 


असल में नवाब मलिक के लगातार आरोपों के मद्देनजर समीर वानखेड़े के पिता ने बांबे हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की थी । बांबे हाईकोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई करते हुए नवाब मलिक को झटका दिया । 

वानखेड़े के पिता ज्ञानदेव ने इस महीने की शुरुआत में उच्च न्यायालय में मलिक के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर किया था, जिसमें अन्य बातों के अलावा, मंत्री को उनके और उनके परिवार के खिलाफ सोशल मीडिया पर अपमानजनक बयान पोस्ट करने से रोकने का अनुरोध किया गया था । ज्ञानदेव वानखेड़े ने भी 1.25 करोड़ रुपये के हर्जाने की भी मांग की है । 

Todays Beets: