Friday, November 27, 2020

Breaking News

   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||   लक्ष्मी विलास होटल केस: पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी हुए सीबीआई कोर्ट में पेश     ||   पश्चिम बंगाल: CM ममता बनर्जी ने अलापन बंद्योपाध्याय को बनाया मुख्य सचिव     ||   काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में 3 अक्टूबर को होगी अगली सुनवाई     ||   इस्तीफे पर बोलीं हरसिमरत कौर- मुझे कुछ हासिल नहीं हुआ, लेकिन किसानों के मुद्दों को एक मंच मिल गया     ||   ईडी के अनुरोध के बाद चेतन और नितिन संदेसरा भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित     ||   रक्षा अधिग्रहण परिषद ने विभिन्न हथियारों और उपकरणों के लिए 2290 करोड़ रुपये की मंजूरी दी     ||

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के खिलाफ जाकिर हुसैन ने उगला जहर , कहा- मिलेगी दर्दनाक सजा 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के खिलाफ जाकिर हुसैन ने उगला जहर , कहा- मिलेगी दर्दनाक सजा 

नई दिल्ली । फ्रांस में इस्लाम को लेकर चल रही बहस में अब दुनिया के कई देश आ गए हैं । पीएम नरेंद्र मोदी , एंजेला मर्केल, डोनाल्ड ट्रंप समेत दुनिया के कई बड़े नेताओं ने फ्रांस में हुए आतंकी हमले की निंदा की है। वहीं फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों की इस्लाम को लेकर की गई टिप्पणी के खिलाफ कई देशों में प्रदर्शन हो रहे हैं । इसकी आड़ में भड़काऊ भाषण देने के लिए मशहूर जाकिर नाइक ने भी जहर उगला है । जाकिर ने पहले सोशल मीडिया पर फ्रांस के प्रोडक्ट्स को बायकॉट करने की अपील की थी, जिसके बाद अब भड़काऊ पोस्ट में लिखा - ... लेकिन अल्लाह के दूत को गाली देने वालों को एक दर्दनाक सजा मिलेगी । इससे पहले मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर ने भी विवादित बयान दिया है ।

बता दें कि पिछले दिनों फ्रांस में एक टीचर ने क्लास के अंदर स्टूडेंट्स के पैगम्बर मोहम्मद साहब का विवादित कार्टून दिखाया था । इसके बाद एक छात्र ने शिक्षक की हत्या कर दी थी । इस घटनाक्रम को फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रौं ने इस्लामी आंतकवाद करार दिया था । 

इसके साथ ही फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रौं ने पैगम्बर मोहम्मद साहब के विवादित कार्टून को जारी रखने की बात कही थी । इमैनुअल मैक्रों के बयान के बाद कई मुस्लिम देश विरोध में उतर आए हैं. फिलिस्तीन, तुर्की, जॉर्डन, कतर, सऊदी अरब, बंग्लादेश, पाकिस्तान समेत कई देश में प्रदर्शन हो रहा है । यहां तक कि फ्रांस के प्रोडक्ट्स का बॉयकॉट किया जा रहा है ।   


अब इस जंग में मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद भी कूद पड़े हैं । उन्होंने ट्वीट के जरिए फ्रांस के खिलाफ एक एक करके कई बयान दिए हैं , जिनकी दुनिया भर में जमकर निंदा हो रही है । 

बता दें कि महातिर ने अपने ट्वीट में लिखा कि फ्रांस में अबतक कई हजार लोगों को मारा जा चुका है, जिसमें से कई मुस्लिम थे । फ्रांस को अपने लोगों को समझाना चाहिए और फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन की रक्षा करनी चाहिए । हालांकि, महातिर मोहम्मद ने ये भी लिखा कि मुस्लिमों ने फ्रांस में आंख के बदले आंख के कानून को नहीं अपनाया है, ऐसे में फ्रांसीसी लोगों को भी ऐसा नहीं करना चाहिए । 

मलेशिया के पूर्व पीएम के ट्वीट पर अब दुनिया भर में इसकी निंदा की जा रही है । आपको बता दें कि फ्रांस में पैंगबर मोहम्मद के कार्टून को लेकर छिड़ी बहस के बीच ही गुरुवार को नाइस शहर में एक और हमला हुआ । जहां हमलावर ने अल्लाह हू अकबर के नारे लगाते हुए चर्चा में अटैक किया, इसमें तीन लोगों की मौत हो गई एक महिला का गला काट दिया गया ।  

Todays Beets: