Tuesday, October 26, 2021

Breaking News

   52वां इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया 20 से 28 नवंबर तक गोवा में होगा     ||   पीएम मोदी की अपील- मेड इन इंडिया सामान खरीदने पर जोर दें, इसके लिए सब प्रयास करें     ||   भारत में 100 करोड़ वैक्सीनेशन पर बिल गेट्स ने दी पीएम मोदी को बधाई     ||   सेना की 39 महिला अफसरों की बड़ी जीत, मिलेगा स्थायी कमीशन; SC ने दिया आदेश     ||   बिहार में महागठबंधन टूटा, कांग्रेस का ऐलान 2024 के आम चुनाव में सभी 40 सीटों पर लड़ेगी पार्टी     ||   तेजस्वी यादव बोले- पेड़, जानवरों की गिनती हो सकती है तो फिर जाति आधारित जनगणना क्यों नहीं     ||   तालिबान की अमेरिका को धमकी, 31 अगस्त के बाद भी रही सेना तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहे    ||   कर्नाटक CM से स्थानीय BJP विधायक की मांग- कोरोना के चलते किसी भी हिंदू पर्व पर ना लगे बंदिशें    ||   तेजप्रताप की नाराजगी के सवाल पर बोले तेजस्वी- राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर ही देंगे जवाब    ||   अंडमान एंड निकोबार के पोर्ट ब्लेयर में महसूस किए गए 4.3 तीव्रता के भूकंप     ||

जी एंटरटेनमेंट-सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया के बीच मर्जर का ऐलान , पुनीत गोयंका बने रहेंगे नई कंपनी के MD

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जी एंटरटेनमेंट-सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया के बीच मर्जर का ऐलान , पुनीत गोयंका बने रहेंगे नई कंपनी के MD

नई दिल्ली । आखिरकार जी एंटरटेंमेंट और सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया के बीच मर्जर  ( Zeel-Sony Merger ) का ऐलान हो गया है । खबर सामने आई है कि ZEEL के बोर्ड ने भी इस मर्जर को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है । वहीं पुनीत गोयंका इस मर्जर के बाद बनने वाली नई कंपनी के MD और CEO बने रहेंगे । ऐलान हुआ है कि इस मर्जर के बाद Sony नई कंपनी में 11,605.94 करोड़ रुपये का निवेश करेगी । दोनों कंपनी के टीवी कारोबार, डिजिटल एसेट्स, प्रोडक्शन ऑपरेशंस और प्रोग्राम लाइब्रेरी को भी मर्ज किया जाएगा ।

साफ कर दिया गया है कि दोनों कंपनियों के मर्जर के बाद जी एंटरटेनमेंट के पास 47.07 फीसदी तो सोनी पिक्चर्स के पास 52.93 फीसदी हिस्सेदारी रहेगी । जल्द नई कंपनी को लिस्ट किया जाएगा । वहीं बोर्ड में ज्यादातर डायरेक्टर को नॉमिनेट करने का अधिकार सोनी ग्रुप के पास होगा । 


बता दें कि  Zeel-Sony Merger के साथ ही एक्सक्लूसिव नॉन-बाइंडिंग टर्म शीट का करार हुआ है । बोर्ड ने कहा है कि मर्जर से शेयरहोल्डर और हिस्सेदारों के हितों का कोई नुकसान नहीं होगा । वहीं सामने आया है कि बोर्ड ने कंपनी के वित्तीय मामलों के अलावा भविष्य में होने वाले विस्तार योजना पर भी बात की है । 

साफ कर दिया गया है कि नई कंपनी में हुए निवेश की रकम का इस्तेमाल ग्रोथ के लिए किया जाएगा । साथ ही 90 दिनों के भीतर दोनों पक्ष ड्यू डिलिजेंस का काम करेंगे । - मौजूदा स्थिति में ZEEL के शेयरहोल्डर्स का हिस्सा 61.25% है , जबकि 157.5 Cr डॉलर के निवेश के बाद हिस्सेदारी में बदलाव आएगा । इसके बाद ZEEL के निवेशकों का हिस्सा करीब 47.07% होगा ।  

Todays Beets: